गगहा क्षेत्र में ईंट भट्टे पर हुई डकैती की घटना में शामिल दो अभियुक्तों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें..

इनके पास से तमंचा कारतूस व लूट का सामान व 20670 रुपये नगदी भी पुलिस ने किया बरामद

गोरखपुर । गगहा क्षेत्र के ईट भट्ठा पर 10 नवंबर की रात में डकैतों ने धावा बोलकर ईट भट्टे पर रहने वाले मजदूरों के परिवार को बंधक बनाकर लूटपाट व छेड़खानी की घटना हुई थी । पुलिस ने इस संबंध में मुकदमा पंजीकृत कर आरोपी की तलाश की जा रही थी । आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए एसएसपी जोगेन्दर कुमार ने क्राइम ब्रांच व एसटीएफ को भी लगाया गया था पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर जाखिन माता मंदिर के पास से दो डकैतों को गिरफ्तार किया है ।इनके पास से घटना में प्रयुक्त तमंचा कारतूस, सफेद धातु की पायल नाक की कील, टेम्पू मोबाइल फोन व 20670 रुपए नगदी भी बरामद किया गया है ।घटना का खुलासा एसपी साउथ विपुल कुमार श्रीवास्तव व एस पी क्राइम अशोक कुमार वर्मा ने किया।

श्री श्रीवास्तव ने बताया कि पकड़े गए बदमाशों ने पूछताछ के दौरान बताया कि घटना से 2 दिन पहले इन लोगों ने रेकी की थी और 10 नवंबर की रात को अपने साथियों के साथ ईट भट्ठा पर धावा बोलकर डकैती की घटना को अंजाम दिया था पकड़े गए आरोपियों ने अपना नाम महेंद्र यादव पुत्र स्वर्गीय रामनक्षत्र यादव निवासी रसूलपुर थाना झगहा दूसरा सुनील यादव पुत्र गुलाब यादव निवासी बैरवा थाना झगहा बताया है इससे पहले भी वर्ष 2017 में ईट भट्टा पर घटना को अंजाम दे चुके। जो गैंग बनाकर घटना को अंजाम दे रहे थे। घटना के खुलासा में क्षेत्राधिकारी गोरखनाथ/ क्राइम रत्नेश कुमार सिंह भी उपस्थित रहे।
गिरफ्तार करने वाली टीम में क्राइम ब्रांच प्रभारी सुनील कुमार शुक्ला, गगहा थाना प्रभारी राम प्रकाश सिंह, क्राइम ब्रांच उप निरीक्षक सादिक परवेज़ उपनिरीक्षक चंद्रभान सिंह हेड कांस्टेबल राज मंगल सिंह शशिकांत राय योगेश सिंह राशिद अख्तर खान सनातन सिंह प्रदीप राय कुतुबुद्दीन धर्मेंद्र नाथ तिवारी शिवानंद उपाध्याय इंद्रेश कुमार वर्मा अरुण कुमार यादव अरुण राय गणेश शंकर पांडे शामिल रहे।

मुकेश कुमार

एडिटर: मुकेश कुमार

Hindustan18-हिंदी में सम्पादक हैं। किसान मजदूर सेना (किमसे) में राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी के पद पर तैनात हैं।

Next Post

सुशील मोदी नहीं बनेंगे बिहार के उप-मुख्यमंत्री, नीतीश कुमार होंगे मुख्यमंत्री, भाजपा की क्या है मजबूरी?

Sun Nov 15 , 2020
पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें.. एनडीए में BJP के पास सबसे ज्यादा 74 विधायक हैं। जबकि जदयू के 43 विधायक हैं। वहीं सहयोगी दल हम और वीआईपी के पास 4-4 विधायक हैं। पटना- […]
error: Content is protected !!