अधिकारी का ड्राइबर होने का धौंस दिखा कर किया जा रहा उत्पीड़न, डी.एम से की शिकायत

पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें..

मनकापुर : गोंडा

थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम हलईडीह ,मछली गांव नानकार, में विगत माह से दो पक्षों के बीच नाली का पानी निकालने को ले कर विवाद चल रहा है।गाँव के ही कल्पनाथ शुक्ल जो की खण्ड विकास अधिकारी बेलसर के वाहन चालक हैं वे अपने घर का पानी खड़ंजे को पार करके राजेन्द्र प्रसाद शुक्ल के घर के सामने गिराने की जिद पर अड़े हुए हैं, जिसके चलते दोनों पक्षों में कई बार तीखी नोकझोंक भी हो चुकी है राजेन्द्र के विपक्षी कल्पनाथ नाली के इस प्रकरण को एस.डी.एम न्यायलय तक भी ले जा चुके हैं। किन्तु न्यायलय से कोई निर्णय आये इससे पहले ही लेखपाल अतिकुर्रहमान और कानूनगो ज्ञानचन्द्र भारती कल्पनाथ के दबाव में आकर राजेन्द्र के घर के सामने से नाली ले जाने में मनबढ़ चालक का साथ देते दिखाई दे रहे हैं।

Advt.

बताते चलें की विपक्षीगण कल्पनाथ गंगा प्रसाद श्याम बाबू द्वारा जबरन विवाद किये जाने के पीछे की सच्चाई ये है की उन्हें नाली का पानी ले जाने से अधिक राजेन्द्र के घर के सामने पड़ रही आबादी की जमीन अखर रही है इसी बात की खुन्नस में उपरोक्त लोग खड़ंजे को पार करके अपने घर का पानी बहाना चाहते हैं ! जबकि न्याय संगत है की आबादी की भूमि जिसके सहन दरवाजे पर अथवा हद में होती है उस पर रहन सहन का अधिकार उसी का होता है।किन्तु यहां न्यायोचित निर्णय देने के बजाय लेखपाल, कानूनगो और पुलिस खड़ंजे को पार करके आबादी की भूमि पर नाली निकाषी के लिए अधिक रूचि लेते दिखाई दे रहे हैं, इस विवाद के चलते राजेन्द्र शुक्ल द्वारा कराया जा रहा भवन का निर्माण कार्य भी रुकवा दिया गया है जिसकी वजह से राजेन्द्र का परिवार ठण्ड में पन्नी तान कर रहने को मजबूर हैं उधर लगातार मनबढ़ चालक द्वारा धमकियां दी जा रही हैं उनका कहना है की अगर नाली का पानी नही निकलने दिया जाएगा तो मकान बनने नही दूंगा अधिकारी मेरी मुट्ठी में हैं जो चाहूँगा वही होगा !वाहन चालक कल्पनाथ की दबंगई से तंग परिवार ने जिलाधिकारी को शिकायती पत्र दे कर न्याय की गुहार लगाई है।

प्रदीप शुक्ला

एडिटर: प्रदीप शुक्ला

प्रदीप शुक्ला एक स्वतंत्र पत्रकार हैं। ये अपनी निर्भीक पत्रिकारिता के लिए जाने जाते हैं। आप कई समाचार पत्रों में व मीडिया माध्यमों पर लिखते हैं।

Next Post

महाराष्ट्र के भंडारा में अस्पताल में आग लगने से 10 बच्चों की मौत, CM उद्धव ठाकरे ने जताया दु:ख

Sat Jan 9 , 2021
पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें.. भंडारा : महाराष्ट्र के भंडारा (Bhandara) के जिला अस्पताल से दुखद खबर सामने आई है। यहां एक अस्पताल में आग लगने से 10 नवजात बच्चों की मौत हो […]
error: Content is protected !!