अक्सर मानसून में पैरों की खूबसूरती खोने लगती है, कुछ टिप्स का इस्तेमाल कर के रख सकते है ख्याल

पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें..

अक्सर मानसून में पैरों की खूबसूरती खोने लगती है, कुछ टिप्स का इस्तेमाल कर के रख सकते है ख्याल, और घर पर ही करे पेडिक्योर करने का घरेलू उपाय

मानसून में पैरों में कई सारी समस्या होती रहती है, जैसे गंदे पानी का इन्फेक्शन हो जाना, पैरों की उंगलियों में सड़न होना स्किन सिकडूना इत्यादि समस्या सभी लोग फेस करते है। तो आज हम मानसून में पैरों का ख्याल रखने के लिए हम यहां बता रहे हैं । इन टिप्स की मदद से मानसून में अपने पैरों को खूबसूरत बनाया जा सकता।

मानसून का मौसम भले ही सुहाना लगता है, लेकिन एक बार बारिश होने के बाद उमस हो जाती है। जिसकी वजह से पसीना आना शुरू हो जाता है। ऐसे में पैरों में जर्म्स चिपक जाते हैं, जिससे बदबू आनी शुरू हो जाती है। रोजाना पैर धोने से भी यह जर्म्स और बदबू अच्छी तरह से नहीं जाते हैं, इसके लिए पैरों की खास देखभाल जरूरी है। अगर आपके पैरों की चमक खो गई है और बदबू आती रहती है, तो नहाने के बाद टेल्कम पाउडर अप्लाई करें। इसके अलावा स्लीपर और ऐसे सैंडल पहने जो खुले हों।
इससे पैरों को हवा मिलती रहेगी और यह जर्म्स फ्री रहेंगे, हालांकि ओपन फुटवियर पहनने कंफर्टेबल तो होते हैं, लेकिन गंदगी आसानी से चिपक जाती है। इसलिए हाइजीन का ख्याल जरूर रखना चाहिए। गर्मी और उमस के मौसम में पैरों पर जर्म्स चिपके होने से फंगल इंफेक्शन होने का डर रहता है। ऐसे में अगर आपके पैरों पर किसी तरह की स्किन प्रॉब्लम हो रही है, और पैरों की उंगलियों के आसपास लगातार खुजली हो रही है तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। फंगल इंफेक्शन के शुरुआती स्टेज से निपटने के लिए एंटी-फंगल दवाएं प्रभावी मानी जाती हैं। इसके अलावा भी कई ऐसे घरेलु उपाय हैं, जिसकी मदद से अपने पैरों का खास ध्यान रख सकते हैं।

फंगल इन्फेक्शन से बचने के उपाय

बारिश के मौसम में हम त्वचा का खास ख्याल तो रखते ही हैं, लेकिन पैरों का भी खास ख्याल रखना जरूरी है। इस मौसम में जितना हो सके अपने पैरों को ड्राई और नमी से बचाएं। इसके लिए आप टेल्कम पाउडर का इस्तेमाल कर सकते हैं। नहाने के बाद पैरों पर इसे अप्लाई करें।
एप्पल साइडर विनेगर भी फंगल इंफेक्शन से छुटकारा दिलाने में मदद करता है। इसके लिए आप एक कप विनेगर में एक पानी मिक्स कर दें, अब इस मिश्रण को प्रभावित क्षेत्र पर कॉटन की मदद से अप्लाई करें। इस मिश्रण को लगाने के बाद आधे या फिर एक घंटे के लिए छोड़ दें और सूखने के बाद साफ टॉवेल से पोंछ दें। फंगल इंफेक्शन से राहत पाने के लिए टी ट्री ऑयल का भी इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके लिए एलोवेरा जेल और ऑलिव ऑयल बराबर मात्रा में लें और उसमें टी ट्री ऑयल मिक्स कर दें। अब इस मिश्रण को प्रभावित क्षेत्र में लगाएं। इसी तरह आप घर पर मेडिक्युरे पेडीक्योर कर के भी अपने पैरों का अच्छे से ध्यान रख सकती है।

