मन सीतराम जप लो घड़ी घड़ी, है भव रोग मिटाने वाली राम नाम एक सफ़ल जड़ी, मन सीताराम… भक्ति ग्यान बैराग्य मिलेगा, बात बनेगी सब बिगड़ी, मन सीताराम… जीवन में आती हरियाली,जब राम नाम […]

सब जग को रही नचाये, हरिमाया जादूगरनी अति अदभुत खेल रचाय्, हरिमाया जादूगरनी। कोऊ याको पार ना पावे, यह सबको नाच नचावै दुख में सुख को दरसाये, हरिमाया जादूगरनी….. जाके बस में चराचर नाचै […]

परम पूज्य स्वामी राजेश्वरानंद सरस्वती जी का यह भजन परमात्मा और प्रकृति के अद्भुत संयोग का समागम है। मिट्टी काली पीली…..हरे वन…..आसमान का रंग नीला, सूर्य सुनहरा चन्द्रमा शीतल…..सबकुछ उसकी है लीला सबके भीतर […]

स्वामी राजेश्वरा नंद जी उर्फ राजेश रामायणी जी का भजन कनक भवन दरवाजे पड़े रहो भजन लिरिक्स (Kanak Bhawan Darwaje Pade Raho) प्रभु श्रीसीतारामजी काटो कठिन कलेश कनक भवन के द्वार पे परयो दीन […]

error: Content is protected !!