खुशहाल मैरिड लाइफ के लिये बेडरूम में करे ये बदलाव

VASTU SHASTRAवास्तु शास्त्र के अनुसार बेडरूम में अगर कुछ छोटे-मोटे बदलाव कर दिये जाएं तो कपल्‍स के बीच में लड़ाइयां, तनाव और बेकार की बहसों को खतम किया जा सकता है। यह पति-पत्नी के बीच में के रिश्तों की मधुरता ला सकता है।

तो अगर आपको भी लगता है की बेडरूम में जाते ही आप दोनों का दिमाग गरम हो जाता है तो, वास्तु शास्त्र के इन नियमों का पालन करना न भूलें।

किस दिशा में सोएं

जोड़ों को सोते समय अपना सिर साउथ की ओर रखना चाहिये। इस तहर से उत्‍तर दिशा से आने वाली सकारात्मक चुंबकीय ऊर्जा सीधे शरीर में प्रवेश कर सकती है।

मास्टर बेडरूम में कैसा रंग लगवाएं

मास्‍टर बेडरूम में लाइट रंगों का चयन करें जैसे, हल्‍का नीला, हल्का हरा या रोज़ पिंक आदि। इसके अलावा मास्टर बेडरूम में बेकार का कबाड़ ना भरें।

पति-पत्नी किस ओर सोएं

पत्नी को हमेशा बिस्तर की बाईं ओर और पति को दाईं ओर सोना चाहिये। इससे रिश्ते में प्यार बना रहता है।

एक ही बिस्तर लगाएं

डबल बेड पर एक ही बिस्तर यानी गद्दा बिछाएं। पती – पत्नी को डबल गद्दे नहीं बिछाने चाहिये। इससे वैवाहिक संबंधों में तनाव उत्पन्न होता है।

कैसी तस्वीर ना लगायें

बेडरूम में कोई ऐसी तस्‍वीर ना लगायें, जो हिंसा दर्शा रही हो। बेड के सिरहाने वाली दीवार पर घड़ी, फोटो फ्रेम आदि नहीं लगायें, इससे सिर में दर्द बना रहता है। अच्‍छा होगा यदि आप बेड के ठीक सामने वाली दीवार पर कुछ लगायें। इससे मन की शांति बनी रहती है।

बेडरूम में बिजली के उपकरणों से बचें

बेडरूम में बिजली के तरह तरह के उपकरण लगाने से बचें। अगर वहां पर कोई बिजली का उपकरण लगा भी हो तो उसे बेड से काफी दूरी पर रखें। इससे निकलने वाला इलेक्‍ट्रो मैगनेट वेव ना केवल नींद में खलल डालता है बल्‍कि दंपती के बीच में तनाव और दरार भी पैदा करता है।

शीशे कहां लगाएं

कपल के बेडरूम में कभी भी शीशे नहीं लगाने चाहिये क्योंकि इससे झगड़े और बवाल होते हैं। अगर शीशा लगा ही है तो उसे ढंक कर रखें, खास तौर पर रात के समय।

बेडरूम की निगेटिव एनर्जी कैसे दूर करें

बेडरूम के मुख्यद्वार पर शाम के समय थोड़ा सा कपूर जलाना चाहिए, जिससे वहां की नकारात्मक ऊर्जा बाहर निकल जाती है।

Hindi Desk
Author: Hindi Desk

Posted Under Uncategorized