पाकिस्तानी साजिश का पर्दाफाश: बीएसएफ को जम्मू के सांबा सेक्टर में 450 फीट लंबी सुरंग मिली

पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें..

नई दिल्ली– सीमा सुरक्षा बल ने बताया कि सुरंग 3 से 4 फीट चौड़ी है। जांच में सुरंग से 8 से 10 प्लास्टिक की बोरियां बरामद की गईं।
जम्मू के सांबा सेक्टर में सुरंग पाकिस्तानी पोस्ट से करीब 400 मीटर की दूरी पर बनाई गई थी, बीएसएफ ने कहा- इतनी बड़ी सुरंग पाकिस्तान रेंजर्स और दूसरी एजेंसियों की मंजूरी के बिना बन नहीं सकती।

 

बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स (बीएसएफ) ने जम्मू के सांबा सेक्टर में 450 फीट लंबी एक सुरंग का पता लगाया है। जम्मू बीएसएफ रेंज के आईजी एनएस जामवाल ने बताया कि इसे लेकर हमें एक इनपुट मिला था। सर्च ऑपरेशन के दौरान इसका पता चला। जीरो लाइन से भारत की तरफ यह 450 फीट (150 यार्ड) लंबी है। इसका मुंह रेत की बोरी से ढंंका गया था।

जामवाल ने बताया कि इस मामले में पाकिस्तानी अधिकारियों से शिकायत की जाएगी और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की जाएगी। उन्होंने बताया कि रेत से भरी बोरी की हालत देखने से लगता है कि ये सुरंग कुछ दिन पहले से ही बनाई जा रही थी। बॉर्डर एरिया में इतनी बड़ी सुरंग पाकिस्तान रेंजर्स और दूसरी एजेंसियों की मंजूरी के बिना बन नहीं सकती है।

3 से 4 फीट चौड़ी है सुरंग
बीएसएफ ने बताया कि सुरंग 3 से 4 फीट चौड़ी है। अफसरों ने बताया कि जांच में सुरंग से 8 से 10 प्लास्टिक की बोरियां बरामद की गईं। इन पर पाकिस्तान की मार्किंग है। कराची और शकरगढ़ लिखा है। बैग पर बनाने की तारीख और एक्सपायरी डेट से पता चला है कि इन्हें हाल में बनाया गया था। उन्होंने बताया कि सुरंग पाकिस्तानी पोस्ट से करीब 400 मीटर की दूरी पर है।

इस कामयाबी के बाद बीएसएफ ने पूरे इलाके में सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया है। ऐसी आशंका है कि ऐसी सुरंग सीमा पर दूसरी जगह भी बनाई गई होंगी। बीएसएफ ने बताया कि इन सुरंगों से घुसपैठियों को भारत में एंट्री करा दी जाती है। हथियार और ड्रग्स की तस्करी भी आसान होती है।

बीएसएफ को इस सुरंग के बारे में शुक्रवार को पता चला।
बीएसएफ का कहना है कि सुरंग बनाने में पाकिस्तानी रैंजर्स का हाथ।
बीएसएफ का कहना है कि सुरंग बनाने में पाकिस्तानी रैंजर्स का हाथ।
बीएसएफ ने बताया कि रेत से भरी बोरी की हालत देखने से लगता है कि ये सुरंग कुछ दिन पहले से ही बनाई जा रही थी।
बीएसएफ ने बताया कि रेत से भरी बोरी की हालत देखने से लगता है कि ये सुरंग कुछ दिन पहले से ही बनाई जा रही थी।
एक हफ्ते पहले ही 5 घुसपैठियों को ढेर किया था
पंजाब के तरन तारन में बीएसएफ ने एक हफ्ते भर पहले अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर पर 5 घुसपैठियों को मार गिराया था। इनके पास से एक एके-47 राइफल और 4 पिस्टल और 9.5 किलो हेरोइन मिली थी। मुठभेड़ तरन तारन जिले में ढल पोस्ट के पास हुई थी। इसके बाद से ही बीएसएफ अलर्ट मोड पर थी और बॉर्डर के आसपास सर्च ऑपरेशन चला रही थी।

मुकेश कुमार

एडिटर: मुकेश कुमार

Hindustan18-हिंदी में सम्पादक हैं। किसान मजदूर सेना (किमसे) में राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी के पद पर तैनात हैं।

Next Post

रुपईडीह - किसान मजदूर सेना के ब्लॉक अध्यक्ष ने खंड विकास अधिकारी से विकास कार्य में हुये घोटालों की जांच करवाने की मांग की

Sun Aug 30 , 2020
पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें.. पवन द्विवेदी रुपईडीह, गोण्डा– ग्राम पंचायत रायपुर ब्रह्मचारी बना भ्रष्टाचार का अड्डा किसान मजदूर सेना के ब्लॉक अध्यक्ष ने खंड विकास अधिकारी से जांच करा कर आवश्यक कार्यवाही […]
error: Content is protected !!