घी खाने से पा सकते है इन बीमारियों से निजात, जानिए कैसे

पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें..

देसी घी के बिना भारतीय भोजन का स्वाद अधूरा ही माना जाता है। लेकिन फिर भी कुछ महिलाएं घी का नाम सुनते ही मुंह बनाने लगती है, क्‍योंकि इससे उन्‍हें वजन बढ़ने का डर सताने लगता है और बीमारियों का कारण समझा जाता है। लेकिन क्‍या आप जानती हैं कि घी खाने का स्वाद बढ़ाने के साथ ही हेल्‍थ के लिए भी बहुत फायदेमंद है। खासतौर पर देसी गाय का घी आपकी हेल्‍थ के लिए बहुत ही अच्‍छा होता है। आयुर्वेद में तो देसी गाय के घी को अमृत समान माना जाता है। जिससे सौ से भी ज्‍यादा गुण होते है। जो दवा की तरह काम करते है। इसके रेगुलर इस्‍तेमाल आपका वेट कंट्रोल में रखता है, बॉडी को ताकत और हड्डियों को भी मजबूती मिलती है। यह एनर्जी बढ़ाने और मेंटल हेल्‍थ को दुरुस्‍त रखने के साथ ही स्किन और बालों के लिए भी किसी वरदान की तरह होता है। क्युकी घी को सेहत के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है। शुद्ध देसी घी को सुपरफूड भी कहा जाता है। क्योंकि यह एंटीऑक्सिडेंट के साथ ही एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल खूबियों से भरपूर होता है। घी का सीमित मात्रा में सेवन करने से सेहत को कई लाभ मिल सकते हैं। आपको बता दें कि घी में भरपूर मात्रा में विटामिन ए, विटामिन ई, विटामिन के2, कैल्शियम, ओमेगा 3 फैटी एसिड, विटामिन सी के गुण पाए जाते हैं। जो सेहत के लिए बेहद फायदेमंद माने जाते हैं।

कमजोर हड्डियों की समस्या से परेशान हैं तो घी को डाइट में शामिल करें।

घी में कैल्शियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है। घी हड्डियों को मजबूत बनाने में मददगार होता है। घी में एंटीऑक्सिडेंट गुण पाए जाते हैं।
Ghee For Bones Health: घी को सेहत के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है। शुद्ध देसी घी को सुपरफूड भी कहा जाता है। क्योंकि यह एंटीऑक्सिडेंट के साथ ही एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल खूबियों से भरपूर होता है। बहुत से लोग घी को सिर्फ इसलिए नहीं खाते कि घी से मोटापा बढ़ता है। लेकिन ऐसा नहीं है घी का सीमित मात्रा में सेवन करने से सेहत को कई लाभ मिल सकते हैं। घी में भरपूर मात्रा में विटामिन ए, विटामिन ई, विटामिन के2, कैल्शियम, ओमेगा 3 फैटी एसिड, विटामिन सी के गुण पाए जाते हैं। जो सेहत के लिए बेहद फायदेमंद माने जाते हैं। कमजोर हड्डियों की समस्या से परेशान हैं। तो घी को इन चीन तरीकों से डाइट में शामिल करें ।

हड्डियों को मजबूत बनाने में मददगार है

1. घी और दूध को कैल्शियम का अच्छा सोर्स माना जाता है। एक गिलास दूध में 1 चम्मच घी मिला कर पीने से हड्डियों को मजबूत बनाया जा सकता है। घी मिला दूध पीने से थकान को दूर किया जा सकता है। इतना ही नहीं जिन लोगों को नींद न आने की समस्या है। उनके लिए भी इस दूध का सेवन करना काफी फायदेमंद हो सकता है।
। घी को गुनगुने पानी के साथ घी का सेवन करने से हड्डियों को मजबूत बनाया जा सकता है। एक गिलास पानी को गुनगुना गर्म कर लें, अब इसमें एक चम्मच घी अच्छी तरह से मिलाएं, और सेवन करें, इससे हड्डियों को मजबूत बनाया जा सकता है।
3. घी और दाल को प्रोटीन का अच्छा सोर्स माना जाता है। दाल में बहुत से पोषक तत्व पाए जाते हैं। कमजोर हड्डियों से छुटकारा पाने के लिए आप दाल में दो चम्मच घी डाल कर इसका सेवन करें। इससे हड्डियों को कमजोर होने से बचाया जा सकता है।

