आज की लड़कियां ‘तू नहीं, तो कोई और ही सही’ की तर्ज पर ले रहीं हैं सेक्स का आनंद

फरवरी का महीना यानी प्यार व रोमांस का महीना। इस महीने में हवाओं में प्यार की खुशबू होती है। हर धड़कता दिल इस महीने आने वाले वैलेंटाइन डे का बेसब्री से इंतजार करता है। प्यार का इजहार करने वाले इस स्पैशल दिन पर अपनी मुहब्बत का इजहार करते हैं, अपने चाहने वाले तक अपनी फीलिंग्स पहुंचाते हैं, लेकिन अगर आप का ब्रेकअप हो गया है और आप दुखी हैं और सोच रहे हैं कि आप को प्यार का यह खास दिन अकेले ही बिताना पड़ेगा तो भूल जाइए अपने बे्रकअप के गम को और ‘तू नहीं, तो कोई और सही’ की तर्ज पर प्यार की राह पर आगे बढि़ए और नए वैलेंटाइन की तलाश शुरू कर दीजिए। आप की यह तलाश कालेज, आसपड़ोस व औफिस में पूरी हो सकती है।

जीवन चलने, आगे बढ़ते रहने का नाम

माना कि प्यार की खुमारी में डूबे इंसान का जब दिल टूटता है तो उस के दर्द से उबर पाना आसान नहीं होता, लेकिन बे्रकअप से जिंदगी की चलती गाड़ी में बे्रक क्यों लगाई जाए। आज की भागतीदौड़ती जिंदगी में जहां सबकुछ इंस्टैंट और फास्ट है वहां रिश्तों में असफलता या नाकामी अब आम बात हो गई है।

एक बौयफ्रैंड या गर्लफ्रैंड से बे्रकअप हो जाने पर यह न समझें कि दुनिया खत्म हो गई है। माना कि आप की गुडमौर्निंग और गुडनाइट उसी के मैसेज से होती थी। दिन भर आप एकदूसरे से चैटिंग करते थे लेकिन किसी वजह से अगर आप एकदूसरे से दूर हो गए हैं तो जिंदगी की गाड़ी को बिना रोके आगे बढि़ए। बे्रकअप के ट्रामा से बाहर निकलें। चाहे रो कर, चाहे उस से नफरत कर के उसे अपनी जिंदगी से अलग करें। अपने अतीत को भूल कर आगे बढ़ें। बारबार उस के मैसेज पढ़ कर खुद को दुखी न करें। जिंदगी आगे बढ़ने का नाम है। एक बार प्यार में धोखा खाने का अर्थ यह बिलकुल नहीं है कि आप दूसरा औप्शन सर्च न करें। एक बौयफ्रैंड या गर्लफ्रैंड के आप की लाइफ से चले जाने का अर्थ यह बिलकुल नहीं है कि आप की दुनिया खत्म हो गई है और आप उस से अलग होने के गम में रोते रहें।

‘जब दिल ही टूट गया तो जी कर क्या करेंगे।।।’ जैसे गमगीन गीतों को सहारा बनाने के बजाय ‘गर तुम न हुए तो कोई नहीं, तू न सही कोई और सही’ का फंडा अपनाएं और एक क्लिक कर उसे ब्लौक करें और आगे बढ़ें।

अपने ऐक्स को बनाइए अपना पास्ट

आप किसी रिश्ते से इसलिए जुड़ते हैं कि वह रिश्ता आप के मुसकराने, हंसाने, खिलखिलाने की वजह बनेगा लेकिन जो रिश्ता आप को दुखी करे, मूड औफ करे, उस से बाहर निकलना ही बेहतर है। इसलिए पुराने को भूल कर नए की तलाश कीजिए। समझें कि वह आप के लायक नहीं था। खुद में कोई अपराध भाव न पालें। उस रिश्ते से अलग होते समय उसे कोई सफाई न दें, क्योंकि जिस रिश्ते से आप को खुशी और सम्मान न मिले उस से दूरी ही भली। उस से जुड़ी सभी यादों जैसे उस के मैसेजेस व गिफ्ट्स को अपनी जिंदगी से बाहर कर दें। किसी ने कहा है, ‘‘जहां से स्पीड ब्रेकर टूटा हो वहां से गाड़ी निकालने का टैलेंट जरूर होता है।’’ आप अपने भीतर वही टैलेंट लाइए। यही सोचिए कि जो होता है अच्छे के लिए होता है। खुद को बैस्ट मानें और सोचें कि आप की जिंदगी में उस से बेहतर कोई और होगा। किसी एक के चले जाने को अपना लौस नहीं, प्रोफैट मानें और मूव औन करें।

ALSO READ: जानिए, गर्भावस्था में एंटीबायोटिक्स लेना सुरक्षित है या नहीं!

