दो बीघा जमीन बन गयी इस महिला के हत्या की वजह

पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें..

प्रताणित जेठ ने की चाकू से गला रेत कर हत्याडा

यल 112 में तैनात सिपाही पर भी लगा है हत्या में सहयोग का आरोप

फरूखाबाद– दूसरे की जमीन को हडपने की चाहत किस तरह किसी की मौत की वजह बन सकती है इसकी बानगी देखनी हो तो फरूखाबाद में घटी इस घटना पर गौर करना चाहिए जहां अपने बुरी तरह से प्रताणित जेठ ने अपने भाई की पत्नी को चाकू से गला रेल कर मौत के घाट उतार दिया।

घटना विगत शुक्रवार की है। पुलिस गिरफत में आये मृतका के जेठ ने जिले के फतेहगढ कोतवाली अन्र्तगत गावं राजा का नगला निवासी अजु यादव की हत्या की बात को कबूल करते हुए जो कहानी बतायी उसे सुनकर एक बार तो अंजू यादव की हत्या का किसी को भी शोक नही होगा। जेठ राकेश यादव उर्फ दुर्गपाल यादव ने बताया कि अंजू उसकी दो बीधा जमीन केा हडपना चाहती थी जिसके लिए वह उसे बार बार प्रताणित भी करती थी। राकेश ने बताया कि वह उससे इतना प्रताणित हो चुका था कि उसने घर जाना छोड दिया था, वह खेत पर ही सोता था।

राकेश ने बताया कि उसकी शादी नही हुयी है, भाइयों मेें बटंवारा हो चुका था, उसके हिस्से की दो बीघा जमीन को भी अंजू अपने नाम कराना चाहती थी। इसी मामले को लेकर एक वर्ष पूर्व मारपीट भी हो चुकी थी। मारपीट के बाद से वह लगातार उसके विरूद्व पुलिस में छेडछाड, मारपीट, गालीगलौज के झूठे आरोप लगाकर शिकायत करती रहती थी। राकेश ने बताया कि अंजू उसे ही नही बल्कि जो भी मेरा किसी भी प्रकार से सहयोग करता था उस पर भी वह ऐसे ही आरोप लगा देती थी।

मिल रही जानकारी के मुताबिक राकेश शुक्रवार को अपने खेत पर था उसके पास तरबूज और चाकू रखा हुआ था। थोडी देर बात अंजू वहां से गुजरी, उसने राकेश केा देखते ही गाली देना शुरू कर दिया। बार बार के इस तमाशे से बुरी तरह गुस्साये राकेश ने चाकू से अंजू पर वार कर दिया। लगातार किये गये वार से अंजू का सिर धड से अलग हो गया। राकेश ने बताया कि वह पुलिस के पास हाजिर होने जा रही रहा था कि पुलिस ने उसे गिरफतार कर लिया।

वही पुलिस ने इस मामले मे अंजू के पति रामपाल यादव की तहरीर पर राकेश, सोनपाल, डायल 112 मेें तैनात सिपाही संजय, विक्की, पिन्टू के विरूद्व मुकदमा दर्ज कर लिया हैं।

हिन्दुतान 18 न्यूज़ रूम

एडिटर: हिन्दुतान 18 न्यूज़ रूम

यह हिन्दुतान-18.कॉम का न्यूज़ डेस्क है। बेहतरीन खबरें, सूचनाएं, सटीक जानकारियां उपलब्ध करवाने के लिए हमारे कर्मचारियों/ रिपोर्ट्स/ डेवेलोपर्स/ रिसचर्स/ कंटेंट क्रिएटर्स द्वारा अथक परिश्रम किया जाता है।

Next Post

यूपी : प्रदेश में ब्लैक फंगस के एक हजार मरीज, 54 की निकाली गईं आंखें, 80 की मौत

Mon May 31 , 2021
पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें.. मरीजों की संख्या एक हजार के करीब पहुंची अब तक इसका मुकम्मल इलाज ठीक से शुरू नहीं हो सका बड़े शहरों में तो तत्काल इलाज मिल भी रहा […]
error: Content is protected !!