रघुनाथ जी हो जिसकी बिगड़ी बनाने वाले स्वामी राजेश्वरानंद जी का भजन

पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें..

“रघुनाथ जी हो जिसकी बिगड़ी बनाने वाले” स्वामी राजेश्वरानंद जी महाराज द्वारा लिखा हुआ गाया हुआ यह अद्भुत भजन..

रघुनाथ जी हो जिसकी बिगड़ी बनाने वाले,
क्या फ़िर बिगाड़ सकते, उसका ज़माने वाले।

कैसा भी वक़्त आये परवाह क्यों करेगा?
रखवाले बन के बैठे हनुमंत गदा वाले,
क्या फ़िर बिगाड़ सकते, उसका ज़माने वाले।

बल अपना कुछ नहीं है, अभिमान क्या करें हम?
रघुवर कृपा का बल है जो चाहे आजमाले,
क्या फ़िर बिगाड़ सकते, उसका ज़माने वाले।

निंदा हो चाहे स्तुति कुछ फ़र्क नहीं पड़ता,
अलमस्त हो गये जो पीकर के प्रेम प्याले,
क्या फ़िर बिगाड़ सकते, उसका ज़माने वाले।

“राजेश” पतन कर दे कलियुग की क्या है ताकत,
मैय्या ही जिसको अपनी गोदी में जब बिठाले,
क्या फ़िर बिगाड़ सकते, उसका ज़माने वाले

🙏परम पूज्य महाराज श्री राजेश्वरानंन्द जी🙏


स्वामी राजेश्वरानंद जी के भजनों का संग्रह

हिन्दुतान 18 न्यूज़ रूम

एडिटर: हिन्दुतान 18 न्यूज़ रूम

यह हिन्दुतान-18.कॉम का न्यूज़ डेस्क है। बेहतरीन खबरें, सूचनाएं, सटीक जानकारियां उपलब्ध करवाने के लिए हमारे कर्मचारियों/ रिपोर्ट्स/ डेवेलोपर्स/ रिसचर्स/ कंटेंट क्रिएटर्स द्वारा अथक परिश्रम किया जाता है।

Next Post

जो भी आया उसने जीवन व्यर्थ गंवाया दुनिया में, स्वामी राजेश्वरानंद जी का भजन लिरिक्स

Sun Jun 20 , 2021
पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें.. भजन- मन मतवाले सोच जरा क्या देख लुभाया दुनिया में, जो भी आया उसने जीवन व्यर्थ गंवाया दुनिया में…. योनि अनेको में भटका तब तरह तरह का कष्ट […]
swami rajeshwaranabd saraswati ji ke bhajan
error: Content is protected !!