नये मंत्रिमंडल में सात महिलाओं ने ली शपथ, कोई पहली बार में ही बनी मंत्री तो कुछ बिना शादी की

पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें..

नई दिल्ली: आगामी समय में कई राज्यों के चुनाव होने वाले हैं जिसमें भारतीय जनता पार्टी जीत हासिल करने के लिए नाराज चल रहे नेताओं को मंत्रिमंडल में जगह दी है। इसी क्रम भारतीय जनता पार्टी ने जातीय समीकरण को साधते हुए मंत्रालय सौंपा है।

मोदी कैबिनेट में बुधवार को 43 मंत्रियों को शपथ दिलायी गयी है। जिनमें सात महिलाओं को मंत्री के पद और गोपनीयता की शपथ दिलायी गयी है। इसके साथ ही मंत्रिमंडल में महिला मंत्रियों की संख्या बढ़ कर 11 हो गयी है। बताते चलें कि महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्री व पश्चिम बंगाल के रायगंज से सांसद देबाश्री चौधरी से इस्तीफा ले लिया गया है।

निर्मला सीतारमण और स्मृति जुबिन ईरानी अब भी मंत्रिमंडल में शामिल

मोदी मंत्रिमंडल में दो महिला मंत्री कैबिनेट में शामिल हैं। इनमें वित्त और कॉर्पोरेट कार्य मंत्री निर्मला सीतारमण और महिला एवं बाल विकास और वस्त्र मंत्री स्मृति जुबिन ईरानी शामिल हैं। वहीं, ग्रामीण विकास मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति और जनजातीय कार्य मंत्री रेणुका सरुता राज्यमंत्री के तौर पर मंत्रिमंडल में शामिल हैं। मालूम हो कि खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री रहीं शिरोमणि अकाली दल की सांसद हरसिमरत कौर बादल ने सितंबर माह में ही मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया था।

पूर्वांचल की जातीय समीकरण साध राजनीति करने वाली नेता अनुप्रिया सिंह पटेल को मंत्रालय

नये मंत्रिमंडल में उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर लोकसभा क्षेत्र से अपना दल की सांसद अनुप्रिया सिंह पटेल को मंत्री पद की शपथ दिलायी गयी है। वहीं, झारखंड के कोडरमा से सांसद अन्नपूर्णा देवी को भी मंत्री बनाई गई हैं। भाजपा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अन्नपूर्णा देवी राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव की करीबी मानी जाती थीं। लेकिन, पिछले लोकसभा चुनाव से पहले भाजपा में दलबदलू होकर शामिल हो गयी थीं।

दिल्ली बीजेपी की युवा नेता मीनाक्षी लेखी बनीं मंत्री, गुजरात से दर्शन विक्रम जर्दोश का सांसद के रूप में तीसरा कार्यकाल

भाजपा की युवा नेताओं में शामिल मीनाक्षी लेखी लगातार दो बार सांसद रह चुकी हैं। साल 2014 और 2019 के लोकसभा चुनाव में उन्होंने जीत दर्ज की है। पेशे से अधिवक्ता मीनाक्षी लेखी प्रखर वक्ता हैं। मीनाक्षी लेखी सांसद बनने से पूर्व प्रवक्ता के तौर पर कई मंचों पर भारतीय जनता पार्टी का पक्ष रखती रही हैं। वहीं, गुजरात के सूरत से सांसद दर्शन विक्रम जर्दोश को मंत्री पद की शपथ दिलायी गयी है। सांसद के रूप में यह उनका तीसरा कार्यकाल है। सूरत नगर निगम की पार्षद और गुजरात कल्याण बोर्ड की सदस्य रह चुकी दर्शन विक्रम जर्दोश करीब चार दशकों से सामाजिक जीवन में हैं।

संघ में जुड़ने के कारण शोभा करंदलाजे ने नहीं की शादी, डॉ. भारती प्रवीण पवार के पास है एमबीबीएस की डिग्री

कर्नाटक के उडुपी चिकमंगलूर लोकसभा क्षेत्र से भाजपा सांसद शोभा करंदलाजे को मोदी मंत्रिमंडल में शामिल किया गया है। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़ने के कारण शोभा करंदलाजे ने शादी तक नहीं की है। वह साल 2014 और 2019 में लोकसभा चुनाव में जीत हासिल की हैं। महाराष्ट्र के डिंडोरी लोकसभा क्षेत्र से डॉ भारती प्रवीण पवार पहली बार लोकसभा पहुंची हैं। उनके पास एमबीबीएस की डिग्री भी है। आदिवासी समाज से आनेवाली डॉ भारती पवार भी केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल हो गयी हैं।

पहली बार त्रिपुरा की महिला मंत्री को मिली कैबिनेट में जगह

पश्चिम त्रिपुरा सीट से 2019 का लोकसभा चुनाव जीतनेवाली प्रतिमा भौमिक मोदी मंत्रिमंडल में शामिल हो गयी हैं। वह केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल होनेवाली त्रिपुरा की पहली स्थायी निवासी हैं। अटल बिहारी वाजपेयी की कैबिनेट में असम की विजया चक्रवर्ती को मंत्रिमंडल में शामिल किया गया था। प्रतिमा भौमिक पूर्वोत्तर भारत की दूसरी ऐसी महिला हैं, जिन्हें केंद्रीय मंत्रिमंडल में जगह मिली है। उन्होंने विज्ञान में स्नातक किया है। किसान परिवार से आनेवाली प्रतिमा भौमिक के पिता एक स्कूल शिक्षक थे।

हिन्दुतान 18 न्यूज़ रूम

एडिटर: हिन्दुतान 18 न्यूज़ रूम

यह हिन्दुतान-18.कॉम का न्यूज़ डेस्क है। बेहतरीन खबरें, सूचनाएं, सटीक जानकारियां उपलब्ध करवाने के लिए हमारे कर्मचारियों/ रिपोर्ट्स/ डेवेलोपर्स/ रिसचर्स/ कंटेंट क्रिएटर्स द्वारा अथक परिश्रम किया जाता है।

Next Post

दिलीप कुमार का जीवन परिचय

Thu Jul 8 , 2021
पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें.. दिलीप कुमार का जीवन परिचय दिलीप कुमार उर्फ़ मोहम्मद युसुफ़ ख़ान भारतीय हिन्दी सिनेमा के प्रसिद्ध अभिनेताओं में से एक है है। दिलीप कुमार को अपने दौर का […]
error: Content is protected !!