KBC 2020: रांची पहुंचीं केबीसी में एक करोड़ जीतने वाली नाजिया, कहा- पैसे मिलने पर सोचेंगे क्‍या करना है

पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें..

सिनेमा की खबरें मुंबई से– रांची की रहने वाली कौन बनेगा करोड़पति में एक करोड़ रुपये जीतने वाली डोरंडा निवासी नाजिया नसीम सोमवार को 2:00 बजे एयर इंडिया के विमान से रांची एयरपोर्ट पहुंचीं। रांची एयरपोर्ट पर कृषि मंत्री बादल पत्रलेख ने बुके देकर नाजिया नसीम का स्वागत किया और निरंतर आगे बढऩे की कामना की। एयरपोर्ट पर पत्रकारों से बात करते हुए नाजिया ने कहा कि उन्होंने अभी यह नहीं सोचा है कि एक करोड़ रुपये कहां लगाने हैं। रुपये मिलने के बाद ही वह इस संबंध में प्लान करेंगी।

गौरतलब है कि नाजिया नसीम रांची में ही पली-बढ़ी हैं। उनके पिता नसीमुद्दीन सेल के सेवानिवृत्त अधिकारी हैं। नाजिया ने पत्रकारों को बताया कि उन्हें मां की प्रेरणा से यह सफलता मिली है। उनकी मां साल 2000 से ही बराबर कहती थीं कि उनका सपना है कि नाजिया कौन बनेगा करोड़पति में जाए। उन्होंने कहा कि मैंने अपनी मां के सपने को साकार किया है।

उन्होंने कहा कि जो लोग भी कौन बनेगा करोड़पति में कामयाबी हासिल करना चाहते हैं, उन्हें अपने इरादे पर मजबूती से खड़ा रहना चाहिए। उन्होंने अपनी कामयाबी को अद्भुत बताया। कहा कि जब उन्हें पता चला कि वह एक करोड़ रुपये जीत चुकी हैं तो उनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा। नाजिया ने कहा कि हमेशा उनके माता-पिता उन्हें आगे बढऩे की प्रेरणा देते रहे हैं।

सेट पर साधारण इंसान की तरह पेश आते हैं सदी के महानायक

अमिताभ बच्चन के बारे में नाजिया ने कहा कि वह सदी के महानायक जरूर हैं लेकिन लोगों के साथ बड़ी नरमी से पेश आते हैं और उनका बर्ताव इस प्रतियोगिता में शामिल होने वालों के लिए प्रेरणादायक साबित होता है। वह हौसले को टूटने नहीं देते, बल्कि इसे बनाए रखने में मदद करते हैं। वह सेट पर एक साधारण इंसान की तरह आते हैं और सामने बैठे इंसान से ऐसे घुल मिल जाते हैं जैसे लगता है कि सदी के महानायक उनके परिवार के ही हिस्सा हैं। नाजिया ने कहा कि वह ऐसे परिवार से हैं जहां बहुत सारी मजबूत इरादे वाली महिलाएं हैं और इन सभी की प्रेरणा व दुआएं उनके साथ हैं।

डीएवी श्यामली से प्‍लस टू करने के बाद जेवियर्स से किया ग्रेजुएशन

नाजिया नसीम ने कहा कि वह साल 2000 से लगातार कौन बनेगा करोड़पति के लिए कोशिश कर रही थीं। लेकिन इस बार उन्हें मौका मिला। नाजिया ने बताया कि उन्होंने डीएवी श्यामली से प्लस टू की पढ़ाई की है। इसके बाद ग्रेजुएशन संत जेवियर्स कालेज से किया। फिर वह दिल्ली चली गईं। दिल्ली में उन्होंने इंडियन इंस्टिट्यूट आफ मास कम्युनिकेशन से एडवरटाइजिंग और पब्लिक रिलेशन का कोर्स किया।

11 को पता चलेगा एक करोड़ वाला सवाल

उन्होंने एक करोड़ रुपये वाले आखरी सवाल के बारे में कुछ भी बताने से इन्कार कर दिया। उन्होंने कहा कि यह अभी सस्पेंस है। 11 नवंबर को जब इसका प्रसारण होगा, तब आप इसे देख सकते हैं। एयरपोर्ट पर नाजिया नसीम को लेने के लिए उनका पूरा परिवार आया था। उनकी मां बुशरा नसीम ने अपनी बेटी नाजिया को ढेर सारी दुआएं दीं।

नाजिया ने रांची का मान बढ़ाया : बादल पत्रलेख

कृषि मंत्री बादल पत्रलेख ने एयरपोर्ट पर ही नाजिया नसीम से मुलाकात कर उन्हें जीत की बधाई दी। इस मौके पर बादल पत्रलेख ने कहा कि नाजिया ने रांची का मान बढ़ाया है। रांची की अन्य महिलाओं को उनसे सबक लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि केबीसी में एक करोड़ रुपये जीतने के बाद नाजिया नसीम की जिम्मेदारी बढ़ गई है। अब वह रांची के लोगों को बताएं कि किसी भी प्रतियोगिता में कैसे सफल हुआ जा सकता है।

केबीसी के इस एपिसोड की शूटिंग गत अक्टूबर माह में हुई है और इसका प्रसारण 10 और 11 नवंबर की रात नौ बजे होगा। नाजिया लगातार 10 बार कोशिश करने के बाद वे कामयाब हुईं। गुड़गांव स्थित रॉयल इनफील्ड में ग्रुप मैनेजर इंटरनल कम्युनिकेशन के पद पर काम करने वाली नाजिया का 10 साल का एक बेटा है और वह भी अपनी मां की ही तरह तेज है। नाजिया की एक बहन और एक भाई है। बड़े भाई मुदस्सर नसीम एचडीएफसी बैंक में काम करते हैं और छोटी बहन अर्जुमंद नसीम भी निजी कंपनी में काम करती हैं। नाजिया को एक करोड़ रुपये जीतने की नहीं बल्कि मां के सपनों को साकार करने की खुशी है।

मुकेश कुमार

एडिटर: मुकेश कुमार

Hindustan18-हिंदी में सम्पादक हैं। किसान मजदूर सेना (किमसे) में राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी के पद पर तैनात हैं।

Next Post

पत्रकार और पुलिस ने लौटाई चेहरे की मुस्कान, लोग कर रहे सराहना !

Tue Nov 10 , 2020
पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें.. धानेपुर : गोंडा आपाथापी के इस दौर में जहाँ एक तरफ अपनी ज़रूरतों के लिए इंसान चोरी बेईमानी तक करने से गुरेज नही करता तो वहीं इस समाज […]
error: Content is protected !!