गोण्डा- पूर्व बसपा नेता पप्पू सिंह परास का कोरोना से निधन, जयप्रकाश दूबे उर्फ जेपीभैया ने दी श्रद्धाजंलि, देखें पूरी खबर

पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें..

पप्पू सिंह परास का असामायिक निधन,महीनों से चल रहा था इलाज,जिले में बड़े राजनीतिक रसूख का अंत

गोण्डा संवाद- अभी पूर्व मंत्री पंडित सिंह के जाने के गम से गोण्डा उबरा भी नही था कि जिले के एक और नेता को कोरोना ने निगल लिया। बहुत ही कम समय जनपद में अपना नाम राजनीतिक ऊंचाइयों पर ले जाने वाले बेलसर ब्लाक के पूर्व प्रमुख, पूर्व व जनप्रिय नेता पप्पू सिंह परास का आज रात्रि में असामायिक निधन हो गया। उनके निधन की खबर से पूरे जिले में शोक व्याप्त है।

खबरों के अनुसार इन्द्र बहादुर सिंह उर्फ पप्पू परास लगभग 48 वर्ष के थे। पप्पू सिंह परास करीब एक महीने से अस्वस्थ चल रहे थे जिनका इलाज लखनऊ के मेदांता हॉस्पिटल में चल रहा था। परिजनों के काफी प्रयास व महीनों तक मौत से संघर्ष करने के बाद उन्होंने बीती रात्रि में अन्तिम सांस लेकर इस दुनिया को छोड़ दिया।

जिले के युवा किसान मजदूर नेता जयप्रकाश दूबे उर्फ जेपीभैया ने दी है श्रद्धाजंलि

इस दुःखद अवसर पर जिले के युवा किसान मजदूर नेता जयप्रकाश दूबे उर्फ जेपीभैया ने पप्पू सिंह परास के निधन पर श्रद्धांजलि दी है। किसान मजदूर सेना के संस्थापक एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष जयप्रकाश दूबे उर्फ जेपीभैया ने कहा कि पप्पू सिंह परास को उनके संघर्षों के लिए याद किया जाता रहेगा।

मालूम हो कि अपनी अनोखी छबि के चलते पप्पू सिंह परास जिला पँचायत सदस्य की सीट पर लगातार काबिज रहे चाहे सीट सामान्य रही हो या आरक्षित रही। उसके अतिरिक्त अपनी जनप्रिय व अति सहज कार्यशैली से दो बार बेलसर ब्लाक के प्रमुख पद पर अपना वर्चस्व कायम किया। इनके आसामयिक निधन के बाद जिले में दूसरे राजनीतिक रसूख का अंत माना जा रहा है। पप्पू सिंह परास के असामयिक निधन से पूरे जिले में शोक की लहर व्याप्त है ।

वर्ष 2017 में हुए विधानसभा चुनाव में पप्पू परास बसपा के सिंबल पर चुनाव लड़े थे। उनके परिवार मेंं इनकी पत्नी, एक लड़की और एक लड़का मयंक है जो पुणे से एमबीबीएस कर रहा है।

हिन्दुतान 18 न्यूज़ रूम

एडिटर: हिन्दुतान 18 न्यूज़ रूम

यह हिन्दुतान-18.कॉम का न्यूज़ डेस्क है। बेहतरीन खबरें, सूचनाएं, सटीक जानकारियां उपलब्ध करवाने के लिए हमारे कर्मचारियों/ रिपोर्ट्स/ डेवेलोपर्स/ रिसचर्स/ कंटेंट क्रिएटर्स द्वारा अथक परिश्रम किया जाता है।

Next Post

विश्व विख्यात कविराज एवं वैद्य श्री आत्माराम दूबे जी का निधन

Thu May 20 , 2021
पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें.. गोरखपुर- कविराज व जाने माने वैद्य का निधन हो गया है। शहर के प्रतिष्ठित वैद्य अरुण श्रीवास्तव ने अपने गुरु वैद्य आत्माराम दुबे के निधन पर शोक व्यक्त […]
error: Content is protected !!