डांस बार से सीसीटीवी का लाइव फुटेज कतई नहीं दिया जा सकता: सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्ली : मुंबई के डांस बार मामले में सुप्रीम कोर्ट का कहना है कि डांस बार से सीसीटीवी का लाइव फुटेज देना नामुमकिन  है। कोर्ट ने पुनः महाराष्ट्र सरकार को निर्देश देते हुए कहा है कि वो डांस बार के लिए लाइसेंस जारी करे।

दायर याचिका में कहा गया कि सीसीटीवी कैमरे के जरिए डांस बार का नजदीकी पुलिस स्टेशन में लाइव फीड यदि दिया जाता है, तो इससे बार के संचालकों के राइट टू प्राइवेसी का हनन भी नहीं होगा। इससे वहां काम करने वाली महिलाएं भी सुरक्षित रहेंगी। वहां काम करने वाली महिलाएं अक्सर वहां होने वाली बदतमीजी को लेकर शिकायत करती है। इस मामले में डांस बार संचालकों ने महाराष्ट्र सरकार के विरोध में सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी। इसी याचिका की सुनवाई के दौरान कोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार से जवाब मांगा था।

महाराष्ट्र सरकार ने अपने हलफनामे में डांस बार मालिकों की उस दलील को भी नकार दिया है कि सीसीटीवी फुटेज का लाइव प्रसारण नहीं हो सकता। सरकार ने कहा है कि कानून व्यवस्था बनाए रखने और सुरक्षा के लिए यह जरूरी है कि डांस बार में सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएं।

अगर सीसीटीवी लगाए जाएंगे, तो पुलिस किसी अप्रिय घटना पर तुरंत पहुंच जाएगी। इससे यह भी पता चल सकेगा कि वहां कोई अश्लीलता तो नहीं हो रही है।

Hindi Desk
Author: Hindi Desk

Posted Under Uncategorized