कीवी फल हमारे शरीर के लिए कितना उपयोगी है ?

पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें..

 कीवी फल क्या होता है और ये कहां पाया जाता है।

कीवी फल बाहर से भूरा और अंदर से मुलायम व हरे रंग का होता है। इसके अंदर काले रंग के छोटे-छोटे बीज होते हैं, जिन्हें खाया जाता है। इसका स्वाद खाने में मीठा होता है। यह फल बाजार में आसानी से मिल जाता है। कम दाम में पोषण पाने का यह काफी अच्छा तरीका है। अगर बात करें कि कीवी फ्रूट कहां पाया जाता है, तो यह भारत, चीन, जापान और दक्षिण-पूर्व साइबेरिया में अधिक मात्रा में पाया जाता है! इसे चाइनीज गूजबेरी के नाम से भी पहचाना जाता है। इसका वैज्ञानिक नाम एक्टिनिडिया डेलिसिओसा (Actinidia deliciosa) है।

कीवी फल कैसा होता है, यह जानने के बाद अब कीवी लाभ के लिए इसके औषधीय गुणों पर चर्चा करते हैं।

कीवी के औषधीय गुण:-कीवी के औषधीय गुण की बात की जाए, तो इसमें एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटी-हाइपरटेंसिव (anti-hypertensive-रक्तचाप नियंत्रित करना), एंटीथ्रोम्बोटिक (antithrombotic-खून का थक्का न जमने देना) वाले गुण मौजूद हैं। साथ ही इसमें विटामिन-सी, पोटैशियम व कैल्शियम के साथ-साथ फाइबर की भी अच्छी मात्रा होती है।

स्वास्थ्य के लिए कीवी फल खाने के फायदे क्या-क्या हो सकते हैं।

1.ह्रदय के लिए कीवी के फायदे
यह हृदय के लिए लाभकारी होता है! इस फल का 28 दिन तक सेवन किया जाए, तो यह प्लेटलेट हाइपरएक्टिविटी, प्लाज्मा लिपिड व रक्तचाप को नियंत्रित करता है। आसान शब्दों में समझा जाए, तो कीवी में कार्डिओ प्रोटेक्टिव गुण होते हैं, जिससे यह हृदय संबंधी रोग से बचा सकता है!

2. पाचन और कब्जे के लिए कीवी के फायदे
पाचन और कब्ज जैसी समस्याओं के लिए चीजों के काफी सारे फायदे हैं! हल्की फुल्की कब्ज की समस्या में कीवी फ्रूट को इस्तेमाल किया जा सकता है इसमें लैक्सेटिव गुण होता है पेट को साफ करने में मदद कर सकता है!

3.कीवी खाने से वजन को संतुलित किया जाता सकता है। स्वस्थ रहने के लिए और वजन को संतुलित रखने के लिए कीवी फल का इस्तेमाल कियता जा सकता है। वेट मैनेजमेंट स्ट्रेटजी के तहत कीवी फल को अपनी डाइट में शामिल किया जा सकता है ! इससे वजन बढ़ने का जोखिम भी नहीं हो सकता है, क्योंकि कीवी फ्रूट में कैलोरी कम और फाइबर ज्यादा होता है।

4. डायबिटीज की बीमारी में कीवी फल के फायदे
कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाले खाद्य पदार्थ ब्लड शुगर और इंसुलिन की मात्रा को मेंटेन कर मधुमेह में वजन को संतुलित रखने में सहायता करता है। किवीफ्रूट विटामिन-सी का भी अच्छा स्रोत है। वहीं, विटामिन-सी का संबंध इंसुलिन की कमी और ब्लड ग्लूकोज नियंत्रण में सुधार के लिए सहायक माना गया है। इसलिए, टाइप 2 डायबिटीज और मधुमेह के जोखिम वाले व्यक्ति के लिए कीवी फल उत्तम विकल्प साबित हो सकता है।

5. इम्यूनिटी के लिए कीवी फल के फायदे
कीवी फ्रूट रोग प्रतिरोधक क्षमता के लिए लाभकारी हो सकता है। कीवी लाभ में बेहतर इम्यूनिटी भी शामिल है।कीवी फल में विटामिन-सी, कैरोटिनॉइड, पॉलीफेनोल और फाइबर पाए जाते हैं। ये तत्व प्रतिरक्षा प्रणाली को बेहतर करने में मदद करते हैं। इस कारण ऐसा कहा जा सकता है कि कीवी का सेवन इम्यून सिस्टम के साथ-साथ कई तरह के रोगों को दूर रखने में भी सहायता करता है।

6. ब्लड प्रेशर के लिए कीवी फ्रूट
विशेषज्ञों के अनुसार, कीवी फ्रूट में बायोएक्टिव पदार्थ होते हैं, जो रक्तचाप कम करने का काम करता हैं। साथ ही एंडोथेलियल फंक्शन (दिल से संबंधित क्रिया) को अच्छा करने का काम करता हैं। इस बात की पुष्टि महिला और पुरुषों पर किए गए एक शोध से हुई है। 8 हफ्ते तक लगातार प्रतिदिन 3 कीवी खाने वाले व्यक्ति के रक्तचाप में कमी पाई गई। ऐसे में यह माना जा सकता है कि कीवी का सेवन उच्च रक्तचाप की समस्या में सुधार कर सकता है। इसके अलावा, कीवी में एंटी-हाइपरटेंसिव गुण भी होता है!

