गोण्डा: आलाधिकारी छोड़ें धृतराष्ट्र का रोल, पीड़ित किसान को तुरंत मिले न्याय – किमसे मण्डल प्रभारी

पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें..

दबंग प्रधान ने किसान की जमीन खोदकर बना दिया तालाब
◆ न्याय के लिए उच्चाधिकारियों का दरवाजा खटखटा रहे किसान सतीश
◆ किसान मजदूर सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष जयप्रकाश दूबे जेपीभैया ने जिला इकाई को दिया निर्देश, किसी भी कीमत पर किसान को मिले न्याय

मुजेहना- गोण्डा – विकास खण्ड मुजेहना के ग्राम परसादिक पुरवा के रहने वाले किसान की जमीन को अवैध तरीके से खोदकर सार्वजनिक तालाब बनवाकर प्रधान ने पैसा निकाल लिया है।

किसान सतीश के आम के बाग की जमीन को खोदकर उसमें तालाब बना दिया गया है। पीड़ित किसान न्याय के लिए दर-दर भटक रहा है लेकिन उसकी सुनवाई नहीं हो रही है। किसान सतीश कुमार पुत्र जनार्दन प्रसाद तिवारी ने बताया कि उसके निजी गाटा संख्या 506 में स्थित आम के बाग़ की 5 बिसवा जमीन खोद कर तालाब बना दिया गया है, जिसकी पुष्टि चकबन्दी लेखपाल व राजस्व लेखपाल द्वारा पैमाइश के बाद की गयी थी।

सार्वजनिक तालाब का मूल स्वरुप कागजात महज 2 बीघा 4 बिसवा ही है, लेकिन ग्राम प्रधान द्वारा तालाब का सुंदरीकरण कराये जाने के दौरान 4 बीघे में तालाब खुदवा दिया गया, जिसके कारण बाग़ में लगा इंडिया मार्का हैण्डपम्प भी तालाब एरिया में आ चुका है। इसके साथ ही बाग़ के तीन आम के पेड़ गिरने की कगार पर हैं। पीड़ित किसान द्वारा अब न्याय के लिए उच्चाधिकारियों का दरवाजा खटखटाया जा रहा है और मुआवजे के साथ कार्रवाई की मांग की जा रही है।

जब यह मामला किसान मजदूर सेना के संज्ञान में आया तो किसान मजदूर सेना के संस्थापक एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष जयप्रकाश दूबे उर्फ जेपीभैया ने  देवीपाटन मण्डल व गोण्डा इकाई के पदाधिकारियों को निर्देश जारी करते हुए कहा है कि यदि किसान द्वारा किया जा रहा दावा सत्य है तो संगठन किसी भी कीमत पर न्याय दिलवाने के लिए प्रयास करें।

वहीं किसान मजदूर सेना द्वारा इस मामले को गोण्डा जिलाधिकारी को अवगत करवाकर जाँच करवाने व उचित कार्यवाई किये जाने की मांग की है।

किमसे देवीपाटन मण्डल प्रभारी चंद्रशेखर तिवारी ‘आजाद’ ने कहा है कि किसानों व आमजनता के प्रति आलाधिकारी धृतराष्ट्र का रोल अदा कर रहे हैं जिसे अब छोड़ दें। उन्होंने कहा कि आलाधिकारियों से मिलकर मामले की जानकारी दी जाएगी व आवश्यकता पड़ने पर धरना प्रदर्शन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि संस्थापक महोदय ने जिलाधिकारी को मामले से अवगत करवा दिया है। हम सब न्याय दिलवाने के लिए किसान सतीश के साथ खड़े हैं।

विदित हो कि पीड़ित किसान सतीश तिवारी ने बताया कि कई बार इसकी शिकायत की गयी लेकिन अब तक अपेक्षित कार्रवाई नहीं की गयी है। इस संबंध में बीडीओ का कहना है कि मामला उनके संज्ञान में नहीं है, फिर भी वह इसे दिखाएंगे।

मुकेश कुमार

एडिटर: मुकेश कुमार

Hindustan18-हिंदी में सम्पादक हैं। किसान मजदूर सेना (किमसे) में राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी के पद पर तैनात हैं।

Next Post

गोण्डा: प्रशासन व स्थानीय पुलिस की सक्रियता से टला विवाद, खाली कराया गया रास्ते पर अवैध कब्जा

Fri Oct 30 , 2020
पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें.. गोण्डा- प्रशासन व पुलिस की सक्रियता की वजह से गोण्डा में बड़ा विवाद टल गया है। जिसपर लोग प्रशासन, राजस्व व पुलिस की सराहना कर रहे हैं। इटियाथोक […]
error: Content is protected !!