जालसाजी कर हथियाई गयी नौकरी कई वर्ष बीतने के बाद हुयी शिकायत !

जालसाजी कर हथियाई गयी नौकरी कई वर्ष बीतने के बाद हुयी शिकायत !

थानेपुर : गोंडा

जिनके पास योग्यता है वो दर बदर की ठोकरें खाते हैं, किन्तु जिन्हें जालसाजी का हुनर आता है वो सरकारी नौकरी हासिल कर सरकार और जनता को लूट कर अपनी जेब भरने में तब तक कामयाब रहते हैं जब तक कोई इनके जालसाजी का खुलासा करने के लिए जी तोड़ मेहनत न कर दे, उसके बाद प्रशासन सज्ञान में ले कर उक्त के द्वारा की गयी जालसाजी के विरुद्ध मुकदमा तो दर्ज कर लिया जाता है, किन्तु इस पर कोई कठोर दण्ड या फर्जी रूप से हालिस की गयी नौकरी से अर्जित सम्पत्ति जब्त करने की कार्यवाही कम ही होती देखी गयी !

ठीक ऐसा ही एक मामला धानेपुर क्षेत्र का प्रकाश में आया है।

बेलहरी गाँव निवासी राम आशीष पाण्डेय ने 1990 में फर्जी शैक्षिक प्रमाण पत्र बनवा कर जालसाजी करके संग्रह अमीन की नौकरी हासिल कर ली और निरन्तर 30 वर्ष तक नौकरी करने के बाद एक ग्रामीण द्वारा छानबीन के बाद शिकायत की गयी लेकिन अब तक प्रशासन की तरफ से कोई बड़ी कार्यवाही देखने की नही मिली है।

इस सम्बन्ध में शिकायत कर्ता ने बताया की आठवीं में फेल होने के बाद सेटिंग करके नौंवी में एडमीशन लिया गया उसके बाद दसवीं फेल हुए राम आशीष पाण्डेय ने फर्जीवाड़ा करके संग्रह अमीन की नौकरी हासिल की और तकरीबन तीस वर्ष तक नौकरी करते रहे, काफी छानबीन के बाद उनके मूल शैक्षिक अखिलेखों को संग्रहित करके जिलाधिकारी, मण्डलायुक्त सहित सभी उच्चाधिकारियों से इसकी शिकायत की गयी है !