सागर हत्याकांड : ‘मैं बार बार पिस्तौल हटा रहा था और सुशील कह रहा था मारूं गोली-मारूं गोली’

पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें..

दो बार के ओलिंपिक पदक विजेता सुशील कुमार को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने 24 मई को दिल्ली के मुंडका इलाके से गिरफ्तार किया था। सुशली और उनके सहयोगी अजय सहरावत 18 दिन तक फरार रहे थे।

हत्यारोपी पहलवान सुशील कुमार व चश्मदीद सोनू महल

नई दिल्ली – युवा पहलवान सागर धनखड़ हत्याकांड में आरोपी ओलंपियन सुशील कुमार की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही है। इस हत्याकांड के चश्मदीद सोनू महाल ने मीडिया के सामने आकर कई राज खोले हैं।

सोनू ने एक निजी समाचार चैनल से बातचीत में बताया कि सुशील ने 5 मई की रात उसे बेरहमी से पीटा। महाल के मुताबिक दो बार के ओलंपिक पदक विजेता सुशील और उनके कुछ साथियों ने सागर और उसे किडनैप कर छत्रसाल स्टेडियम लाए थे।

सोनू ने बताया कि छत्रसाल स्टेडियम के कोच रह चुके वीरेंद्र को सुशील ने मारपीट कर भगा दिया था। इसके बाद वीरेंद्र ने नागलोई में अपना अखाड़ा खोल लिया था। सागर छत्रसाल स्टेडियम से लगभग 60 पहलवानों को लेकर नागलोई जाता था जो सुशील को नागवार गुजरा।

चश्मदीद महाल के मुताबिक 4-5 मई की रात को सोनू और सागर सहित चार से पांच लोगों को बंधक बनाया गया था। इनमें से सुशील ने एक लड़के को उस समय छोड़ा जब उसकी पत्नी ने दो बार पुलिस को कॉल किया।

बकौल सोनू, ‘ सुशील 4 मई की सुबह से सागर को खोज रहा था। उसी दिन सुशील और नीरज बवाना ने दो लड़कों अमित और रविंद्र को आउटर दिल्ली से उठाया और उन्हें कार में बंधक बना लिया। इसके सुशील और बवाना ने अमित और रविंद्र की पिटाई करते हुए सागर के फ्लैट में ले गए।

इसके बाद सुशील ने सागर और सोनू को भी जबरन गाड़ी में बंधक बना लिया और छत्रसाल स्टेडियम में हॉकी और डंडो से उनकी पिटाई करने लगे। सागर और सोनू जब अधमरे से हो गए तब उन्हें छोड़ा जिसके बाद उन्हें हॉस्पिटल पहुंचाया गया। सोनू का हाथ टूटा हुआ है और उसमें रॉड लगे हुए हैं।

‘हमें बार बार गोली मारने की धमकी दे रहा था सुशील’

सागर के दोस्त सोनू ने कहा कि सुशील स्टेडियम में फायरिंग कर रहा था और हमें जान से मारने की धमकी दे रहा था। वह बार बार यही कह रहा था कि मारूं गोली। मैं बार बार पिस्तौल को अपने ऊपर से हटा रहा था।

पत्नी के फोन करने पर सुशील ने भगत को छोड़ा

सुशील ने सागर के एक साथी भगत सिंह को रातभर बंधक बनाकर उसकी पिटाई करता रहा। इसके बाद भगत सिंह की पत्नी ने पुलिस को फोन कर अपने पति के किडनैप होने की खबर दी। जिसके बाद सुशील ने वीडियो कॉल के जरिए भगत सिंह की पत्नी से बात करवाई और कहलवाया कि बोलों मैं ठीक हूं और मुझे किसी ने किडनैप नहीं किया है। हालांकि बाद में भगत को छोड़ा गया।

सुशील इस समय पुलिस कस्टडी में हैं। सुशील कुमार को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने 24 मई को दिल्ली से उनके सहयोगी अजय के साथ 18 दिनों तक फरार रहने के बाद गिरफ्तार किया था।

हिन्दुतान 18 न्यूज़ रूम

एडिटर: हिन्दुतान 18 न्यूज़ रूम

यह हिन्दुतान-18.कॉम का न्यूज़ डेस्क है। बेहतरीन खबरें, सूचनाएं, सटीक जानकारियां उपलब्ध करवाने के लिए हमारे कर्मचारियों/ रिपोर्ट्स/ डेवेलोपर्स/ रिसचर्स/ कंटेंट क्रिएटर्स द्वारा अथक परिश्रम किया जाता है।

Next Post

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व योगी आदित्यनाथ के बीच बैठक जारी, इन अहम मुद्दों पर चर्चा संभव

Fri Jun 11 , 2021
पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें.. नई दिल्ली- उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) से मिलने के लिए प्रधानमंत्री के आधिकारिक आवास 7 लोक कल्याण मार्ग पहुंचे […]
error: Content is protected !!