गोण्डा- दर्दनाक ख़बर, एक ही परिवार के पांच बच्चों की डूबने से हो गई मौत

पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें..

गोण्डा – खबर गोंडा से है जहां पर एक बार फिर बहुत बड़ी घटना घटी है। घटना इतनी हृदय विदारक है कि सोचने मात्र से कलेजा कांप उठता है। तालाब में नहाने गए 5 बच्चों की डूबने से मौत हो गई है। पांचों शवों को रेस्क्यू कर निकाला गया है तथा एक की हालत बहुत गंभीर थी जिसे जिला अस्पताल भेजा गया है।

घटना खोडारे थाना क्षेत्र के रसूलपुर खान गांव की है जहां एक ही परिवार के 5 बच्चों की दर्दनाक मौत हो गई है। घटना की सूचना मिलते ही तत्काल राजस्व विभाग के कर्मी एवं पुलिस बल घटनास्थल पर पहुंचे। आज एक ही परिवार से चंचल, शिवाकांत, रागिनी, प्रकाशिनी व मुस्कान गांव के बगल स्थित तालाब से मिट्टी निकालने के लिए गए थे। इस दौरान एक बच्चा फिसल कर तालाब में चला गया। उसे बचाने के लिए बारी-बारी से सभी तालाब में कूदते गए जिससे एक के बाद एक डूबते रहे और सभी काल के गाल में समा गये।

हमारे संवाददाता के अनुसार पूरी घटना:

गुरुवार की सुबह करीब 10.30 बजे गांव निवासी दृग नरायन पांडेय के घर के चंचल, शिवाकांत, रागिनी, प्रकाशिनी व मुस्कान गांव के बगल स्थित तालाब से मिट्टी निकालने के लिए गए थे। इसी दौरान एक बच्चा फिसल कर तालाब में चला गया। उसे बचाने के लिए बारी-बारी से सभी तालाब में कूद गए। तालाब से थोड़ी दूर गांव के दो अन्य बच्चे खड़े थे। बच्चों को डूबता देख दोनों गांव की ओर भागे। परिवारजन को डूबने की सूचना दी। जब तक परिवारजन व ग्रामीण तालाब तक पहुंचते तब तक देर हो चुकी थी। तालाब में उतरकर पांचों बच्चों को बाहर निकाला गया। सभी का पेट दबाकर पानी निकालने का प्रयास किया गया लेकिन, सभी बच्चों की मौत हो चुकी थी। इनमें अरविंद कुमार का आठ वर्षीय बेटा आदित्य उर्फ चंचल, छह वर्षीय बेटा शिवाकांत, सुरेंद्र कुमार की आठ वर्षीया बेटी रागिनी, दस वर्षीया बेटी प्रकाशिनी व वीरेंद्र की 14 वर्षीय बेटी मुस्कान शामिल हैं। बच्चों को बचाने के प्रयास में अजय पांडेय भी डूब गया था लेकिन उसे निकाल लिया गया। उसका इलाज चल रहा है। ग्रामीणों की सूचना पर एसडीएम मनकापुर हीरालाल, क्षेत्राधिकारी संजय तलवार, एसओ खोड़ारे महेंद्र सिंह व एसओ छपिया राकेश सिंह टीम के साथ मौके पर पहुंचे थे।

स्थानीय विधायक प्रभात वर्मा (गौरा विधानसभा) शोकाकुल परिवार के दुख में पहुचकर ढांढस बंधाया व श्रद्धाजंलि व्यक्त की है।

घटना पर सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने दुःख प्रकट किया है अधिकारियों को फौरी मदद का आदेश दिया है।

वहीं किसान-मजदूर नेता जयप्रकाश दूबे उर्फ जेपी भैया ने भी इस घटना पर दुःख व्यक्त करते हुए कहा “गोण्डा के रसूलपुर खान गांव के एक ही परिवार के 5 बच्चों को काल ने निगल लिया। मासूम बच्चों की यह दशा देखकर मन कष्ट व वेदना से भर गया है। भगवान ने यह क्या किया? परिवारीजनों को इस अपार कष्ट को सहन करने की शक्ति मिले और आत्माओं को शांति मिले महादेवजी से विनती है।”

हिन्दुतान 18 न्यूज़ रूम

एडिटर: हिन्दुतान 18 न्यूज़ रूम

यह हिन्दुतान-18.कॉम का न्यूज़ डेस्क है। बेहतरीन खबरें, सूचनाएं, सटीक जानकारियां उपलब्ध करवाने के लिए हमारे कर्मचारियों/ रिपोर्ट्स/ डेवेलोपर्स/ रिसचर्स/ कंटेंट क्रिएटर्स द्वारा अथक परिश्रम किया जाता है।

Next Post

कौन थे दरभंगा नरेश, जिनकी वजह से पूरा हो सका बनारस हिंदू विश्वविद्यालय का सपना

Fri Jun 4 , 2021
पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें.. मेड़तिया-गोडवाड़ जी की रिपोर्ट दरभंगा नरेश रामेश्वर सिंह के बिना बी.एच.यू. का सपना पूरा नहीं हो ​पाता, सत्य तो यही है वैसे विगत सौ वर्षों में ​काशी हिन्दू […]
बनारस हिंदू विश्वविद्यालय का इतिहास जिसे सुनकर आप भी महसूस करेंगे कुछ अलग
error: Content is protected !!