एसआई अयोध्या प्रसाद मिश्र पर बीएसएफ जवान को फर्जी मुकदमों में फंसाने व मारपीट करने का लगा आरोप

पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें..

दरोगा ने बीएसएफ जवान पर ढाया कहर,मारपीट के साथ विभिन्न धाराओं में दर्ज कराया मुकदमा
गोंडा – जहां एक तरफ सीमा पर जवान रात दिन जान हथेली पर रखकर देश की सीमाओं के साथ हमारी सुरक्षा सुनिश्चित करते हैं वही पुलिस द्वारा आए दिन उनके उत्पीड़न की बाबत मामले आते रहते हैं।
ताजा मामले में जनपद के इटियाथोक थाना कोतवाली के ग्राम पंचायत गोसेंद्र में रहने वाले राजस्थान सीमा पर तैनात छुट्टी पर घर आये बीएसएफ के जवान को अपनी आबादी की भूमि से दबंगों द्वारा अवैध कब्जा हटाना भारी पड़ गया। पुलिस की मदद से दबंगों ने बीएसएफ जवान उसके बुजुर्ग पिता के विरुद्ध गंभीर धाराओं में मुकदमा पंजीकृत करवा दिया। तथा थाने के एक दरोगा द्वारा थाने पर बुलाकर बीएसएफ जवान के साथ अभद्रता करने के साथ-साथ उसकी पिटाई भी की।
बीएसएफ जवान  रामचंद्र पुत्र बुधराम ने पुलिस अधीक्षक को दिये अपने तहरीर में इटियाथोक थाने के दरोगा अयोध्या प्रसाद पर गंभीर आरोप लगाते हुये कहा कि,05/10/2020 को छुट्टी पर अपने घर आया था।जहाँ उसे परिजनों से पता चला कि,न्यायालय में विचाराधीन उसकी आबादी की भूमि पर विपक्षियों द्वारा जबरन कब्जा कर उस पर छप्पर आदि रख लिया था।जिस पर उसने वह छप्पर हटाना चाहा तो विपक्षियों द्वारा साजिशन उसका वीडियो बना कर पुलिस से शिकायत कर दी।इस मामले मे थाने के दरोगा अयोध्या मिश्रा ने साजिशन चोरी समेत अन्य गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर उससे रूपये की मांग की गई जिसे न दे पाने पर उसे थाने लाकर दरोगा द्वारा उसके साथ अभद्रता करने के साथ उसकी पिटाई की।
दरोगा पर आरोप रूपये दो नहीं तो नौकरी से निकलवा दूंगा
पीड़ित बीएसएफ जवान रामचंद्र ने दरोगा पर गंभीर आरोप लगाते हुये कहा कि,दरोगा अयोध्या मिश्रा ने पहले दबंगो के संग साजिशन मुकदमा लिखाया फिर उससे पैसे की मांग करने लगे जिसे न देने पर जेल भेजने के साथ नौकरी से निकलवाने की धमकी भी दिया।
बहरहाल पुलिस अधीक्षक शैलेश कुमार पाण्डेय ने कहा मामले की जांच करायेंगे व दोषी पाये जाने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जायेगी। यह तो एक बानगी है एसआई अयोध्या प्रसाद मिश्र ऐसे मामलों में माहिर हैं क्षेत्र में पीड़ित व्यक्तियों के साथ धन उगाही कर रहा उन पर जबरन मुकदमा लिखना वह विवेचना वाले मामले में जमकर धन उगाही करना उनकी आदत में शुमार है ऐसे दरोगा से पूरा क्षेत्र प्रताड़ित है नए प्रभारी निरीक्षक के आने पर अपना प्रभाव जमाने के लिए त्वरित मुकदमा लिख कर एक मिसाल कायम करने का प्रयास किया लेकिन यहां उनका दांव उल्टा पड़ गया अब प्रभाव नहीं अब उसके दुष्परिणाम झेलने होंगे जिस जमीन को लेकर दरोगा अयोध्या प्रसाद मिश्र ने बीएसएफ जवान व उसके परिजनों पर मुकदमा दर्ज कराया है उस जमीन पर कमीशन रिपोर्ट में साफ स्पष्ट रुप से लिखा है कि वहां पर कोई टीन टप्पर नहीं है तो फिर कमिशन रिपोर्ट का विपक्षी दलों ने साफ सुथरा उल्लंघन किया है उन पर मुकदमा दर्ज न कर उल्टे पीड़ित पर मुकदमा दर्ज कर दिया पीड़ित प्रार्थना पत्र लेकर आया उसे या आश्वासन देकर बैठा रख और उधर उसी के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कर दिया यह है इटियाथोक की पुलिस जहां एक छोटा सा मुकदमा दर्ज कराने के लिए एड़ी से चोटी जोर लगाना पड़ता है वही मात्र कहासुनी पर इतना बड़ा मुकदमा दर्ज करना पूरी तरीके से समझ से परे है ऐसे मामले की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए जांच होने पर विपक्षी और एसआई अयोध्या प्रसाद मिश्र के बीच कनेक्शन का साफ पता चलेगा क्षेत्र में तरह-तरह की चर्चाएं व्याप्त है लोग यहां तक कह रहे हैं जो जवान सीमा पर हमारी सुरक्षा करते हैं उसके साथ सिविल पुलिस इस तरीके से पेश आती है बिना सोचे समझे मुकदमा दर्ज कर उसे प्रताड़ित करना सिविल पुलिस के निरंकुश होने का साफ संकेत है इससे क्षेत्र में जन आक्रोश व्याप्त है क्षेत्रवासियों ने शासन व प्रशासन से इसकी निष्पक्ष जांच कराकर ऐसे दरोगा पर कारवाही सुनिश्चित करनी चाहिए तभी जवानों के प्रति हमारी हमारी जवाबदेही तय होगी।

Pawan kumar Dwivedi

एडिटर: Pawan kumar Dwivedi

Next Post

किसान मजदूर सेना के पदाधिकारियों ने नवागत थाना प्रभारी को प्रशस्ति पत्र देकर किया स्वागत

Fri Oct 16 , 2020
पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें.. इटियाथोक : गोंडा / अपने कर्तव्यों के प्रति निष्ठावान नवागत थानाध्यक्ष संजय कुमार दूबे द्वारा किये गए उत्कृष्ठ कार्यों से प्रभावित किसान मजदूर सेना इकाई इटियाथोक के पदाधिकारियों […]
error: Content is protected !!