क्या सहेलियों से अपना प्रेम छिपाना चाहिए?

प्रश्न: क्या सहेलियों से अपना प्रेम छिपाना चाहिए?

लव गुरु आंटी का जवाब:

लगभग लगभग  हम सभी  अपनी फ्रैंड्स को अपनी जिंदगी में सबकुछ मानते हैं। चाहे खुशी का पल हो या फिर कोई गम का, हम हर बात उन से शेयर करना पसंद करते हैं। लेकिन जब बात बौयफ्रैंड के बारे में फ्रैंड्स को बताने की आती है तो हम इसे अपने तक ही सीमित रखना चाहते हैं, क्योंकि हम सोचते हैं कि यदि यह बात मैं ने फ्रैंड्स को बता दी तो चारों तरफ इस का ढिंढोरा पिट जाएगा। कहीं मेरी फ्रैंड्स ही उस की स्मार्टनैस देख कर उसे लाइन न मारने लगें या फिर मेरी चौइस का मजाक बनाने लगें। इसलिए इसे सीक्रेट बनाए रखते हैं। लेकिन जब उन्हें यही बात किसी और से पता चलती है या फिर वे अपनी आंखों से देख लेती हैं तो रिश्ते में दरार पैदा हो जाती है। ऐसे में भले आप अपने पूरे ग्रुप में यह बात शेयर न करें, लेकिन अपनी भरोसेमंद फ्रैंड्स से इस बात का जिक्र जरूर करना चाहिए। इस से आप को भी सही सलाह समयसमय पर मिलती रहेगी और उन्हें भी लगेगा कि आप वाकई उन्हें दिल से चाहती हैं।

फ्रैंड्स को बताने के क्या हैं फायदे?

रोमांटिक आइडियाज की होगी भरमार

हो सकता है आप की फ्रैंड्स पहले से ही रिलेशनशिप में हों। लेकिन आप का यह पहला मौका हो। ऐसे में गलती होना स्वाभाविक है, लेकिन यदि आप फ्रैंड्स को अपनी पहली डेट पर जाने की बात बताएंगी तो वे आप को एक से बढ़ कर एक रोमांटिक आइडियाज दे देंगी, जिस की शायद आप ने कल्पना भी न की हो।

जैसे फर्स्ट डेट पर खुद को रोमांटिक दिखाने के लिए वनपीस ड्रैस पहनें, खासकर रैड कलर की जिस से पार्टनर को आप को देख कर सैक्सी फील हो। गिफ्ट भी ऐसा दें जो दिल को छू जाए। इतना ही नहीं आप के मोबाइल की कौलर ट्यून भी रोमांस भरी हो ताकि जब आप को कौल करे तो रोमांटिक कौलर ट्यून सुन कर तुरंत ही आप से मिलने को बेताब हो उठे।

भले ही आइडियाज आप की फ्रैंड्स के हैं, लेकिन जब आप खुद उन्हें अपने पर अप्लाई करेंगी तो आप का पार्टनर यही सोचेगा कि उस की पार्टनर कितनी रोमांटिक है।

पार्टनर से बेझिझक मिलेंगी

अकसर जब आप अपनी फ्रैंड्स से ऐसी बातें छिपाती हैं तो आप के मन में डर बना रहता है कि कहीं फ्रैंड्स ने उस से मिलते हुए देख लिया तो क्या जवाब देंगी। ऐसे में पार्टनर से मिलने की खुशी से ज्यादा मन में राज खुलने का डर रहता है जिस से आप पार्टनर से खुल कर नहीं मिल पातीं।

अगर वह औफर भी करता है कि चलो थोड़ी देर वहां चलते हैं, तो आप का कहना सिर्फ यही होता है कि यार, वहां फ्रैंड्स का आनाजाना लगा रहता है इसलिए फिर किसी और दिन। ऐसे में बौयफ्रैंड भी नाराज हो सकता है। लेकिन अगर आप पहले से ही फ्रैंड्स को बता देंगी कि आज आप पार्टनर के साथ बिजी रहेंगी तो वे आप को बारबार फोन कर के डिस्टर्ब भी नहीं करेंगी। इस से आप अपने पार्टनर के साथ बेझिझक घूम पाएंगी।

