स्वामी राजेश्वरानंद जी का भजन – किस लिए आस छोड़ें कभी न कभी लिरिक्स किस लिए आस छोड़े, कभी ना कभी क्षण विरह के मिलन में बदल जाएंगे नाथ कब तक रहेंगे कड़े एक […]

error: Content is protected !!