नीम के ऐसे अचूक फ़ायदे रोज पीने से मिलेंगे हर बीमारी से निज़ात

पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें..

जितना कड़वा उतना ही फायदेमंद, रोज पिएंगे तो होंगे ये फायदे

नीम जितना कड़वा होता है। स्वास्थ्य के लिए उतना ही फायदेमंद होता है। अगर नीम के पत्तों को उबाल कर कम मात्रा में पिया जाए तो यह कई तरह की बीमारियों से बचाने के साथ ही इम्यून सिस्टम को भी मजबूत बनाता है। नीम एक आयुर्वेदिक दवाई है। जिसके कई सारे स्‍वास्‍थ्‍यवर्धक फायदे हैं। नीम, हमारे शरीर, त्‍वचा और बालों के लिये बहुत फायदेमंद है। इसका कडुआ स्‍वाद बहुत से लोगो को खराब लगता है। इसलिये वे इसे चाह कर भी नहीं खा पाते। इसी कारण नीम का रस पीना ज्‍यादा आसान होता है। आइये जानते हैं इस गुणकारी नीम के रस का फायदा। नीम को स्वास्थ्य के लिए सबसे बेहतर बताया गया है। नीम इतना गुणकारी है, कि इसके पेड़ के नीचे बैठने से भी शुद्ध हवा मिलती है। अगर नीम के पत्तों को उबाल कर कम मात्रा में पिया जाए तो यह कई तरह की बीमारियों से बचाने के साथ ही इम्यून सिस्टम को भी मजबूत बनाता है। लेकिन बहुत कड़वा होने के कारण इसे पीना आसान नहीं है। आजकल बाजार में नीम का रस भी उपलब्ध है। इसे पीने में ज्यादा दिक्कत नहीं होती। नीम के पत्ते पानी में डाल कर नहाने से त्वचा संबंधी रोग नहीं होते। इसमें एंटी फंगल और एंटी बैक्टीरियल गुण होते हैं। जानें नीम की पत्तियों का पानी पीने से क्या फायदे होते हैं।

1. पेट के लिए फायदेमंद

रोजाना नीम के पानी के सेवन से पेट से संबंधित बीमारियां नहीं होतीं। नीम का पानी पेट के कीड़ों को मार देता है, और विषाक्त पदार्थों को बाहर निकाल देता है। अगर रोज सुबह खाली पेट नीम का पाना पिया जाए तो गैस, बदहजमी और दूसरे रोग नहीं होते।

2. स्किन को रखता है ठीक

नीम त्वचा के लिए बेहद फायदेमंद है। त्वचा की बीमारियों को दूर करने के लिए नीम का इस्तेमाल बहुत पुराने समय से किया जा रहा है। आज भी लोग नीम के साबुन का इस्तेमाल करते हैं। नीम का पानी पीने से फोड़े-फुंसियों, एक्जीमा और त्वचा संबंधी बीमारियों से बचाव होता है।

3. आंखों की रोशनी बढ़ता है

नीम आंखों के लिए भी गुणकारी है। इसके नियमित सेवन से आंखों की रोशनी बढ़ती है। अगर आंखों से पानी आता हो या दर्द रहता हो तो नीम के पानी का सेवन करने से राहत मिलती है।

4. दांतों और मसूड़ों के लिए फायदेमंद

पहले लोग नीम के दातून का इस्तेमाल करते थे। नीम के दातून से मुंह धोने से दांत और मसूड़े हमेशा ठीक रहते थे। आजकल दातून का प्रचलन नहीं के बराबर रह गया है। लेकिन फिर भी अगर नीम का पानी रोज पिया जाए तो इससे दांत और मसूड़ों से संबंधित कोई बीमारी नहीं होगी।

5. इम्यून सिस्टम को बनाता है मजबूत

ज्यादातर बीमारियां इम्यून सिस्टम के कमजोर होने से होती हैं। नीम इम्यून सिस्टम को बूस्ट कर शरीर को भीतर से मजबूत बनाता है। अगर इसका नियमित इस्तेमाल किया जाए तो शरीर के हर अंग की कार्य प्रणाली सही रहती है और जल्दी किसी तरह का कोई संक्रमण नहीं होता।

