गुजरात छोड़ दो यहां नौकरी धंधा नही करने दूंगा, गुजरात पुलिस का अत्याचार

पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें..

अहमदाबाद– आम नागरिक पर पुलीस के द्वारा अत्याचार अमदाबाद व गुजरात में जारी है। अहमदाबाद शहर के निकोल थाने की खुली गुंडागर्दी सामने आई है। आरोप है कि पुलिस ने अपने रिश्तेदार को जमानत देने गए व्यक्ति को उठा कर बन्द कर दिया। जमानत लेने गए व्यक्ति को पुलिस वालों ने जानवर की तरह पीटा और फिर मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया।

घटना 29 जून 2021 की है। रमेश यादव को निकोल पुलिस स्टेशन मे IPC धारा 188 जेल मे डाला और जब रमेश यादव को जमानत करवाने नरेशभाई और उनके बेटे मुकेश यादव गये, जो रमेशभाई का दोस्त है तो उन्हें जेल जाना पड़ा है।

मुकेश यादव पेशे से वकालत कर रहे है। यादव हाल में निवासी ओढव अमदाबाद हैं जोकि मूल निवासी सिवान जिला बिहार के हैं। 29 जून की रात करीब 11 बजे के आसपास जमानत देने गए के लिए निकोल पुलिस स्टेशन गए थे। मुकेश यादव ने बताया है कि पुलिस ने उनसे कहा जमानत नही होगी और मुकेश यादव को धक्का मारा और बाहर धकेल दिया तब स्वयं का बचाव मुकेश ने किया।

मुकेश यादव का कहना है पुलिसकर्मियों ने शराब पी रखी थी। उन्होंने मुकेश यादव को बहुत पीटा। मुकेश के पिता नरेशभाई छुड़ाने गए तो उन्हे भी 2-3 थप्पड़ मार दिए।

मुकेश कहते हैं कि घटना को अंजाम देने वाले कुल 7 पुलिसकर्मी थे जो हमें घेर लिए और जमीन पर गिराकर हाथ, पैर जिससे जैसे जहा मारना हुआ वह मार रहे थे।उसके बाद कमरा नं 13 मे ले जाकर दोनो हाथ बाधंकर डंडा हाथों में फसाकर मारने लगे और मुह मे कपडे डुस दिए। उल्टा लटका दिए, पुरी रात,10 मिनट / 30 मिनट जब भी कोई पुलीस वाला आता और मारकर चला जाता और बोलते है की तुम लोगो को गुजरात मे धंधा, व्यापार नही करने देंगे।

गुजरात पुलिस के इस रवैये से उतर प्रदेश व बिहार के लोगों में डर व्याप्त हो गया है।

हिन्दुतान 18 न्यूज़ रूम

एडिटर: हिन्दुतान 18 न्यूज़ रूम

यह हिन्दुतान-18.कॉम का न्यूज़ डेस्क है। बेहतरीन खबरें, सूचनाएं, सटीक जानकारियां उपलब्ध करवाने के लिए हमारे कर्मचारियों/ रिपोर्ट्स/ डेवेलोपर्स/ रिसचर्स/ कंटेंट क्रिएटर्स द्वारा अथक परिश्रम किया जाता है।

Next Post

शरीर को स्वस्थ रखने के लिए क्यों जरूरी है, विटामिन के

Fri Jul 2 , 2021
पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें.. विटामिन -K क्या है? विटामिन- K वसा में घुलनशील विटामिन हैं। और रक्त का थक्का जमाने के लिए बहुत ही जरुरी होता है। रक्त का थक्का बनना मनुष्य […]
error: Content is protected !!