Ankita Murder Case : बेड पर बिखरे दस्तावेज…कुर्सी पर रखा खाना… कुछ ऐसा था रिसॉर्ट में अंकिता के कमरे का हाल

अंकिता हत्याकांड की जांच के लिए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की ओर से गठित एसआइटी ने डीआइजी पी. रेणुका देवी की देखरेख में रिसॉर्ट और घटनास्थल का दौरा कर लिया है। इस दौरान उन्होंने बारीकी से हर चीज का निरीक्षण किया और जो अहम साक्ष्य थे, उन्हें एकत्र कर लिया है। अब एसआइटी जल्द ही अंकिता के स्वजन और दोस्त से भी मुलाकात करेगी। साथ ही रिसॉर्ट के स्टाफ के बयान भी दर्ज किए जाएंगे।

हत्यारे का फार्म हाउस प्रशासन ने किया ध्वस्त

रविवार को एसआइटी वनन्तरा रिसॉर्ट पहुंची थी और काफी देर तक वहां मौजूद स्टाफ से बातचीत की। इसके बाद टीम ने जिस कमरे में अंकिता रहती थी, वहां जाकर साक्ष्य जुटाए। इस दौरान टीम ने वहां रखे सामान का बारीकी से निरीक्षण किया गया।

इसके बाद टीम उस जगह पर पहुंची, जहां से अंकिता को नहर में धकेला गया था। यहां निरीक्षण के बाद एसआइटी ने जहां से शव बरामद हुआ, वहां का भी जायजा लिया गया। डीआइजी पी. रेणुका देवी ने बताया कि रिसॉर्ट में सभी साक्ष्य सुरक्षित हैं। कोई भी साक्ष्य नष्ट नहीं हुआ है।

अंकिता मर्डर केस
अंकिता ने नही खाया था खाना

कुछ ऐसा था अंकिता के कमरे का हाल

  • रिसॉर्ट में तोड़फोड़ के बाद अंकिता का कमरा भी क्षतिग्रस्‍तहुआ है।
  • जब टीम यहां पहुंची तो अंकिता के शैक्षिक दस्तावेज पलंग पर बिखरे हुए दिखे।
  • दूसरी आरे एक कुर्सी पर उसके लिए लाई गई दाल-रोटी रखी गई थी।
  • अंकिता का बैग और कपड़े भी बिखरे पड़े थे।
Ankita muder case
अंकिता के कमरे में बिखरे पड़े कागज़ात

रिसॉर्ट में बंद पड़े सीसीटीवी कैमरे

  • सीसीटीवी कैमरों से भी एसआइटी को कोई महत्वपूर्ण सुराग मिलने की उम्मीद नहीं है।
  • वजह यह कि जिस स्थान से अंकिता को नहर में फेंका गया, उससे छह किलोमीटर पहले तो अंकिता और तीनों हत्यारोपित सीसीटीवी कैमरे में नजर आ रहे हैं।
  • बताया जा रहा है कि अंकिता, पुलकित के पीछे बाइक में बैठी थी।
  • इसके बाद जंगल का क्षेत्र है और वहां कोई सीसीटीवी कैमरे नहीं हैं।
  • वहीं, रिसॉर्ट में सिर्फ दिखावे के लिए सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं, वहां कोई भी कैमरा चालू स्थिति नहीं है।

अंकिता के दोस्त के बयान होंगे महत्वपूर्ण

  • अंकिता के दोस्त पुष्प व पुलकित के मैनेजर के बीच फोन पर हुई बात व वाट्सएप चैट महत्वपूर्ण साक्ष्य हैं।
  • जल्द ही पुष्प को बयान दर्ज करने के लिए बुलाया जाएगा।
  • रिसॉर्ट में आग लगाकर साक्ष्य नष्ट करने वाली बात सही नहीं है।
  • एएसपी शेखर सुयाल ने अपनी टीम के साथ मौके पर जाकर पर्याप्त साक्ष्य जुटा लिए हैं।
  • इसके अलावा फोरेंसिक टीम भी कमरे से साक्ष्य जुटा चुकी है।

आरोप पत्र दाखिल करने में पुलिस जल्दबाजी नहीं करेगी। पूरे साक्ष्य एकत्र करने के बाद ही आरोपपत्र दाखिल किया जाएगा, ताकि दोषियों को सजा दिलाई जा सके। रविवार को एसआइटी मौके पर गई थी। टीम ने भी साक्ष्य जुटाए हैं। रिसॉर्ट में गलत गतिविधियों के संबंध में यदि कोई शिकायत मिलती है तो इसकी भी जांच करवाई जाएगी।

– अशोक कुमार, पुलिस महानिदेशक, उत्तराखंड

Hindi Desk
Author: Hindi Desk