प्रणब मुखर्जी की मौत की खबर फैलाने वाले राजदीप सरदेसाई ने मांगी माफी, लोग करने लगे ट्रोल

पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें..

TRP के चक्कर मे मीडिया झूठी खबरें, नकली व बनावटी खबरें दिखाने में कोई कसर नही छोड़ती है। इसी क्रम में पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की मौत की झूठी खबर को लेकर वरिष्ठ पत्रकार राजदीप सरदेसाई ने माफी मांगी है। देसाई के इस ट्वीट के बाद सोशल मीडिया यूजर्स ने उन्हें ट्रोल कर दिया। दरअसल, गुरुवार को प्रणब मुखर्जी के निधन को लेकर ट्विटर पर फेक न्यूज चलने लगी।

फिर कुछ देर बाद प्रणब मुखर्जी के बेटे अभिजीत मुखर्जी ने इस खबर का खंडन किया और बताया कि उनके पिता अभी जिंदा हैं। अभिजीत ने मीडिया पर भी निशाना साधते हुए कहा कि ‘भारत में मीडिया फेक न्यूज की फैक्ट्री बन गई है।’ वरिष्ठ पत्रकार राजदीप सरदेसाई ने एक ट्वीट के जरिए प्रणब मुखर्जी के निधन झूठी खबर ट्वीट करने को लेकर माफी मांगी। उन्होंने कहा कि, मुझे एक बार कन्फर्म करना चाहिए था। मैं इस खबर के लिए माफी मांगता हूं।

मुखर्जी की पुत्री एंव कांग्रेस नेता शर्मिष्ठा मुखर्जी ने भी ट्वीट किया कि मेरे पिता के बारे में आ रही खबरें गलत हैं। मैं अनुरोध करती हूं, विशेषकर मीडिया से कि मुझे फोन न करे…. ताकि अस्पताल से कोई भी अपडेट जानकारी आने के समय मेरा फोन ‘बिजी’ न हो। मालूम हो कि पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की हालत में कोई सुधार नहीं है और वह अब भी गहरी बेहोशी में हैं।

सेना के रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल ने बृहस्पतिवार को एक बयान में यह जानकारी दी। मुखर्जी का इलाज कर रहे डॉक्टरों ने कहा कि उनकी हालत स्थिर है और वह अब भी जीवनरक्षक प्रणाली पर हैं। पूर्व राष्ट्रपति को 10 अगस्त को अस्पताल में भर्ती कराया गया था और उनकी मस्तिष्क की सर्जरी की गई थी।

इससे पहले कोविड-19 जांच में उनके संक्रमित होने की पुष्टि हुई थी। अस्पताल ने एक बयान में कहा, ‘‘ प्रणब मुखर्जी की हालत में आज सुबह भी कोई सुधार नहीं आया। वह गहरी बेहोशी में है और अब भी जीवनरक्षक प्रणाली पर हैं।’ पूर्व राष्ट्रपति की सेहत के लिए पश्चिम बंगाल में उकने गांव में महामृत्युंजय का पाठ भी कराया जा रहा है।

मुकेश कुमार

एडिटर: मुकेश कुमार

Hindustan18-हिंदी में सम्पादक हैं। किसान मजदूर सेना (किमसे) में राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी के पद पर तैनात हैं।

Next Post

गोंडा : खाकी की हनक से जातिवाद को बढ़ावा देने के खेल में ब्राह्मणों का उत्पीड़न !

Fri Aug 14 , 2020
पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें.. कर्नलगंज : गोनवा विगत दिनों ग्राम के सूबेदार पुरवा में दो पक्षों के विवाद को जनपद के अपर पुलिस अधीक्षक महेंद्र कुमार अथवा श्रम जीवी पत्रकार यूनियन के […]
error: Content is protected !!