योनि संक्रमण से पीड़ित हुई पत्नी तो पति ने दे दिया तलाक़

पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें..

अहमदाबाद– गुजरात के खेड़ा में तीन तलाक का हैरान करने वाला मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक, महिला को वेजाइनल इन्फेक्शन की शिकायत थी, इस वजह से उसके पति ने उसे तीन तलाक दे दिया। इसके बाद पीड़िता ने थाने में पति के खिलाफ तहरीर देकर इंसाफ मांगा है। महिला का पति एक प्राइवेट फर्म में काम करता है। आरोप है कि उसने महिला के परिवार के साथ बदसलूकी भी कि और उन्हें गालियां दीं।

मई में हुई थी शादी
थाने में दर्ज शिकायत के मुताबिक, आर्ट ग्रैजुएट शबाना सईद नाम की महिला की शादी सिद्दीकी अली सईद के साथ बीते साल 2 मई को हुई थी। शबाना ने अपने परिवार की मर्जी से शादी की थी। उन्होंने बताया कि शादी के बाद से ही छोटी-छोटी बातों पर सिद्दीकी उनके साथ बदसलूकी करता था। वह उन्हें अक्सर छोड़ देने की धमकी भी देता था। जुलाई में शबाना को एक मेडिकल जांच के बाद पता चला कि वह प्रेगनेंट हैं। डॉक्टर ने उन्हें साफ-सफाई का ठीक तरीके से ध्यान रखने को कहा था।

इसे भी देखें-

धर्म परिवर्तन और शादी पर फैसला: इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कहा- महज शादी करने के लिए किया गया धर्म परिवर्तन वैध नहीं

उद्धव ठाकरे ने दी चुनौती, अगर योगी आदित्यनाथ में हिम्मत है तो….

घर के कामों में बिजी रहने की वजह से शबाना इस पर ज्यादा ध्यान नहीं दे पाईं। इस वजह से वह वेजाइना में संक्रमण से पीड़ित हो गईं। उन्होंने अपने पति से कई बार डॉक्टर के पास ले चलने को कहा लेकिन वह इसे रोज टालते रहे। एक महीने बाद शबाना को खून की उल्टियां होने लगीं और तेज बुखार आ गया। उनके माता-पिता ने उन्हें अस्पताल में दाखिल कराया। इस दौरान डॉक्टर ने इन्फेक्शन के बारे में बताया। शबाना चार दिनों तक अस्पताल में भर्ती रहीं।

एफआईआर दर्ज

शबाना का पति उन्हें अस्पताल में छोड़कर घर चला गया और फिर उन्हें देखने के लिए भी नहीं आया। बाद में शबाना के माता-पिता उन्हें अपने घर ले गए। बीते 27 अक्टूबर को शबाना के पति सिद्दीकी उसके घर आए। उन्होंने शबाना और उसके परिवार को कथित तौर पर गालियां देनी शुरू कर दीं। साथ ही उनसे दूसरी शादी के लिए डेढ़ लाख रुपये की मांग की। शबाना इस दौरान सो रही थीं। तभी सिद्दीकी उनके माता-पिता और बहनों के सामने तीन बार तलाक-तलाक चिल्लाकर उसे छोड़कर चले गए। शबाना की जब नींद खुली तब परिवार ने उसे इस बारे में बताया। इसके बाद उन्होंने थाने में संपर्क किया और सिद्दीकी के खिलाफ एफआईआर लिखवाई।

मुकेश कुमार

एडिटर: मुकेश कुमार

Hindustan18-हिंदी में सम्पादक हैं। किसान मजदूर सेना (किमसे) में राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी के पद पर तैनात हैं।

Next Post

बिहार चुनाव 2020: घटता मतदान सत्ता से बेदखली का संकेत, जानें क्या रहा है बिहार में 30 साल की वोटिंग का ट्रेंड

Sun Nov 8 , 2020
पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें.. पटना- सामान्य तौर पर कहा जाता है कि मतदान में इजाफा सत्ता विरोध का सूचक होता है। देश के कई राज्यों में जब भी ऐसा हुआ है तो […]
error: Content is protected !!