प्रौब्लम्स में फंसने पर फ्रैंड्स कर लेंगी हैंडिल

आप की फैमिली कितनी भी मौडर्न क्यों न हो, लेकिन आप रिलेशनशिप में हैं, इस की भनक घर में नहीं लगने देतीं।

लेकिन यह भी सच है कि भले ही आप पेरैंट्स से बचने की कितनी ही कोशिश क्यों न करें, फिर भी उन्हें शक तो हो ही जाता है। ऐसे में फ्रैंड्स ही आप को मुसीबत से बाहर निकाल सकती हैं।

जैसे अगर आप कालेज टाइम में क्लास बंक कर के पार्टनर से मिलने गई हैं और इस बीच आप की फैमिली का कोई मैंबर आप को मिलने के बहाने कालेज आ जाए और आप वहां न मिलें तो ऐसे में आप का फंसना तय है। लेकिन अगर सभी फ्रैंड्स सीरियसली उन्हें एक ही बात कहें कि वह कालेज आई थी, लेकिन 2-3 दिन में प्रोजैक्ट जमा कराने की डैडलाइन मिलने के कारण उस से संबंधित बुक लेने के लिए जल्दी निकल गई, तो इस से उन्हें आप की बात पर विश्वास हो जाएगा।

बातचीत के दौरान ही कोई फ्रैंड इस की पूरी सूचना आप को मैसेज भी कर देगा, जिस से आप अलर्ट हो जाएं। लेकिन ऐसा तभी संभव हो पाएगा जब आप पहले ही फ्रैंड्स को सब बता देंगी।

छिपछिप कर नहीं करनी पड़ेंगी फोन पर बातें

फ्रैंड्स के साथ गौसिप चल रही है और आप अचानक फोन आते ही वहां से उठ कर चली जाएं और जब वापस आएं तो आप का चेहरा साफ बताए कि आप कुछ छिपा रही हैं। पूछने पर गुस्से वाले हावभाव दिखाने लगें।

फ्रैंड्स द्वारा मजाकमजाक में फोन मांगने पर भी एकदम से भड़क उठें कि यार, यह मेरी पर्सनल लाइफ है तुम कौन होती हो मेरा फोन मांगने वाली। वाशरूम में भी अपना फोन साथ ले कर जाएं ताकि कोई आप के मैसेज न पढ़ पाए।

इस से एक तो आप के बीच कम्युनिकेशन गैप बढ़ेगा वहीं दूसरी ओर आप डर के मारे कई बार फोन उठाने से भी कतराएंगी। इस से अच्छा है कि आप अपनी क्लोज फ्रैंड्स को बता दें कि यार, मुझे किसी से प्यार हो गया है ताकि जब कोई फोन या मैसेज आए, तब वे सहज रहें न कि यह जानने की इच्छा रखें कि आखिर आप बात किस से करती हैं।

इकोनौमिकली भी हैल्प मिलेगी

हो सकता है आप वर्किंग न हों और जो पौकेटमनी आप को मिलती हो उस में ही आप को सबकुछ मैनेज करना पड़ता हो। ऐसे में सिंगल हों तब तो कोई दिक्कत नहीं, लेकिन साथ में पार्टनर भी हो तो पौकेटमनी से गुजारा करना मुश्किल हो जाता है। साथ ही रोजरोज पार्टनर से खर्च करवाते रहो, यह भी अच्छा नहीं लगता।

कभीकभी खुद भी खर्च करने या फिर उसे गिफ्ट देने को दिल करता है, लेकिन तंगी के कारण चुप्पी साधनी पड़ती है। ऐसे में फ्रैंड्स ही आप की हैल्प कर सकती हैं। आप उन से बेझिझक कुछ पैसे मांग सकती हैं और वे भी आप की प्रौब्लम को समझेंगी। इस से आप की सैल्फ रिस्पैक्ट भी बनी रहेगी और आप के बौयफ्रैंड पर भी अच्छा प्रभाव पड़ेगा।

