शुभ समाचार- अब पी.एफ. के निष्क्रिय खातों पर भी मिलेगा ब्याज

epfoimgनई दिल्ली संवाददाता |  कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के सैंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज ने फैसला किया है कि जो पी.एफ. खाते  बंद पड़े हैं, उन पर भी ब्याज दिया जाएगा। देश में अभी लगभग  9 करोड़ पी.एफ. खातों के बंद होने की सूचना है क्योंकि वह लगातार नौकरियां बदलते रहते हैं।

बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज की 212वीं मीटिंग में फैसला
बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज की  मीटिंग के बाद श्रम मंत्री बंडारू दत्तात्रेय ने कहा कि निष्क्रिय पी.एफ. खातों पर भी 1 अप्रैल से ब्याज दिए जाने का नियम लागू कर हमने कामगारों के हित में फैसला लिया है। निष्क्रिय खाते या इनऑपरेटिव अकाउंट्स वह खाते होते हैं, जिनमें पिछले 36 महीनों यानी 3 सालों से ना ही कर्मचारी और ना ही कम्पनी की ओर से रकम डाले गए हों।
निष्क्रिय खातों में 44 हजार करोड़ रुपए
हालिया फैसले से समाज के बड़े तबके को फायदा होगा। लगातार नौकरियां बदलने वाले कर्मचारियों को इससे फायदा होगा। 2015-16 के इकोनॉमिक सर्वे के मुताबिक कुल 15 करोड़ पी.एफ. खातों में से 9 करोड़ से अधिक खाते निष्क्रिय पड़े हैं। इनमें 44 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा रकम जमा हो सकते हैं। ई.पी.एफ.ओ. अपने खाताधारकों को 3 साल के लिए बीमा कवर देने के प्रस्‍ताव पर भी विचार कर रही है।
दोबारा गठित होगी बोर्ड की सब कमेटी
इसके अलावा बोर्ड ने सब-कमेटी की सिफारिश पर संगठन के दोबारा गठित किए जाने को भी मजूरी दे दी है। दत्तात्रेय ने कहा कि केन्द्रीय कर्मचारी भविष्यनिधि कमिश्नर  के अधीन एक छोटी कमिटी एक महीने में सारी गड़बड़ियों को सुलझा लेगी। इसके बाद नए नियम पर काम शुरू हो जाएगा।

Hindi Desk
Author: Hindi Desk

Posted Under Uncategorized