सावधान! कहीं अगला शिकार आप तो नहीं, दीपू गैंग के चंगुल में फंसे तो बच निकलने की उम्मीद न के बराबर

पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें..

लखनऊ: कानून को जेब मे रखने वाले शख्स की कहानी एक बार फिर से लौट आयी है। वह इंसान नहीं है सिर्फ इंसानों जैसा दिखता है लेकिन है बहुत ही चालक शिकारी। वह अकेला नहीं है, शिकार करने में उंसकी धर्मपत्नी चारे और फंदे का काम करती है। नेताओं के साथ फोटो, बाबाओं के साथ फ़ोटो, मंत्री जी के साथ फोटो, पुलिस कर्मियों के साथ फोटो। ठगी की ऐसी मकड़जाल बिछाता है कि अच्छे भले इंसान भी लालच का शिकार हो जाते हैं।

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष के साथ ठग दीपू मिश्रा / ठग दीपू मिश्रा की पत्नी पूर्व जिला पंचायत सदस्य उम्मीदवार रेखा, गोण्डा के सांसद कीर्ति वर्धन सिंह के साथ

नौकरी चाहिए, मिल जाएगी। अरे भाई सरकारी मिल जाएगी। ठेका पट्टा चाहिए बड़ा बड़ा, सब मिल जाएगा। चपरासी से लेकर जज तक को खरीदने की बात दीपू मिश्रा कई सारे नेताओं व बाबाओं के सम्पर्क मे रहता है। सफाई कर्मी से लेकर डीएम बनाने तक वाली सरकारी नौकरी। सब कुछ करवाता है यह शख्स जिसका नाम अवधेश कुमार मिश्रा उर्फ दीपू है। यह शख्स इतना शातिर है कि इसने लखनऊ से लेकर गोण्डा, बहराइच, श्रावस्ती व बलरामपुर तक मे अलग अलग काम के नाम पर ठगी की है। अभी कुछ दिन पहले ही जेल से बाहर आया है, वह भी जमानत पर। लेकिन आते ही फिर से बड़े बड़े कांड करने शुरू कर दिए।

अयोध्या दशरथ गद्दी के महंत के साथ ठग दीपू मिश्रा

जुर्म की कहानी नेताओं और बाबाओं के इर्दगिर्द रहकर लिखी जाती है

इसके अपराध में इसकी पत्नी रेखा की भी बड़ी भूमिका है। वह भी खुद को हिंदुओं की नेता, साज सेविका होने का दिखावा करती है जिससे कई पुलिस कर्मी, कई नेता व बाबा उसके प्रभाव में आ जाते हैं। उन्ही नेताओ, बाबाओं तथा पुलिस के अधिकारियों की फोटो का इस्तेमाल रेखा का पति दीपू ठगी के लिए करता है और भोले व लालची लोग ठगी के शिकार हो जाते हैं।

कुछ महीनों पहले गिरफ्तार हुए ठग की पूरी कहानी, न्यूज़ पेपर कटिंग

ताजा मामला लखनऊ के एक व्यक्ति के साथ 30 लाख की ठगी का बताया जा रहा है। इस सम्बंध में जब पत्रकार प्रदीप शुक्ला ने बात की तब पहले तो यह ठग पैसे देने को राजी हुआ लेकिन बाद में पत्रकार को ही धमकाने लगा।

एक तो चोरी ऊपर से सीना जोरी: ठग दीपू किस तरह से आवाज उठाने वाले पत्रकार को धमकी दे रहा है, यह बात पत्रकार द्वारा दिये गए तहरीर से साफ स्पष्ट है

पत्रकार बन्धु ने इसकी लिखित शिकायत थाना धानेपुर में की है जिसमे कार्यवाही चल रही है। मामलों की परतें खुलने से घबराकर ठग ने मीडिया बुलाई और खुद पर खतरा बताया। लेकिन जिले की मीडिया, पुलिस व आम जनता दीपू गैंग के कारनामे को भली भांति जान चुकी है। अब शायद जिले में भ्रष्टाचार करने वालों के विरुद्ध आवाजें बुंलद होने लगीं हैं जिसका परिणाम है दीपू जैसे ठग, चोरी ठगी व लूट करने वाले नेताओं को भी अपने मेहनत की खाने के लिए विवश होना पड़ रहा है।

नेताओं के साथ फोटो खिंचवाकर ठगी और पैसे मांगने पर धमकी

देखने वाली बात यह होगी कि इस ठगी गैंग को गोण्डा व लखनऊ की पुलिस कितनी गम्भीरता से लेती है। इससे पहले की कोई और इस गैग का शिकार हो जाए पुलिस को तुरंत एक्शन लेते हुए इसे गिरफ्तार करना होगा। सवाल वही उठ रहा है, बार बार उठ रहा है कि क्या ठग दीपू फिर से गिरफ्तार होगा? क्या गोण्डा कि पुलिस भी बहराइच पुलिस की तर्ज पर कार्य करेगी?
क्या यह व्यक्ति बार बार लोगों को इसी तर्ज पर अपना शिकार बनाएगा? या फिर पुलिस, मीडिया व जागरूक जनता इसके साथ कुछ ऐसा करेगी ताकि ठग दीपू व उसकी पत्नी रेखा अपनी मेहनत की कमाई खाना सीख सकेंगे।

हिन्दुतान 18 न्यूज़ रूम

एडिटर: हिन्दुतान 18 न्यूज़ रूम

यह हिन्दुतान-18.कॉम का न्यूज़ डेस्क है। बेहतरीन खबरें, सूचनाएं, सटीक जानकारियां उपलब्ध करवाने के लिए हमारे कर्मचारियों/ रिपोर्ट्स/ डेवेलोपर्स/ रिसचर्स/ कंटेंट क्रिएटर्स द्वारा अथक परिश्रम किया जाता है।

Next Post

मूर्ख व अज्ञानी के ख़िताब से नवाजे गये पत्रकार कैलाश नाथ वर्मा, जातिवादी रोग से भी हैं ग्रसित

Sun Oct 3 , 2021
पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें.. लव जेहाद में फंसी युवती की पहचान उजागर करने वाले पत्रकार की मान्यता निरस्त करने की उठी मांग गोण्डा: गोण्डा में लव जेहाद की वारदात हुई। वारदात में […]
error: Content is protected !!