Rajkumar Rao को थी 20 हजार की जरूरत और बैंक में थे 18 रुपये, फिर ‘लव, सेक्स और धोखा’ ने बदली किस्मत

पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें..

Rajkumar Rao को थी 20 हजार की जरूरत और बैंक में थे 18 रुपये, फिर ‘लव, सेक्स और धोखा’ ने बदली किस्मत

बॉलीवुड एक्टर राजकुमार राव (Rajkumar Rao Birthday) आज अपना 37वां जन्मदिन मना रहे हैं।  एक्टर ने अपने फिल्मी करियर में खूब मेहनत की है, उन्हें कई बार उनके रंग-रूप को लेकर ही खूब ताने सुनने को मिलते थे।  आज उनके जन्मदिन पर हम आपको उनके स्ट्रगल से रूबरू करवाएंगे।

राजकुमार राव ने किया है खूब स्ट्रगल

बॉलीवुड एक्टर राजकुमार राव (Rajkumar Rao) आज इंडस्ट्री का जाना-माना नाम हैं।  एक्टर की हर फिल्म परदे पर कमाल कर जाती है और उनकी एक्टिंग ने तो हर बार लोगों को अपना दीवाना बनाया है। लेकिन एक आम लड़के से एक्टर बनने का सफर आसान नहीं था । राजकुमार के स्ट्रगल के दिनों की कहानी जानकर आप भी हैरान रह जाएंगे।

37 साल के हुए राजुकमार

राजकुमार राव (Rajkummar Rao) आज 37 साल के हो गए हैं। उनका जन्म 31 अगस्त 1984 को गुड़गांव के अहीरवाल में हुआ था।  दिल्ली विश्वविद्यालय के आत्माराम सनातन धर्म कॉलेज से ग्रेजुएशन और भारतीय फिल्म और टेलिविजन संस्थान से पढ़ाई करने के बाद राजकुमार फिल्म इंडस्ट्री में अपनी किस्मत आजमाने के लिए मुंबई पहुंचे थे। यहां उनको बड़ी मुश्किलों को सामना करना पड़ा था।

बैंक में थे 18 रुपये

राजकुमार राव (Rajkummar Rao) को सफलता इतनी आसानी से नहीं मिली। उन्होंने अपने कई इंटरव्यू में कहा है कि उन्हें कई बार रिजेक्शन का सामना कर पड़ा.था।  तब जेब में पैसे भी नहीं हुआ करते थे। एक इंटरव्यू में राजकुमार ने कहा था मैं अपने हिस्से से सात हजार रुपये देता था जो मेरे लिए बहुत ज्यादा था। हर महीने 15-20 हजार रुपये की जरूरत होती थी। एक बार मेरे खाते में सिर्फ 18 रुपये थे और मेरे दोस्त के पास 23 रुपये थे।

टीचर्स ने भरी थी फीस

राजकुमार राव  ने बताया था कि पैसों की तंगी के चलते उनके टीचर्स ने दो साल तक उनकी फीस भरी थी। मुंबई में वो अपने दोस्त की बाइक से ऑडिशन देने जाया करते थे। वो नहीं जानते थे कि अच्छा दिखने के लिए क्या पहनना होता है।  इन सब बातों की परवाह किए बिना राजकुमार चेहरे पर गुलाब जल लगा लेते थे और सोचते थे कि इससे वो अच्छे दिखने लगेंगे।

सांवला रंग होने की वजह से नहीं मिला लीड रोल

राजकुमार राव ने साल 2017 में एक इंटरव्यू दिया था। इस दौरान ऐक्टर ने खुलासा किया कि कैसे एक डायरेक्टर ने उन्हें फेयर न होने और पर्याप्त मसल्स न होने के चलते रिजेक्ट कर दिया था। उन्होंने कहा, ‘जब मैं 7 साल पहले मुंबई में काम की तलाश में आया था तब आज की तरह नहीं दिखता था।  मैंने एक डायरेक्टर को ऑडिशन दिया, जो अपनी पहली फिल्म बना रहा था।  डायरेक्टर ने मेरे टेस्ट को पसंद किया और मुझसे कहा कि ऐक्टिंग ठीक है लेकिन मैं आपको लीड रोल नहीं दे सकता क्योंकि इसके लिए फेयर और अच्छी मसल्स होनी चाहिए।  लेकिन क्या आप मेरी फिल्म में एक छोटा किरदार निभाना चाहते हैं? मैंने उनकी फिल्म इसलिए नहीं की क्योंकि मैं उनकी फिल्ममेकिंग की थिअरी से सहमत नहीं था। ‘

राजकुमार ने बदली नाम की स्पेलिंग

राजकुमार राव (Rajkummar Rao)को बॉलीवुड में पहला ब्रेक फिल्म ‘रण’, ‘लव सेक्स और धोखा’ और ‘रागिनी एमएमएस’ जैसी फिल्मों से मिला लेकिन उन्हें पहचान फिल्म ‘काई पो छे’ से मिली। फिल्मी करियर के शुरुआत में जब राजकुमार को सफलता नहीं मिली, तो उन्होंने अपनी मां के कहने पर अपने नाम की स्पेलिंग बदल दी और Rajkumar Rao की जगह Rajkummar Rao लिखने लगे।  वैसे उनका असली नाम राजकुमार यादव है। राजकुमार (Rajkummar Rao) को अपना हर रोल शिद्दत से करने की आदत है।  ‘शाहिद’ में उन्होंने वकील शाहिद आजमी का किरदार ऐसा निभाया कि उन्हें राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया।  ‘न्यूटन’ में वो चुनाव अधिकारी बने तो ‘बरेली की बर्फी’ में प्रीतम विद्रोही. राजकुमार का हर किरदार एक दूसरे से जुदा रहा। यही वजह है कि आज उनका एक अलग दर्शक वर्ग और इसमें वो सुपरहिट हैं।

ALSO VISIT:

परम्परागत रूप से धानेपुर में मनाया गया श्री कृष्ण जन्मोत्सव कार्यक्रम

कोरोना वैक्सीन लगने से महिला को आया हार्ट अटैक, टीके से न्यूजीलैंड में हुई पहली मौत

मथुरा में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर बोले सीएम योगी- जो पहले खुशियों पर लगाते थे बंदिशें, अब देते हैं बधाई

दीप माला गुप्ता

एडिटर: दीप माला गुप्ता

दीप माला गुप्ता रिपोर्टर, एंकर एवं वीडियो न्यूज़ एडिटर हैं। इन्होने जर्नलिजम में डिप्लोमा किया है। आप hindustan18.com के लिए रिपोर्टिंग एवं स्क्रिप्ट लिखने का कार्य करती हैं।

Next Post

स्वर्गीय श्री कल्याण सिंह मुझसे कहा था कि आप जब तक, जीना तब तक सीखना क्योंकि अनुभव ही जगत में सर्वश्रेष्ठ शिक्षक है - ध्रुव नारायण अधिवक्ता

Tue Aug 31 , 2021
पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें.. राजीव त्रिपाठी, गोरखपुर- भूतपूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय श्री कल्याण सिंह की पुण्यतिथि दिवस 1 सितंबर को है लेकिन संपूर्ण प्रदेश में 31 अगस्त को मनाई जा रही है उनकी […]
error: Content is protected !!