7. अच्छी नींद के लिए कीवी फ्रूट
कीवी खाने के फायदे की बात हो रही हो और नींद का जिक्र न हो, ऐसा तो हो ही नहीं सकता।एक मेडिकल रिसर्च में सोने के एक घंटे पहले कीवी फ्रूट का सेवन अच्छी नींद में लेने में मदद करता है । कीवीफ्रूट की उच्च एंटीऑक्सीडेंट क्षमता भी ऑक्सीडेटिव क्षति को कम कर सकती है और परिणामस्वरूप नींद की गुणवत्ता में सुधार कर सकती है। इसके अलावा, किवीफ्रूट उन कुछ फलों में से एक है, जिसमें सेरोटोनिन (serotonin- एक प्रकार का केमिकल) होता है, जो अच्छी नींद के लिए मददगार हो सकता है!

8. गर्भावस्था में कीवी फ्रूट
यह गर्भावस्था में भी लाभकारी होता है। इसमें विटामिन-सी और फोलेट प्रचुर मात्रा में होता है! वहीं, गर्भवती महिला के लिए फोलेट जरूरी होता है। जो कीवी में होता है !गर्भावस्था के दौरान फोलेट का सेवन न सिर्फ बच्चे में न्यूरल ट्यूब विकार (मस्तिष्क और रीढ़ की हड्डी की बीमारी) के जोखिम को कम कर सकता है, बल्कि गर्भपात के खतरे को भी कम कर सकता है। इतना ही नहीं, इसमें मौजूद विटामिन सी शरीर में आयरन के अवशोषण में मदद कर एनीमिया के खतरे को भी कम कर सकता है। हां, अगर किसी को फूड एलर्जी है, तो वो कीवी के सेवन से पहले डॉक्टरी सलाह जरूर लें।

9. दमा (अस्थमा) के लिए कीवी के फायदे
विटामिन-सी युक्त खाद्य पदार्थ के सेवन से श्वास प्रणाली को फायदा पहुंचा सकता है, जिससे दमा (अस्थमा) की समस्या से काफी हद तक राहत मिल सकती है। प्रतिदिन 1 ग्राम विटामिन-सी के सप्लीमेंट के सेवन से दमा के अटैक का जोखिम कम होता है ऐसा एक रिसर्च से पता चला है और कीवी में कुछ मात्रा विटामिन-सी की होती है! ऐसे में कीवी का सेवन करने से दमा के कारण होने वाली खांसी की समस्या कुछ ठीक हो सकती है।

10. कीवी फ्रूट में एंटीऑक्सीडेंट गुण
कीवी फल में एंटीऑक्सीडेंट गुण शामिल होते हैं। इसमें मौजूद विटामिन-सी और ई के एंटीऑक्सीडेंट गुण फ्री रेडिकल्स को खत्म करने में सहायक हो सकते हैं। यह ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस के कारण होने वाली क्षति से भी शरीर को बचा सकते हैं।

 

कीवी को कौन से तत्व गुणकारी बनाते हैं!

कीवी में भरपूर मात्रा में पोटेशियम पाया जाता है। और यह दावा भी गलत नहीं की केले में भी उतना ही पोटेशियम होता है। आज हम खाने में कैलोरी को गिनते हैं इस लिहाज से कीवी फिटनेस फ्रिक की नजर में पहली पसंद है। इसमें सबसे अधिक मात्रा में पोषण पाया जाता है !
केले के अनुपात में कीवी में कैलोरी की मात्रा आधी है। कम कैलोरी होने की वजह से दिल की बीमारी में भी लाभदायक है। यह रक्तचाप को औसत बनाए रखता है। कीवी में अधिक मात्रा में विटामिन सी भी पाया जाता है। यदि डॉक्टर ने आपको नियमित रूप से विटामिन सी का प्रयोग करने को कहा है तो प्रतिदिन एक पीस कीवी का सेवन करने से बहुत फायदा मिलेगा । संतरे की तुलना में इसमें विटामिन सी की मात्रा दोगुनी है।

इसमें विटामिन सी बहुत ही अधिक मात्रा में मौजूद होता है या पोषक तत्व शरीर के इंजन पावर में सुधार करने और ठंडक खिलाने में हल्की फुल्की समस्याओं से बचाव करने में बहुत ही सहायता करता है! इसमें मौजूद विटामिन कोशिकाओं को ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस के प्रभाव से बचाव कर सकता है !इसमें मौजूद कॉलेज के कारण यह भगवती महिलाओं के लिए भी काफी लाभकारी साबित है के अलावा इसमें पोटेशियम की रक्तचाप को नियंत्रित रखने में सहायक हो सकता है कि भी डायबिटीज की समस्या और हृदय रोगों के लिए भी लाभकारी साबित है! इस प्रकार की ऐसी आम स्वास्थ्य समस्याओं मैं उनमें कीवी की भूमिका बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है!

also visit :

100 % gora rang kaise paye?

कोमल (मुलायम) एड़ी कैसे पाए ! १०० % घरेलु नुसखे से करे इलाज !

क्या आप अपने नाख़ून बढ़ाना चाहते हो ?

दीप माला गुप्ता

एडिटर: दीप माला गुप्ता

दीप माला गुप्ता रिपोर्टर, एंकर एवं वीडियो न्यूज़ एडिटर हैं। इन्होने जर्नलिजम में डिप्लोमा किया है। आप hindustan18.com के लिए रिपोर्टिंग एवं स्क्रिप्ट लिखने का कार्य करती हैं।

Next Post

ऐसे चमत्कारी उपाय जो चेहरे के काले दाग-धब्बे को दूर करे !

Mon Jun 14 , 2021
पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें.. चेहरे के दाग धब्बे आसानी से कैसे दूर करे ! आजकल के दौड़ती भागती जिंदगी में कई बार हम अपना ख्याल रखना भूल जाते हैं अपनी त्वचा को […]
error: Content is protected !!