अगर आप भी है परेशान सिगरेट के व्यसन से ,तो जानिए टिप्स

पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें..

अगर आप भी है परेशान सिगरेट के व्यसन से तो जानिए टिप्स

धूम्रपान छोड़ना आसान काम नहीं है। ऐसे में हम आपको चार आसान उपाय बताते है। जो किसी को भी स्‍मोकिंग से रख सकता है दूर

1. धीरे-धीरे करें शुरुआत

हमेशा ध्‍यान रखें कि सिगरेट की लत एकदम से नहीं छूटती। अगर आप चाहें तो कल से सिगरेट पीना बंद कर देंग। तो ऐसा पॉसिबल नहीं है ,आपकी नशे की लत ऐसा होने नहीं देती। धूम्रपान छोड़ने वालों के सामने अक्‍सर यह समस्‍या आती है। वह स्‍मोकिंग छोड़ने का मन तो बना लेते हैं, लेकिन उसे आगे नहीं बढ़ा पाते। इसीलिए जरूरी है। एक-एक कदम बढ़ाएं। यानी कि अगर दिन में पांच सिगरेट पीते हैं तो उसे 2 या 3 तक लाएं, फिर एक तक और कभी पूरे दिन सिगरेट न पीएं। एक दिन को दो, तीन और हफ्ते तक ले जाएं। आपको खुद अहसास होगा कि सिगरेट की लत कम होने लगी है।

2. रोल मॉडल को करें फॉलो

हर किसी का कोई न कोई रोल मॉडल जरूर होता है। हर इंसान चाहता है, वह उसके जैसा बने। ऐसे में सिगरेट छोड़ने के लिए रोल मॉडल को फॉलो करना बेहतर ऑप्‍शन होता है। क्‍योंकि आपको लगेगा कि मेरा चहेता सेलेब्रिटी स्‍मोक नहीं करता है तो मैं क्‍यों करूं। फिल्‍म इंडस्‍ट्री में ऐसे कई कलाकार हैं। जो एक समय चेन स्‍मोकर हुआ करते थे। लेकिन आज वह सिगरेट को हाथ नहीं लगाते। अब आप भी सोचिए, ये कलाकार स्‍मोकिंग को बॉय-बॉय बोल सकते हैं तो आप क्‍यों नहीं। अगर आप सोच लो तो आप कर सकते है।

3. कदम को मत लें वापस

किसी काम में तभी सफलता मिलती है जब उसे लगातार किया जाए। सिगरेट या तंबाकू छोड़ने की प्रक्रिया थोड़ी लंबी होती है। अगर पहली बार आपको सफलता नहीं मिली, तो उस पर विचार करिए आखिर कहां कमी रह गई। आप लगातार प्रयास करते जाएंगे तो एक दिन सफलता जरूर मिलेगी। अपने बातो पर अडिग रहिये।

4. शरीर और मन दोनों रखे फ्रेश

काई व्यक्ति सिगरेट तभी पीता है जब वह तनाव में होता है। या फिर कुछ लोग डर और चिंता के कारण सिगरेट के लती हो जाते हैं। या कुछ लोग शोख से भी पीते है। ऐसे में सबसे पहले हमें उन चीजों को दूर करना चाहिए, जो हमें सिगरेट पीने के लिए उकसाती हैं। अगर आपका खानपान सही से होगा, खाने में विटामिन और मिनरल्‍स की भरपूर मात्रा रहेगी तो आप टेंशन आदि से दूर रहेंगे। इसके अलावा मस्‍तिष्‍क को फ्रेश रखने के लिए डेली रूटीन में योगा और मेडिटेशन को शामिल करें, फिर देखिए शरीर स्‍वस्‍थ रहेगा तो आपका खुद ही सिगरेट पीने का मन नहीं करेगा। और आप छोर देंगे।

