महिलाओं के सीने पर चढ़कर मारता है यूपी पुलिस का यह दरोगा, विधायक भी इसका कुछ न उखाड़ सके

पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें..

कानपुर देहात: उत्तर प्रदेश पुलिस दिनों दिन भ्रष्टाचार व अपराध के मामलों में आगे बढ़ती जा रही है। प्रदेश में अब चोर उचक्के तथा गुंडे मवालियों की जरूरत नहीं रह गई है। प्रदेश में उत्तर प्रदेश पुलिस ही काफी है जो जनता को पीड़ा पहुंचा सकती है। उत्तर प्रदेश पुलिस न सिर्फ घूस ले रही है बल्कि फर्जी मुकदमे में फंसाने, दूसरे की जमीनों पर कब्जा करवाना इनके बाएं हाथ का खेल रह गया है। जज के भांति खुद फैसला सुनाना अब यूपी पुलिस का पेशा बन चुका है।

दुनिया के सबसे भ्रष्ट पुलिस उत्तर प्रदेश में हैं
उत्तर प्रदेश पुलिस का यह घटिया चेहरा आप लोगों के सामने बेनकाब हो चुका है

ताजा मामला उत्तर प्रदेश के कानपुर देहात से आया है। कानपुर देहात मे दिल दहलाने वाली घटना सामने आ रही है। जहां खाकी ने महिलाओं की मर्यादा तार तार कर दी है। अभी लखीमपुर की घटना को चन्द रोज भी नही हुए कि योगी की पुलिस ने फिर अपना आपा खो दिया है।

मामला कानपुर देहात के भोगनीपुर थाने के गांव दुर्गदास पुर का है जहां सम्बन्धित चौकी इंचार्ज उनि. महेन्द पटेल व चार सिपाहियों ने एक परिवार पर कहर ढहा दिया। बिना महिला का. के पीड़िता के घर दविस देने पहुचे चौकी इंचार्ज ने पूरे परिवार की महिलाओं को पीटा व बदसलूकी की। पीड़ितों के अनुसार चौकी इंचार्ज नेे शिवम की मां श्यामा देवी पत्नी इंदजीत को गिरा गिरा कर मारा व उसके के सीने पर चढ़ गये। फिर अपनी सास को बचाने आयी बहू आरती को भी चौकी इंचार्ज ने नही छोड़ा और उसको भी गिरा कर सीने पर चढ गये। शिवम को भी गिरा गिरा कर पूरे गांव के सामने मारते हुये दारोगा जी थाने ले गये जबकि पीड़ित पक्ष के विरूद्ध कोई एनसीआर तक नहीं है।

सम्बन्धित मामले को लेकर पीडित परिवार बिल्हौर से विधायक श्री भगवती प्रसाद सागर से मुलाकात की है। परिवार के साथ कोई अप्रिय घटना होने का अंदेशा बताया जिस पर तुरन्त संज्ञान लेते हुए मा. विधायक जी ने आई जी कानपुर जोन को सम्बन्धित घटना से अवगत कराया। लेकिन योगी आदित्यनाथ के वर्दीधारी गुंडों पर कोई कार्यवाई नहीं हुई है। आई जी साहब पर विधायक की बात कोई असर नहीं हुआ। चौकी इंचार्ज के इस अमानवीय कृत्य पर पूरा पुलिस मोहकमा मौन है। योगी सरकार के दावों की पोल खोलने के लिए यह घटना काफी है।

वहीं चौकी इंचार्ज का कहना है कि हमला उन लोगों के द्वारा किया गया था जिसके बचाव में हम लोगों को ऐक्शन लेना पड़ा। लेकिन शायद चौकी इंचार्ज भूल गए बिना महिला पुलिस के किसी के घर में घुसना गैर कानूनी है।

हिन्दुतान 18 न्यूज़ रूम

एडिटर: हिन्दुतान 18 न्यूज़ रूम

यह हिन्दुतान-18.कॉम का न्यूज़ डेस्क है। बेहतरीन खबरें, सूचनाएं, सटीक जानकारियां उपलब्ध करवाने के लिए हमारे कर्मचारियों/ रिपोर्ट्स/ डेवेलोपर्स/ रिसचर्स/ कंटेंट क्रिएटर्स द्वारा अथक परिश्रम किया जाता है।

Next Post

दो चर्चित हत्याओं का पर्दाफास करने में नाकाम रही पुलिस

Sun Jul 18 , 2021
पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें.. जौनपुर: हत्या जैसी संगीन वारदातों का भी राजफाश न कर पाने से पुलिस महकमे की कार्यशैली पर सवाल उठने लगे हैं। ओझा की हत्या के करीब दस महीने […]
error: Content is protected !!