जगन्नाथीपुर इटियाथोक थाना क्षेत्र के हत्या के खुलासे पर पुलिस की कार्यशैली पर लगा सवालिया निशान

पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें..

जगन्नाथीपुर हत्या के खुलासे पर आम जनमानस में तीखी प्रतिक्रियाएं                                                  इटियाथोक गोंडा – इटियाथोक थाना अंतर्गत ग्राम पंचायत जगन्नाथीपुर में एक अधेड़ के हत्या के आरोप में एक आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल रवाना किया विदित है कि 14 अक्टूबर को अयोध्या प्रसाद उर्फ ननके उपाध्याय निवासी जगन्नाथीपुर अपने ही घर में संदिग्ध परिस्थितियों में मृत पाए गए थे इसकी जानकारी पुलिस को दी गई पुलिस ने शव का पीएम कराया पीएम रिपोर्ट में गला दबाकर हत्या की बात सामने आई पुलिस ने जांच पड़ताल मृतका की पत्नी के प्रार्थना पत्र पर अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर शुरू की पुलिस ने जांच में पाया कि उसके ही भतीजे विनय कुमार उर्फ छोटू उपाध्याय ने गला दबाकर हत्या की है पुलिस ने हत्या का मुकदमा दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर जेल रवाना कर दिया है जन चर्चा है कि मृतक की जमीन पर कुछ गांव के ही दबंग लोगों की निगाह थी उन्होंने उसे जबरन शराब पिलाकर उसकी पत्नी व बच्चों की गैर मौजूदगी में उसकी जमीन को लिखवा लिया और साजिशन उसकी हत्या की या करवाई उस पर पुलिस ने न तो कोई कार्यवाही की और विनय कुमार उर्फ छोटू को बलि का बकरा बना कर हत्या का आरोप मढ़कर उसे जेल रवाना कर दिया जबकि हत्यारे बेखौफ घूम रहे हैं इटियाथोक पुलिस ने हाल ही में तिररेमनोरमा स्थित राम जानकी मंदिर के प्रकरण का खुलासा कर अपनी पीठ थपथपा रही है लेकिन लोगों की माने तो पुलिस ने हत्या के खुलासे में धनबल बाहुबल को प्राथमिकता देते हुए एक प्यादे को गिरफ्तार किया है जबकि मुख्य आरोपियों को गिरफ्तार ना कर कहीं ना कहीं बड़ी भूल की है पुलिस के इस खुलासे पर तरह आम जनमानस में तरह की प्रतिक्रिया आ रही हैं दबी जुबान में लोग यहां तक कह रहे हैं कि पुलिस ने दबाव में और पैसे लेकर मुख्य आरोपियों को छोड़ दिया है ऐसे में या तो पुलिस ने कहीं ना कहीं गलती हुई है या जो लोग कह रहे हैं वह गलत कह रहे हैं यह एक उच्च स्तरीय जांच का विषय वस्तु है अब देखना दिलचस्प है कि उच्च अधिकारी इस मामले में जांच करते हैं या जो इटियाथोक पुलिस की जांच को ही सत्य मानते हैं यह तो आने वाला समय तय करेगा।

Pawan kumar Dwivedi

एडिटर: Pawan kumar Dwivedi

Next Post

सुशांत प्रकरण पर बगैर साक्ष्य घटिया रिपोर्टिंग करने वाले न्यूज चैनलों को माफीनामा प्रसारित करने के आदेश

Sun Oct 25 , 2020
पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें.. नई दिल्ली- एनबीएसए (न्यूज ब्राडकास्टिंग स्टैंडर्ड अथारिटी) की तरफ से आजतक, जी न्यूज, न्यूज24 और इंडिया टीवी को निर्देश दिया गया है कि वे सुशांत सिंह राजपूत प्रकरण […]
error: Content is protected !!