6. खून साफ करे

नीम एक रक्त-शोधक औषधि है, यह बुरे कैलेस्ट्रोल को कम या नष्ट करता है। नीम का महीने में 10 दिन तक सेवन करते रहने से हार्ट अटैक की बीमारी दूर हो सकती है।

7. नीम का रस बहुत कडुआ होता है, जिसे पीना बहुत मुश्‍किल होता है। अगर आपको इसके फायदे चाहिये तो इसे एक ग्‍लास में डाल कर इसको दवा समझ कर पूरा एक साथ पी लें। इसके अलावा ये भी देखिये की नीम के रस को और किस-किसी प्रकार से पिया जा सकता है। नीम त्‍वचा के लिए अमृत होती है

8. नीम के रस में थोड़ा मसाला डाल दें जिससे उसमें स्‍वाद आ जाए। इसको पीने से पहले उसमें नमक या काली मिर्च और या फिर दोनों ही डाल दें।

9. कई लोगो को नीम की महक अच्‍छी नहीं लगती। इसलिये जब रस निकाल लें तब उसको फ्रिज में 15-20 मिनट के लिये रखें या फिर उसमें बर्फ के कुछ क्‍यूब डाल दें और फिर पिएं। लेकिन सबसे अच्‍छा होगा कि नीम के रस को निकाल कर तुरंत ही पी लिया जाए। इसको 30 मिनट से ज्‍यादा स्‍टोर कर के नहीं रखना चाहिये।

10. नीक का रस पीने से पहले अपनी नाक को दबा लें, इससे जूस को पीने में आसानी होगी। अगर आपको नीम जूस का पूरा फायदा उठाना है, तो इसमें चीनी बिल्‍कुल भी न मिलाएं।

11. नीम का रस हमेशा सुबह-सुबह पिएं। इसकी कडुआहट को कम करने के‍ लिये इसमें नमक मिलाएं और हल्‍का सा पानी भी।

12. चिकन पॉक्‍स के निशान मिटाए शरीर पर चिकन पॉक्‍स के निशान को साफ करने के लिये, नीम के रस से मसाज करें। इसके अलावा त्‍वचा सं‍बधि रोग, जैसे एक्‍जिमा और स्‍मॉल पॉक्‍स भी इसके रस पीने से दूर हो जाते हैं।

13. आंखों की रौशनी बढ़ाए नीम के रस की दो बूंदे आंखो में डालने से आंखो की रौशनी बढ़ती है और अगर कन्जंगक्टवाइटिस हो गया है, तो वह भी जल्‍द ठीक हो जाता है।

14. मलेरिया रोग में फायदेमंद नीम के रस का फायदा मलेरिया रोग में किया जाता है। नीम वाइरस के विकास को रोकता है और लीवर की कार्यक्षमता को मजबूत करता है।

15. प्रेगनेंसी में प्रेगनेंसी के दौरान नीम का रस योनि के दर्द को कम करता है। कई प्रेगनेंट औरते लेबर पेन से मुक्‍ती पाने के लिये नीम के रस से मसाज करती हैं। प्रसूता को बच्चा जनने के दिन से ही नीम के पत्तों का रस कुछ दिन तक नियमित पिलाने से गर्भाशय संकोचन एवं रक्त की सफाई होती है। गर्भाशय और उसके आस-पास के अंगों का सूजन उतर जाता है, भूख लगती है, दस्त साफ होता है, ज्वर नहीं आता। यदि आता भी है तो उसका वेग अधिक नहीं होता।

ALSO VISIT:

दीप माला गुप्ता

एडिटर: दीप माला गुप्ता

दीप माला गुप्ता रिपोर्टर, एंकर एवं वीडियो न्यूज़ एडिटर हैं। इन्होने जर्नलिजम में डिप्लोमा किया है। आप hindustan18.com के लिए रिपोर्टिंग एवं स्क्रिप्ट लिखने का कार्य करती हैं।

Next Post

इलायची खाने से मिलते है ये फ़ायदे, जानिए

Tue Jul 13 , 2021
पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें.. इलायची खाने से मिलते है ये फ़ायदे, जानिए हर लोगो की पसंद इलायची होती है। मसालों में छोटी इलायची को सबसे खुशबूदार कहा जाता है। हर घर में […]
error: Content is protected !!