क्या युवराज की जगह लेगे IPL के पहले शतकवीर ??

manishटी-20 विश्व कप में भारतीय क्रिकेट टीम को उस समय बड़ा झटका लगा जब मोहाली में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच में चोट लगने की वजह से स्टार ऑलराउंडर युवराज सिंह को विश्व कप से बाहर होना पड़ा। युवराज की जगह टीम में मनीष पांडेय को मौका दिया गया है। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में भले ही मनीष का करियर ज्यादा लंबा नहीं रहा है, लेकिन आईपीएल में उन्होंने शानदार खेल दिखाया है,

26 साल के मनीष टॉप ऑर्डर के दाएं हाथ के बल्लेबाज और दाएं हाथ के मध्यम गति के गेंदबाज हैं। वे भारतीय टीम के लिए टी-20 और वनडे मैच खेल चुके हैं।

मनीष पांडे सेना में पूर्व कर्नल रह चुके केएन पांडे के पुत्र हैं और मनीष को अपने पिता से दुश्मन को मुंहतोड़ जवाब देने की कला विरासत में मिली है।

किसी भारतीय खिलाड़ी द्वारा आईपीएल में पहला शतक लगाने का रिकार्ड मनीष पांडेय के नाम पर रहा है। रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के लिए खेलते हुए पांडेय ने डेक्कन चार्जर्स के खिलाफ 2009 के आईपीएल के दूसरे संस्करण में पहला शतक जमाया था।

मनीष पांडे ने आईपीएल 2014 के फाइनल में 50 गेंदों पर 94 रनों की पारी खेल शाहरुख खान की टीम कोलकाता नाइटराइडर्स को आईपीएल चैंपियन बना दिया था।

मनीष पांडे ने अंडर-19 क्रिकेट में भी अपनी खेल की छाप छोड़ी है वो 2008 में मलेशिया में विराट कोहली के नेतृत्व में वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम के अहम सदस्य थे।

79 छक्कों के सहारे 50.37 के औसत से 5088 रन हैं। इस फॉर्मेट में उन्होंने 218 रन उनका सर्वोच्च स्कोर है। साथ ही उनके नाम 16 शतक और 22 अर्धशतक भी हैं।

टी20 के अन्य लीग मैचों में (जो अंतरराष्ट्रीय नहीं हैं) उन्होंने 125 मैचों की 119 पारियों में 115.84 के स्ट्राइक रेट से 2654 रन हैं, जिसमें 1 शतक और 11 अर्धशतक भी शामिल हैं।

इस दौरान उन्होंने 248 चौके और 67 छक्के लगाए हैं। वहीं 7.57 की इकॉनमी से 10 विकेट भी ले चुके हैं, इसमें दो बार चार-चार विकेट भी लिए हैं।

आईपीएल में शतक लगाने वाले पहले भारतीय होने का रिकॉर्ड भी उनके नाम है। इसके अलावा पांच अर्धशतक भी लगा चुके हैं।

आईपीएल में मनीष पांडे अब तक 152 चौके और 43 छक्के भी लगा चुके हैं।

जाहिर है यह रिकॉर्ड यह बताने के लिए काफी है कि मनीष पांडे कल कैसे वेस्टइंडीज के लिए जीत का रोड़ा बन सकते हैं।

Hindi Desk
Author: Hindi Desk

Posted Under Uncategorized