रेखा की हत्या का खुलासा: पैसों के लेनदेन व अन्य व्यक्ति से संबंध के चलते प्रेमी ने ही उतार दिया था मौत के घाट

पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें..

अहमदाबाद- 6 जुलाई को शहर के खोखरा थाना इलाके में अनुपम सिनेमा के सामने मोहन एस्टेट स्थित एक कारखाने (शेड) की छत से बरामद हुई अज्ञात महिला के शव की गुत्थी को क्राइम ब्रांच ने सुलझाने का दावा किया है। क्राइम ब्रांच ने इस मामले में शनिवार को इरफान खान (३६) नाम के युवक को पकड़ा है। वह मूलरूप से उत्तरप्रदेश के संतकबीरनगर जिले की घनगटा तहसील के खेरा गांव का रहने वाला है। अहमदाबाद में खोखरा में ही मोहन एस्टेट के कारखाने में रहता है।

मृतक महिला की पहचान रेखा के रूप में हुई है। आरोपी को क्राइम ब्रांच की टीम ने सूचना के आधार पर रखियाल हसन शहीद दरगाह की गली में चाय की किटली के पास से पकड़ा है।

आरोपी की पूछताछ में सामने आया कि आरोपी और मृतक महिला के बीच बीते 15 सालों से प्रेम संबंध थे। आरोपी के अनुसार उसने रेखा को २०१९ में दो लाख रुपए रखने के लिए दिए थे लेकिन रेखा ने उन्हें खर्च कर दिया। इसके अलावा उसे पता चला कि रेखा के उसके अलावा अन्य व्यक्ति के साथ भी संबंध हैं।

अहमदाबाद में महिला की हत्या का खुलासा
महिला की हत्या करने वाले अभ्युक्त के साथ क्राइम ब्रांच

इस पर उसने रेखा को मोहन एस्टेट के जिस कारखाने में वह रहता था वहां मिलने के लिए बुलाया था। वहां रेखा के आने पर दोनों के बीच पैसों और अन्य व्यक्ति के संबंध की बात को लेकर झगड़ा हो गया। जिस दौरान आवेश में आकर आरोपी ने रेखा का पहले गला दबा दिया और नीचे गिरा दिया। जिससे उसके सिर में चोट लग गई। उसके बाद उसने रेखा के पेट में चाकू से वार कर उसकी हत्या कर दी। रेखा के शव को कारखाने की छत पर रखी काले रंग की पानी की टंकी में डाल दिया। रेखा के दो मोबाइल फोन लेकर फरार हो गया। आरोपी के पास से मृतका के दोनों मोबाइल फोन भी बरामद कर लिए हैं। मामला खोखरा थाने में दर्ज है जिससे आरोपी को आगे की जांच के लिए खोखरा पुलिस को सौंप दिया है।

हिन्दुतान 18 न्यूज़ रूम

एडिटर: हिन्दुतान 18 न्यूज़ रूम

यह हिन्दुतान-18.कॉम का न्यूज़ डेस्क है। बेहतरीन खबरें, सूचनाएं, सटीक जानकारियां उपलब्ध करवाने के लिए हमारे कर्मचारियों/ रिपोर्ट्स/ डेवेलोपर्स/ रिसचर्स/ कंटेंट क्रिएटर्स द्वारा अथक परिश्रम किया जाता है।

Next Post

इस तरह छपी थी दुनिया की पहली किताब - जानें किताब की कहानी

Sun Jul 11 , 2021
पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें.. आज छपी हुई किताबें बाज़ार में आसानी से और कम कीमतों पर मिल जाती हैं, पर पहले ऐसा नहीं था। किसी एक किताब को पाने के लिए महीनों […]
error: Content is protected !!