जिंदगी न मिलेगी दोबारा

अगर आप ने फिल्म ‘जिंदगी न मिलेगी दोबारा’ देखी हो तो गर्लफ्रैंड या बौयफ्रैंड से बे्रकअप के बाद इस फिल्म के मैसेज को अपनी जिंदगी का प्रिंसीपल बनाएं। फिल्म मैसेज देती है कि जिंदगी में किसी बात का अफसोस किए बिना आगे बढ़ें। आज को खुशहाल बनाएं। बीती बातों को भूल जाएं। जिंदगी एक बार मिलती है उसे गर्लफ्रैंड या बौयफ्रैंड को छोड़ देने मात्र से खत्म न समझें। नई शुरुआत करें।

बैचलर पार्टी, रोड ट्रिप, एडवैंचर ट्रिप, मौजमस्ती, सजनासंवरना, खानापीना इन सब को जिंदगी का हिस्सा बनाएं। खुद को बैस्ट मानें, बे्रकअप के लिए खुद को जिम्मेदार न मानें। अपने भीतर कौन्फिडैंस लाएं। अपना मेकओवर करें, हेयरस्टाइल चेंज कराएं, नईनई ड्रैसेज ट्राई करें और नए दोस्त बनाएं। जिंदगी की लिस्ट की हर विश को पूरा करें। जिंदगी में सब के पास सीमित समय होता है इसलिए जिंदगी को कीमती मान कर आगे बढ़ें। रिश्तों और जिंदगी के रास्तों के बीच एक अजीब रिश्ता होता है, कभी रिश्तों से रास्ते मिल जाते हैं तो कभी रास्तों में रिश्ते बन जाते हैं। इसलिए बिना रुके आगे बढ़ते रहिए और तू नहीं, तो कोई और सही का फंडा लाइफ में अपनाइए।

एक छोड़ो हजार मिलेंगे

22 वर्षीय प्रज्ञा नोएडा में एक प्राइवेट कंपनी में कार्यरत है। 6 महीने पहले उस का अपने बौयफ्रैंड से बे्रकअप हो गया था। शुरूशुरू में तो उसे लगा जैसे उस की जिंदगी बेमानी हो गई है। उसे सोतेजागते, उठतेबैठते हर समय अपने बौयफ्रैंड की ही याद सताती रहती, वह उस के मैसेजेस, उस के द्वारा दिए गए गिफ्ट्स को देख कर रोती रहती। लेकिन उस की एक दोस्त ने उसे नए दोस्त बनाने की सलाह दी। जिंदगी में आगे बढ़ने का सजेशन काम कर गया। प्रज्ञा ने अपने दिल को समझाया और खुद से कहा कि वह मेरे लायक ही नहीं था। अब उस ने फेसबुक पर काफी नए दोस्त बनाए।

आज प्रज्ञा अपने ऐक्स बौयफ्रैंड के ब्रेकअप के दुख से उबर कर अपनी लाइफ में मस्त है। आज वह कहती है, ‘‘बौयफ्रैंड का क्या है एक छोड़ो हजार मिलेंगे। बस, आप में कौन्फिडैंस होना चाहिए।’’ प्रज्ञा ने आज अपनी लाइफ का फंडा ‘तू नहीं तो कोई और सही’ बना लिया है और वह बहुत खुश है।

एक ही रिश्ते को फैवीकोल का मजबूत जोड़ न समझें

किसी भी रिश्ते के साथ इमोशनली इतने अटैच न हों कि जब आप को उस से दूर जाना पड़े तो आप को लगे कि आप की जिंदगी बेकार हो गई है और अब आप किसी काम के नहीं रहे। जिंदगी में अब कुछ नहीं बचा है। जिंदगी में दोस्त मौजमस्ती, फन के लिए बनाइए और एक नहीं कई दोस्त बनाइए ताकि जब कभी किसी एक से धोखा मिले तो आप डिप्रैस न हो जाएं। सोचें जिंदगी एक सफर है जहां लोग मिलते हैं और बिछुड़ते हैं और बिछुड़ने के बाद नए लोग भीमिलते हैं। पुराने रिश्ते से दूरी बनाने के बाद खुद को आजाद समझें और पहले से बेहतर दोस्त चुनें। आप का पिछला अनुभव आप को समझ भी देता जाएगा। अपने पुराने प्रेमी को दर्शाएं कि आप उस से बेहतर पार्टनर चुन सकते हैं। उसे दिखाएं कि आप पहले से ज्यादा खुश हैं। अपने नए पार्टनर के साथ वैलेंटाइन डे सैलिबे्रशन की पिक्चर्स फेसबुक पर अपलोड करें।

You may also Like:

हस्तमैथुन के 10 फायदे – Masturbation Benefits

क्या करें यदि बॉयफ्रेंड धोखा दे? What to do if boyfriend cheats?

क्या है तकिया युद्ध (Pillow Fighting)?

 

Hindi Desk
Author: Hindi Desk

Posted Under Uncategorized