महाराष्ट्र की ‘मदर टेरेसा’ के रूप मे प्रख्यात सिंधुताई सपकाल का निधन,राष्ट्रपति और पीएम मोदी सहित अन्य ने जताया दुख

महाराष्ट्र की ‘मदर टेरेसा’ के रूप मे प्रख्यात सिंधुताई सपकाल का निधन, राष्ट्रपति और पीएम मोदी सहित अन्य ने जताया दुख

महाराष्ट्र की मदर टेरेसा के रूप मे प्रख्यात सामाजिक कार्यकर्ता और पद्मश्री अवार्ड से सम्मानित की जा चुकीं सिंधुताई सपकाल (Sindhutai Sapkal) का मंगलवार को 73 वर्ष की आयु में निधन हो गया। लंबे समय से बीमार चल रहीं सिंधुताई का निधन दिल का दौरा पड़ने की वजह से हुआ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सिंधुताई के निधन पर दुख प्रकट किया और उनके परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की है।

कौन हैं सिंधु ताई ?

सिंधु ताई का महाराष्ट्र के वर्धा जिले के चरवाहे परिवार से संबंध है। सिंधु ताई का बचपन वर्धा में बीता। उनका बचपन बहुत सारे कष्टों के बीच बीता। जब सिंधु नौ साल की थीं तो उनकी शादी एक बड़े उम्र के व्यक्ति से कर दी गई थी। सिंधु ताई ने केवल चौथी क्लास तक पढ़ाई की थी, वह आगे भी पढ़ना चाहती थीं लेकिन शादी के बाद ससुराल वालों ने उनके इस सपने को पूरा नहीं होने दिया। सिंधु ताई को महाराष्ट्र की मदर टेरेसा कहा जाता है। उन्होंने अपनी पूरी जिंदगी अनाथ बच्चों की सेवा में गुजार दी। उन्होंने लगभग 1400 अनाथ बच्चों को गोद लिया है। करीब एक माह से वे पुणे के गैलेक्सी अस्पताल में भर्ती थीं। और वह तेजी से ठीक नहीं हो पा रही थीं । आज रात करीब आठ बजे दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हो गया। बच्चे उन्हें माई (Maai) कहते थे । उनकी एकमात्र पुत्री ममता है। बुधवार सुबह उनका अंतिम संस्कार पुणे के हदप्सर स्थित मंजरी (Manjari) में किया जाएगा। नवंबर 2021 में उन्हें पद्मश्री अवार्ड से सम्मानित किया गया था।

सिंधु ताई को मिला सम्मान-

उनके इस नेक काम के लिए सिंधु ताई को अब तक 700 से ज्यादा सम्मान मिला है। उन्हें अब तक मिले सम्मान से प्राप्त हुई रकम को सिंधु ताई ने अपने बच्चों के लालन पोषण में खर्च कर दिया । उन्हें डी वाई इंस्टिटूट ऑफ टेक्नोलॉजी एंड रिसर्च पुणे की तरफ से डाॅक्टरेट की उपाधि भी मिल चुकी है। उनके जीवन पर मराठी फिल्म मी सिंधुताई सपकल बनी है जो साल 2010 में रिलीज हुई थी । इस फिल्म को 54वें लंदन फिल्म फेस्टिवल में भी दिखाया जा चुका है।

राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार-

मुख्यमंत्री कार्यालय के अनुसार बुधवार को राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस ने ट्वीट कर कहा कि उनके निधन से महाराष्ट्र ने एक मां खो दी है। वह विपरीत परिस्थितियों का सामना करते हुए बड़ी हुईं और उन्होंने अपना जीवन उन लोगों को समर्पित कर दिया, जिन्हें समाज ने खारिज कर दिया था।

डॉ. सिंधुताई सपकाल के निधन के बाद राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ,पीएम मोदी सहित अन्य ने दुख जताते हुए कहा कि सिंधुताई का जीवन साहस, समर्पण और सेवा की प्रेरक गाथा था. वह अनाथों आदिवासियों और हाशिए के लोगों से प्यार करती थीं और उनकी सेवा करती थीं. उनके परिवार और अनुयायियों के प्रति मेरी संवेदनाएं।

READ ALSO-खेसारी लाल यादव का नया गाना‘दो घूंट’हुआ रिलीज ,नमृता संग भोजपुरी स्टार ने लगाए जबरदस्त ठुमके

IT Raids Agra: तीन शूज एक्सपोर्टर के घर और फैक्ट्री में इनकम टैक्स की छापेमार कार्यबाही , अखिलेश यादव के करीबी मित्र के घर भी पहुंची टीम

जन्मदिन विशेष निरुपा रॉय : 14 साल की उम्र में कर दी शादी, 300 फिल्मों में किया काम , कैसे फिल्मों में मां बनकर बनाई पहचान

 

अनुराग बघेल

एडिटर: अनुराग बघेल

मेरा नाम अनुराग बघेल है। मैं बिगत कई सालों से प्रिन्ट मीडिया और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया से जुड़ा हूँ। पत्रकारिकता मेरा पैशन रहा है। फिलहाल मैं हिन्दुस्तान 18 हिन्दी में रिपोर्टर ओर कंटेंट राइटर के रूप में कार्यरत हूं।

Next Post

जन्म दिन विशेष :भाजपा के प्रमुख नेता डॉ॰ मुरली मनोहर जोशी का है आज जन्म दिन, प्रधानमंत्री मोदी ने दी उनके जन्मदिन पर बधाई

Wed Jan 5 , 2022
जन्म दिन विशेष :भाजपा के प्रमुख नेता डॉ॰ मुरली मनोहर […]
error: Content is protected !!