सागर राणा मर्डर केस – वीडियो से हुआ खुलासा, सुशील कुमार ने की थी पिटाई, जांच में हुई पुष्टि

पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें..

दिल्ली-एनसीआर- दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में झगड़े के दौरान पहलवान सागर राणा मर्डर केस में फरार मुख्य आरोपी ओलंपिक पदक विजेता पहलवान सुशील कुमार के बारे में नया खुलासा हुआ है। फॉरेंसिक साइंस लैब ने अपनी रिपोर्ट में मोबाइल की उस वीडियो फुटेज को सही ठहराया है जिसमें सुशील अपने साथियों के साथ सागर की पिटाई करता दिख रहा है।

आरोप है कि चार मई की रात सुशील एवं उसके साथियों ने 23 साल के सागर राणा सहित चार लोगों का अपहरण कर छत्रसाल स्टेडियम में जमकर पिटाई की थी। हमलावरों में से एक प्रिंस दलाल ने इस घटना का वीडियो बना लिया था। जब पुलिस मौके पर पहुंची तो सभी भाग निकले, लेकिन प्रिंस पकड़ा गया। तलाशी के दौरान उसके पास से मोबाइल फोन मिला। फोन में कुछ वीडियो मिले जिसमें सुशील कुमार अपने साथियों के साथ पिटाई करते हुए दिखाई दे रहा है।

वीडियो से छेड़छाड़ नहीं : फॉरेंसिक साइंस लैब की रिपोर्ट में बताया गया कि घटना वाले दिन बनाया गया वीडियो प्रमाणिक है और इसके साथ कोई छेड़छाड़ नहीं की गई है।

फरार पहलवान को लेकर कई दावे

इस बीच, गुरुवार को एक सीसीटीवी फुटेज वायरल हो गई जिसमें सुशील सफेद कार में बैठा दिख रहा है। पुलिस ने बताया कि यह फुटेज 6 मई की है, जिसमें उसकी कार मेरठ टोल से गुजर रही है। इसमें सुशील मास्क लगाए ड्राइवर के बगल में बैठा है। सुशील 5 मई को हरिद्वार चला गया था फिर वापस दिल्ली की तरफ रवाना हो गया।

सुशील पर एक लाख रुपये का इनाम घोषित

दिल्ली पुलिस ने सुशील कुमार की सूचना देने पर एक लाख रुपये का इनाम देने की सोमवार को घोषणा की थी। एक वरिष्ठ पुलिस इंस्पेक्टर ने कहा कि मामले में फरार चल रहे कुमार के साथी अजय कुमार की गिरफ्तारी पर भी 50 हजार रुपये का इनाम घोषित किया गया है। पिछले सप्ताह दिल्ली की एक अदालत ने छत्रसाल स्टेडियम विवाद मामले में सुशील कुमार और छह अन्य लोगों के खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी किए थे। इससे कुछ दिन पहले इसी मामले में सुशील कुमार के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया गया था। पुलिस ने इस मामले में पीड़ितों के बयान पहले ही दर्ज कर लिए हैं। यह झगड़ा दिल्ली के मॉडल टाउन इलाके में एक फ्लैट खाली करने को लेकर हुआ था।

इससे पहले एक पुलिस अधिकारी ने बताया था कि सुशील कुमार का नाम भी एफआईआर में दर्ज है और वह फरार है, उसे पकड़ने के प्रयास किए जा रहे हैं। सुशील को पकड़ने के लिए दिल्ली-एनसीआर और पड़ोसी राज्यों में छापे भी मारे गए थे।

पुलिस के मुताबिक, इस विवाद में सुशील कुमार, अजय, प्रिंस दलाल, सोनू, सागर, अमित और अन्य लोग शामिल थे। पुलिस ने इस संबंध में भारतीय दंड संहिता और आर्म्स एक्ट की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है। पुलिस हरियाणा के झज्जर के रहने वाले प्रिंस दलाल (24) को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है

हिन्दुतान 18 न्यूज़ रूम

एडिटर: हिन्दुतान 18 न्यूज़ रूम

यह हिन्दुतान-18.कॉम का न्यूज़ डेस्क है। बेहतरीन खबरें, सूचनाएं, सटीक जानकारियां उपलब्ध करवाने के लिए हमारे कर्मचारियों/ रिपोर्ट्स/ डेवेलोपर्स/ रिसचर्स/ कंटेंट क्रिएटर्स द्वारा अथक परिश्रम किया जाता है।

Next Post

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने केंद्र के समक्ष रखी 4 मांगे, बोले- युवाओं के लिए क्या बोले सीएम?

Sat May 22 , 2021
पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें.. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कोरोना की इस लहर में युवा बहुत प्रभावित हुए हैं। युवाओं के लिए वैक्सीन बहुत जरूरी है। वैक्सीन नहीं मिलने पर युवाओं […]
error: Content is protected !!