अवेयर भी करेंगी

कई बार हम इंसान को परखने में गलत साबित हो जाते हैं। हो सकता है कि जिस बौयफ्रैंड को आप सिर्फ अपना मानती हों उस का केवल आप से ही नहीं बल्कि कइयों से अफेयर हो और उस की इस हरकत को आप की कोई फ्रैंड भी जानती हो, क्योंकि वह उसे भी धोखा दे चुका है। ऐसे में जब आप उस के बारे में या फिर उस का फोटो फ्रैंड से शेयर करेंगी तो वह आप को सतर्क कर देगी।

भले ही आप अपनी फ्रैंड की बात पर विश्वास न करें, लेकिन जब उस के सतर्क करने पर आप भी नोटिस करना शुरू करेंगी तो हो सकता है कि आप के हाथ कोई ऐसा क्लू लग जाए जो आप के बौयफ्रैंड की पोल खोलने के लिए काफी हो। ऐसे में आप की जिंदगी तबाह होने से बच सकती है।

आप की भी उस की फ्रैंड होने के नाते निम्न जिम्मेदारियां बनती हैं :

न पीटें ढिंढोरा

भले ही आप के पेट में कोई बात न पचती हो, लेकिन इस बात को तो आप को अपने तक ही सीमित रखना होगा, क्योंकि जब आप की फ्रैंड ने आप पर विश्वास कर के अपना इतना बड़ा सीक्रेट आप से शेयर किया है तो फिर आप का भी तो फर्ज बनता है कि आप उस के विश्वास को न तोड़ें।

न बनाएं उस की चौइस का मजाक

हर इंसान की अपनी चौइस होती है। किसी को सिंपल लड़का पसंद होता है तो किसी को हैंडसम। इसलिए अपनी फ्रैंड की चौइस का बिलकुल मजाक न बनाएं, क्योंकि अगर आप उसे ऐसे कहेंगी कि यार, तू कहां और कहां तेरा काला बौयफ्रैंड, क्या पसंद आया तुझे इस लंगूर में? तो, उस समय भले ही वह आप के मुंह पर कुछ न कहे। लेकिन ऐसी हरकतों से आप उस की नजरों से जरूर गिर जाएंगी।

करैक्टर को न करें जज

अधिकांश लोगों की यही सोच होती है कि अगर किसी लड़की का बौयफ्रैंड है तो इस का मतलब उस का करैक्टर सही नहीं है।

अगर आप अपनी फ्रैंड के बौयफ्रैंड बनने से पहले उस से हर बात शेयर करती थीं तो अब भी उस के प्रति अपना पहले वाला ही व्यवहार रखें। यह सोच बिलकुल मन में न लाएं कि आप की फ्रैंड करैक्टरलैस है इसलिए अब इस से दोस्ती नहीं रखनी।

प्यार किसी को भी किसी से भी हो सकता है लेकिन इस का मतलब यह नहीं कि वह व्यक्ति चरित्रहीन है।

उस की लाइफ में न करें ताकाझांकी

आप से अपना सीक्रेट शेयर करने का यह मतलब नहीं कि आप उस की पर्सनल लाइफ में ताकाझांकी करनी शुरू कर दें कि वह किस से फोन पर बात कर रही है, फोन पर क्या बात चल रही है, यहां तक कि चोरी से उस का फोन भी चैक करने की कोशिश करें। ऐसा कर के आप अपनी ओछी मानसिकता को दर्शाएंगी।

कमैंट्स न करें

जब बौयफ्रैंड बनता है तो चाहे लड़की हो या लड़का दोनों के स्टाइल में चेंज आता ही है। अगर आप के फ्रैंड ने आप को इस बारे में बताया हुआ है तो बारबार यह बोल कर कि आजकल इस के जलवे तो देखो, रोज नएनए कपड़े.. क्या बात है? , जैसे कमैंट्स न मारें, क्योंकि इस से उसे काफी दुख पहुंचेगा और वह बाद में पछताएगी ही कि उस ने यह बात आप से शेयर ही क्यों की।

You may also Like:

हस्तमैथुन के 10 फायदे – Masturbation Benefits in Hindi

पुरुषों को नपुंसक बना सकता है स्मार्टफोन का अधिक प्रयोग

बच्चोें के मिट्टी खाने की आदत को छुड़ाने के लिए घरेलू उपाय

Hindi Desk
Author: Hindi Desk

Posted Under Uncategorized