दो चर्चित हत्याओं का पर्दाफास करने में नाकाम रही पुलिस

पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें..

जौनपुर: हत्या जैसी संगीन वारदातों का भी राजफाश न कर पाने से पुलिस महकमे की कार्यशैली पर सवाल उठने लगे हैं। ओझा की हत्या के करीब दस महीने हो चुके हैं, जबकि चिकित्सक की हत्या के डेढ़ महीने गुजर गए।

बदलापुर थाना देवरामपुर गांव निवासी ओझा उमाशंकर यादव की हत्या तो पुलिस के लिए मानो अबूझ पहेली हो गई है। पिछले साल 13 अक्टूबर की सुबह उमाशंकर यादव की धारदार हथियार से अज्ञात हमलावरों ने गांव में राम जानकी मंदिर के पास उस समय हत्या कर दी थी जब वे रोजाना की तरह घनश्यामपुर बाजार से चाय पीकर साइकिल से घर लौट रहे थे। मृतक के ज्येष्ठ पुत्र आशुतोष यादव की तहरीर पर अज्ञात हत्यारों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज हुआ था। करीब दस माह तक छानबीन के बाद पुलिस यह भी पता नहीं लगा सकी है कि हत्या किसने और क्यों की थी।

निवर्तमान प्रभारी निरीक्षक जल्द राजफाश करने का दावा करते-करते स्थानांतरित हो गए और मौजूदा प्रभारी निरीक्षक पवन उपाध्याय भी कुछ ऐसा ही दावा कर रहे हैं।

हिन्दुतान 18 न्यूज़ रूम

एडिटर: हिन्दुतान 18 न्यूज़ रूम

यह हिन्दुतान-18.कॉम का न्यूज़ डेस्क है। बेहतरीन खबरें, सूचनाएं, सटीक जानकारियां उपलब्ध करवाने के लिए हमारे कर्मचारियों/ रिपोर्ट्स/ डेवेलोपर्स/ रिसचर्स/ कंटेंट क्रिएटर्स द्वारा अथक परिश्रम किया जाता है।

Next Post

एकादशी व्रत के बारे में पूरी जानकारी - Ekadadi Varat Vidhi

Tue Jul 20 , 2021
पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें.. सनातन धर्म में एकादशी को सभी व्रतों में सर्वश्रेठ  बताया गया है। एकादशी को व्रतराज की उपाधी दी गई है क्योंकि यह सभी व्रतों मे सबसे श्रेष्ठ है। […]
error: Content is protected !!