स्मोकिंग छोड़ने के घरेलू उपाय

स्मोकिंग छोड़ने के घरेलू उपाय भी है जिसकी मदद से आप स्मोकिंग छोड़ सकते है।

  1. सिगरेट या कोई भी लत छोड़ना है। तो उस माहौल से बचें जहां मन फिर से उसी दिशा में जाने को ललचाए। स्मोकिंग के मामले में दोस्तों की संगत सबसे अहम है। दोस्त लत छुड़वा सकते हैं तो सारे किए कराए प्रयासों पर पानी भी फेर सकते हैं। सिगरेट छोड़ने का सबसे कारगर घरेलू उपाय है सौंफ। जब भी सिगरेट पीने का मन करे, थोड़ी सौंफ फांक लें। इसी तरह अदरक और आंवले का इस्तेमाल किया जा सकता है। अदरक और आंवले को पीस कर सुखा लें और एक डिब्बे में भर लें। स्वाद बढ़ाने के लिए नींबू और नमक का इस्तेमाल कर सकते हैं। जब भी सिगरेट पीने का मन हो, यह मिश्रण फांक लें। इसके अलावा संतरा और अंगूर जैसे फलों का सेवन करें। सिगरेट की तलब को कंट्रोल करने में मदद करेंगे।
  2. मुलेठी एक जड़ी-बूटी है। जो सिगरेट की लत छुड़ा सकती है। इसका हल्का मीठा स्वाद धूम्रपान की इच्छा खत्म करने में मदद करता है। इससे खांसी में राहत मिलती है। यह टॉनिक का काम करता है। इससे थकान नहीं होती जो कि आमतौर पर सिगरेट पीने वालों का एक बहाना होता है।
  3. बहुत कम लोगों को पता है कि लाल मिर्च भी धूम्रपान छोड़ने में मदद करती है। एक गिलास पानी में छोटी सी चुटकी लाल मिर्च मिलाएं और रोज सेवन करें। ठंड में आजमाया जाने वाला एक और उपाय है मूली। मूली के छोटे-छोटे टुकड़े कर लें और इसका रस निकाल लें। इस रस में शहद मिलाएं और दिन में दो बार सेवन करें। अश्वगंधा भी धूम्रपान की इच्छा को दबाता है। यह एक टॉनिक के रूप में काम करता है।
  4. धूम्रपान छोड़ने में विशेष प्रकार की योगासनों को फायदेमंद बताया गया है। इनमें प्रमुख हैं – भुजंगासन, सेतुबंधासन, सर्वांगासन, बालासन। साथ ही कपालभाति नाड़ी शोधन और अनुलोम विलोम प्राणायाम और शरीर के विषैले तत्व निकलते हैं।

धूम्रपान छोड़ने के ये आसान घरेलू उपाय अपनाएं। यदि इसके बाद भी लत बनी रहती है तो डॉक्टर से मिलें। मनोवैज्ञानिक की मदद भी ले सकते हैं। जब भी सिगरेट पीने का मन करे तो इसके खतरों के बारे में याद करें और अपने परिवार के बारे में सोचें।

ALSO VISIT:

भारत में लॉन्च करेंगे Electric Scooters

आसानी से बनाये घर पर हेयर मास्क

शरीर में खून की कमी से है परेशान ,तो करे ये उपाय

दीप माला गुप्ता

एडिटर: दीप माला गुप्ता

दीप माला गुप्ता रिपोर्टर, एंकर एवं वीडियो न्यूज़ एडिटर हैं। इन्होने जर्नलिजम में डिप्लोमा किया है। आप hindustan18.com के लिए रिपोर्टिंग एवं स्क्रिप्ट लिखने का कार्य करती हैं।

Next Post

माइग्रेन : कारण, लक्षण, सावधानियाँ एवं घरेलु इलाज

Tue Jun 29 , 2021
पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें.. माइग्र्रेन का अर्थ हिंदी में – Migraine Meaning in Hindi माइग्रेन एक सर दर्द (सिरदर्द) का रोग है। जिसे आधा देखता है। सर दर्द भी कहते है, जो […]
error: Content is protected !!