अमेरिकी ड्रोन हमला, 150 हुये अल्लाह को प्यारे

सोमालिया में हुए एक अमरीकी ड्रोन हमले में चरमपंथी गुट अल-शबाब के कम से कम 150 सदस्य मारे गए हैं।
पेंटागन ने इस बात की जानकारी दी है।
पेंटागन प्रवक्ता कैप्टन जैफ़ डेविस ने कहा कि इस हमले में एक ट्रेनिंग कैंप को निशाना बनाया गया जहां बड़े पैमाने पर हमले की योजना बनाई जा रही थी।
कैप्टन डेविस के मुताबिक़, “हमें पता है कि वो कैंप छोड़कर निकलने वाले थे और अमरीकी और अफ़्रीकी सेनाओं के लिए ख़तरा बनने वाले थे।
उनका कहना है, “शुरुआती आकलन से लगता है कि डेढ़ सौ से ज़्यादा चरमपंथी लड़ाकों को मार दिया गया है।
डेविस ने कहा कि शनिवार के हमले में राजधानी मोगादिशु के उत्तर में क़रीब 195 किलोमीटर दूर कैंप को निशाना बनाया गया था. इस कैंप पर काफ़ी समय से नज़र रखी जा रही थी।
उन्होंने कहा कि यह संगठन ‘हमलावर कार्रवाई’ करने के लिए ख़ास ट्रेनिंग पूरी कराने की कोशिश में था।
अल-क़ायदा से जुड़े चरमपंथी संगठन अल-शबाब को साल 2011 में अफ़ीकन यूनियन के शांति सैनिकों ने मोगादिशू से बाहर कर दिया था लेकिन वह पिछले काफ़ी समय से पश्चिमी ताक़तों के समर्थन से बनी सरकार को गिराने के लिए हमले करता रहा है।
संगठन ने कहा था कि उसने पिछले महीने सोमालिया के शहर बायदोआ में एक भीड़भाड़ वाले रेस्टोरेंट पर हमला किया था।

Hindi Desk
Author: Hindi Desk

Posted Under Uncategorized