मानसून में पैरों के ख्याल रखने के घरेलू उपाय
foot care during monsoon

मानसून में पैरों का ख्याल रखने के लिए आप लोशन का इस्तेमाल कर सकती हैं। इसके लिए 3 चम्मच गुलाब जल में 2 चम्मच नींबू का रस और एक चम्मच शुद्ध ग्लिसरीन का इस्तेमाल करें। अब इस मिश्रण को अपने पैरों पर लगाएं और आधे या फिर 1 घंटे के लिए छोड़ दें।
इसके अलावा पैरों का ख्याल रखने के लिए कुछ देर पानी में सोक होने के लिए छोड़ दें। इसके लिए पानी में गुलाब जल, नींबू (नींबू का इस्तेमाल) का रस और इत्र डालकर कुछ देर अपने पैरों को डुबोएं, इससे ठंडक का एहसास होगा। ऐसा करने से पैरों की गंदगी चली जाएगी और बदबू भी नहीं आएगी। समय-समय पर पैरों की मसाज करते रहे । इसके लिए 100ml ऑलिव ऑयल लें और उसमें यूकेलिप्टस ऑयल की 2 बूंद मिक्स कर दें। इसी के साथ 2 बूंद रोजमेरी ऑयल और 3 खस खस या फिर रोज ऑयल मिक्स कर दें। अब इन सभी चीजों को अच्छी तरह मिक्स करें एक एयरटाइट ग्लास जार में भरकर रख दें। अब इसे पैरों की मसाज के लिए थोड़ा-थोड़ा इस्तेमाल कर सकते हैं। यह पैरों को ठंडक देने के अलावा स्किन को सुरक्षित रखने में भी मदद करता है। इसी तरह आप घर पर मेडिक्युरे पेडीक्योर कर के भी अपने पैरों का अच्छे से ध्यान रख सकती है।

घर पर इस तरह करें पैरों का पेडीक्योर
foot care at home in hindi

हफ्ते में एक बार पेडिक्योर करने से पैरों को फंगल इंफेक्शन का खतरा कम रहता है। खासकर गर्म और उमस भरे मौसम में अपने पैरों और नाखूनों को हमेशा साफ रखें। बता दें कि घर पर पेडिक्योर करना काफी आसान है, आइए जानते हैं।

नेल पॉलिश रिमूव करने के बाद एक बकेट में 1/4 गर्म पानी से भर दें, और उसमें नमक और नींबू की 10 बूंदें मिक्स कर दें। नींबू के रस की जगह आप ऑरेंज एसेंशियल ऑयल भी मिक्स कर सकती हैं। अगर आपके पैरों में पसीना अधिक आता है। तो पानी में टी ट्री ऑयल की भी कुछ बूंदें मिक्स कर दें। यह पैरों में मौजूद जर्म्स से छुटकारा दिलाएंगी और बदबू चली जाएगी। अब इन सारे इंग्रेडिएंट्स को मिक्स करने के बाद इसमें अपने पैरों को 10 से 15 मिनट के लिए छोड़ दें। इसके बाद अपने नाखूनों को ब्रश की मदद से हलके हलके हाथो से साफ करें। हालांकि, ब्रश अधिक हार्ड नहीं होना चाहिए। प्यूमिक स्टोन की मदद से अपनी एड़ियों और तलवों को अच्छी तरह साफ करें। आप चाहें तो पूरे पैरों को स्क्रब करने के लिए लूफा या फिर रफ टॉवेल का इस्तेमाल कर सकती हैं। स्क्रब करने से पैरों में मौजूद जर्म्स आसानी से निकल जाएंगे। स्क्रब करने के बाद अपने पैरों को साफ पानी से धोएं और फिर टॉवेल की मदद से सुखाएं। अगर आपके नाखूनों को काटने की जरूरत है तो नेलकटर की मदद से काट ले । पैर के अंगूठे के नाखूनों को पूरी तरह से काटें। बढ़ते नाखूनों को रोकने के लिए पैर के नाखूनों को गोल ना करें। पैर के नाखूनों के क्यूटिकल्स को न काटें। उन पर क्रीम लगाएं और कॉटन बड से चारों ओर फैलाएं। वहीं पैरों और नाखूनों पर क्रीम अप्लाई करने के बाद कुछ देर अच्छी तरह से मसाज करें। इसे आप पैरों के क्यूटिकल्स में भी अप्लाई करें। नाखून साफ करने के लिए किसी तेज धार वाले इंस्ट्रूमेंट का इस्तेमाल ना करें। वहीं पैर की उंगलियों से टखनों तक मालिश के लिए ऊपर की ओर स्ट्रोक का उपयोग करें। इसके बाद पैरों को गीले तौलिये से पोंछे और फिर टेल्कम पाउडर का इस्तेमाल करें। आखिर में अगर आप नेल पॉलिश लगाना चाहती हैं तो उंगलियों के बीच में कॉटन लगाकर रखें। पहला कोट सूखने के बाद दूसरा कोट अप्लाई करें।

ALSO VISIT :

दीप माला गुप्ता

एडिटर: दीप माला गुप्ता

दीप माला गुप्ता रिपोर्टर, एंकर एवं वीडियो न्यूज़ एडिटर हैं। इन्होने जर्नलिजम में डिप्लोमा किया है। आप hindustan18.com के लिए रिपोर्टिंग एवं स्क्रिप्ट लिखने का कार्य करती हैं।

Next Post

क्या आप रोज शिवलिंग पर जल चढ़ाते है? भूल कर भी नहीं करना ये गलतियाँ

Thu Jul 15 , 2021
पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें.. क्या आप जानते हैं शिवलिंग पर जल चढ़ाने का सही तरीका अगर आप शिव जी को प्रसन्न करने के लिए शिवलिंग पर नियमित रूप से जल अर्पित करते […]
error: Content is protected !!