रोजाना गाय का घी का सेवन करने होते है ये फायदे

पाचन शक्ति बढ़ाये

घी का स्मोकिंग पॉइंट दूसरे फैट की तुलना में बहुत अधिक होता है। यही कारण है कि पकाते समय आसानी से नहीं जलता। घी में स्थिर सेचुरेटेड बॉण्ड्स बहुत अधिक होते हैं। जिससे फ्री रेडिकल्स निकलने की आशंका बहुत कम होती है। घी की छोटी फैटी एसिड की चेन को शरीर बहुत जल्दी पचा लेता है। जिससे आपकी पाचन शक्ति अच्‍छी रहती है।

कोलेस्ट्रॉल कम करें

घी पर हुए शोध के अनुसार, इससे रक्त और आंतों में मौजूद कोलेस्ट्रॉल कम होता है। ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि घी से बाइलरी लिपिड का स्राव बढ़ जाता है। देशी घी शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल के लेवल को सही रखता है और अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने में मदद करता है। इसलिए अगर आप कोलेस्‍ट्रॉल की समस्‍या से परेशान है, तो अपने आहार में गाय के घी को शामिल करें।

दिल के लिए फायदेमंद

अब तक तो यही समझा जाता था कि देशी घी ही रोगों की सबसे बड़ी जड़ है? लेकिन यह सच नहीं है क्‍योंकि गाय का घी दिल समेत कई बीमारियों को दूर करने में सहायक होता है। दिल की नलियों में ब्लॉकेज होने पर गाय का घी एक ल्यूब्रिकेंट की तरह काम करता है। जिस व्यक्ति को हार्ट अटैक की तकलीफ है और चिकनाई खाने की मनाही है। वह गाय का घी खाएं, इससे दिल मजबूत होता है।

माइग्रेन की समस्‍या से बचाये

माइग्रेन में आमतौर पर सिर के आधे हिस्से में दर्द होता है, और सिरदर्द के वक्त मितली या उलटी भी आ सकती है। इस समस्‍या से बचने के लिए गाय का घी आपकी मदद कर सकता है। दो बूंद गाय का देसी घी नाक में सुबह शाम डालने से माइग्रेन दर्द ठीक होता है। साथ ही गाय के घी नाक में डालने से एलर्जी खत्म होती है, नाक की खुश्की दूर होती है और दिमाग तरोताजा हो जाता है।

त्‍वचा में निखार लाये

गाय के घी में बहुत अधिक मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है। जो फ्री रेडिकल्स से लड़ता है, और चेहरे की चमक बरकरार रखता है। साथ ही यह त्‍वचा को मुलायम और नमी प्रदान करता है, और त्‍वचा को नॉरिश करने के साथ-साथ ड्रायनेस को भी कम करता है, और त्वचा की कांति बढ़ाता है। आप देशी घी से रोज चेहरे की मसाज कर सकते हैं।

वजन को निय‍ंत्रित रखें

देशी घी में सीएलए होता है। जो मेटाबॉल्जिम को सही रखता है। इससे वजन कंट्रोल में रहता है। सीएलए इंसुलिन की मात्रा को कम रखता है, जिससे वजन बढ़ने और शुगर जैसी दिक्कतें होने का खतरा कम रहता है। इसके अलावा यह हाइड्रोजनीकरण से नहीं बनाया जाता है, इसलिए देशी घी खाने से शरीर में एक्स्ट्रा फैट बनने का सवाल ही नहीं पैदा होता।

ALSO VISIT :

 

दीप माला गुप्ता

एडिटर: दीप माला गुप्ता

दीप माला गुप्ता रिपोर्टर, एंकर एवं वीडियो न्यूज़ एडिटर हैं। इन्होने जर्नलिजम में डिप्लोमा किया है। आप hindustan18.com के लिए रिपोर्टिंग एवं स्क्रिप्ट लिखने का कार्य करती हैं।

Next Post

फिर से पावरफुल इलेक्ट्रिक बाइक की बुकिंग शुरू, भारी मांग के चलते करनी पड़ी थी बंद

Tue Jul 13 , 2021
पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें.. फिर से पावरफुल इलेक्ट्रिक बाइक की बुकिंग शुरू, भारी मांग के चलते करनी पड़ी थी बंद देश की प्रमुख इलेक्ट्रिक दोपहिया वाहन निर्माता कंपनी Revolt Motors ने एक […]
error: Content is protected !!