हत्यारे पुलिस वालों की अब तक नहीं हुयी गिरफ्तारी, गोंडा में आम लोगों की जिंदगी की कीमत कुछ नहीं

गोंडा। माझा राठ गांव के रहने वाले देव नरायन यादव उर्फ देवा की थाना नवाबगंज में पुलिस हिरासत में हुई मौत के मामले में पुलिस की तफ्तीश सुस्त हो गई है। हिरासत में मौत के 11 दिन बाद पुलिस को आरोपी प्रभारी निरीक्षक व तीन सिपाहियों की गिरफ्तारी में कामयाबी नहीं मिल सकी है। पुलिस की तफ्तीश पर्चे में चल रही है। सपा नेताओं ने आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस को शनिवार तक का समय दिया था। शुक्रवार को सपा नेताओं ने एसपी से मिलकर वार्ता की। एसपी से वार्ता के बाद सपाइयों ने धरना प्रदर्शन स्थगित कर दिया है। दशहरा तक गिरफ्तारी नहीं हुई तो उसके बाद सपाई रणनीति तय करेंगे।

दशहरा तक गिरफ्तारी नहीं हुई तो उसके बाद सपाई रणनीति तय करेंगे

थाना नवाबगंज क्षेत्र के माझा राठ गांव के रहने वाले देव नरायन यादव उर्फ देवा की थाना नवाबगंज में हुई मौत के आरोपी प्रभारी निरीक्षक तेज प्रताप सिंह,सिपाही मिथिलेश सिंह, धर्मेंद्र व मनोज कुमार के खिलाफ देवा के पिता रामबचन ने हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। एसपी ने मामले में प्रभारी निरीक्षक तेज प्रताप सिंह व एसओजी प्रभारी अमित यादव को निलंबित कर दिया था। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए सीडीआर व सर्विलांस के माध्यम से लोकेशन तलाशा गया। 1 दिनों बाद भी पुलिस को कामयाबी नहीं मिली। आरोपी इंस्पेक्टर तेज प्रताप सिंह हाईकोर्ट की शरण में पहुंच गए। मगर तफ्तीश कर रही पुलिस का पता तक नहीं चल सका। हाईकोर्ट की नोटिस के बाद पुलिस जवाब दाखिल करेगी।

उधर सपा के निवर्तमान जिलाध्यक्ष आनंद स्वरूप यादव उर्फ पप्पू ने बताया कि एसपी के बुलावे पर सपा के पूर्व मंत्री योगेश प्रताप सिंह, पूर्व विधायक बैजनाथ दूबे, रमेेेश गौतम, मनोज चौबे के संग उन्होने एपी से मुलाकात की। एसपी से आरोपियों की गिरफ्तारी कराने का आश्वास दिया। पितृ विसर्जन, दुुर्गापूूजा व दशहरा के मद्देनजर वार्ता के बाद दशहरा तक धरना प्रदर्शन स्थगित कर दिया गया। इस बीच गिरफ्तारी नहीं हुई तो आगे की रणनीति तय की जाएगी।

Hindi Desk
Author: Hindi Desk