भारत के टॉप 10 मशहूर हिल स्टेशन, जहाँ सर्दियों में फैली रहती है चारों तरफ सफेद बर्फ की चादर

भारत के टॉप 10 मशहूर हिल स्टेशन, जहाँ सर्दियों में फैली रहती है चारों तरफ सफेद बर्फ की चादर

सर्दी का मौसम स्टार्ट होने के साथ ही ज्यादातर लोग पहाड़ों की तरफ जाना शुरू कर देते हैं, क्योंकि वहाँ उन्हें चारों तरफ सफेद बर्फ की चादर फैली हुई दिखाई देती है । यह नजारा बहुत ही शानदार और मजेदार होता है, जिसकी वजह से सर्दियों में पर्यटक पहाड़ों में घूमने के लिए जाते हैं .ऐसे में अगर आप भी इन सर्दियों की छुट्टियों में पहाड़ों पर बर्फ देखने का प्लान बना रहे हैं, तो इस आर्टिकल को ध्यान से पढ़े। क्योंकि आज हम आप को भारत के 10 सबसे खूबसूरत हिल स्टेशन के बारे में बताने जा रहे हैं, जहाँ बिताई छुट्टियाँ आप जीवन भर नहीं भूलेंगे ।

औली

औली उत्तराखंड के सबसे मशहूर और खूबसूरत पर्यटन स्थलों में से एक है, जहाँ पहाड़ों की ऊंचाई पर बने होटल और रिसोर्ट में ठहरने का अलग ही मजा है। औली दिल्ली से लगभग 520 किलोमीटर दूर है। औली को स्कीइंग राजधानी के रूप में भी जाना जाता है, क्योंकि यहाँ सर्दियों के मौसम में बहुत ज्यादा बर्फबारी होती है। यह जगह चारों तरफ से ऊंचे-ऊंचे पहाड़ों, शंकुधारी और ओक के जंगलों से घिरा हुआ है, जिसकी वजह से यहाँ छुट्टियाँ बिताना विदेश जाने जैसा अनुभव देता है। औली अपने प्राकृतिक व्यू और प्रदूषण मुक्त वातावरण की वजह से पर्यटकों को काफी पसंद आता है।

रानीखेत

रानीखेत उत्तराखंड के मशूहर हिल स्टेशन में से एक है जहाँ पूरे साल सैलानियों का आना जाना लगा रहता है। अल्मोड़ा जिले के अंतर्गत आने वाला रानीखेत सर्दियों के मौसम में सफेद बर्फ से ढक जाता है, जिसकी वजह से पर्यटकों को यहाँ खूबसूरत माउंटेन स्नो व्यू देखने का मौका मिलता है।रानीखेत में स्नो गेम्स के साथ-साथ पैराग्लाइडिंग भी काफी ज्यादा मशहूर है, जिसकी वजह से एडवेंचर के शौकीन लोग यहाँ आना पसंद करते हैं। दिल्ली से रानीखेती की दूरी 364 किलोमीटर है, जिसकी वजह से यहाँ कार ड्राइव करके भी पहुँचा जा सकता है।

मसूरी

मसूरी को पहाड़ों की रानी भी कहा जाता है जो उत्तराखंड में मौजूद एक खूबसूरत हिल स्टेशन है। दिल्ली से मसूरी की दूरी 314 किलोमीटर है, जहाँ दिसम्बर और जनवरी के महीने में पर्यटकों की भीड़ इकट्ठा होती है। मसूरी में ज्यादातर लोग न्यू ईयर सेलिब्रेट करने आते हैं, क्योंकि इस दौरान यह मीलों तक बर्फ की सफेद चादर बिछी होती है। मसूरी में लग्जरी होटल से लेकर खूबसूरत हिल व्यू तक सब कुछ मौजूद है, इसके अलावा यहाँ आने वाले सैलानी आइस स्पोर्ट्स का भी जमकर आनंद उठाते हैं। आप चाहे तो मसूरी में ट्रेकिंग भी कर सकते हैं, क्योंकि यह जगह ट्रेकिंग के लिए काफी मशहूर है।

शिमला

अगर आप दिल्ली में रहते हैं, तो यहाँ से आपको शिमला काफी पास पड़ेगा। दिल्ली से शिमला की दूरी 342 किलोमीटर है, जिसकी वजह से आप यहाँ अपनी गाड़ी लेकर भी जा सकते हैं और पूरे सफर में 7 से 8 घंटे का समय लगता है । सर्दियों के मौसम में शिमला की सड़के, पहाड़ और घर सब कुछ बर्फ की सफेद चादर से ढका होता है, जिसे देखकर हर किसी का मन खुश हो जाता है। यहाँ आप लग्जरी रेस्टोरेंट्स में स्वादिष्ट खाने का लुफ्त उठा सकते हैं, जबकि आइस स्केटिंग समेत बर्फ वाले अन्य गेम्स खेल सकते हैं।

मनाली

हिमाचल प्रदेश की वादियों में बसा मनाली एक बहुत ही खूबसूरत शहर है, जो साल भर पर्यटकों को अपनी तरफ आकर्षित करता है। हालांकि सर्दियों के मौसम में मनाली जाने वाले पर्यटकों की संख्या काफी ज्यादा बढ़ जाती है, क्योंकि इस दौरान वहाँ बहुत ज्यादा बर्फबारी होती है । इसी बर्फबारी का लुफ्त उठाने के लिए पर्यटक मनाली जाते हैं, जहाँ उन्हें स्कीइंग से लेकर हेली स्कीइंग और स्नो बोर्डिंग जैसे स्पोर्ट्स खेलने का मौका मिलता है। मनाली से 51 किलोमीटर की दूरी पर रोहतांग दर्रा मौजूद है, जो एक फेमस टूरिस्ट स्पॉट है।

मैक्लोडगंज

हिमाचल प्रदेश में मौजूद मैक्लोडगंज उन लोगों के लिए किसी जन्नत से कम नहीं है, जो ऊंचाई पर जाने के शौकीन है। यह जगह बैग पैकर्स टूरिस्ट के बीच काफी ज्यादा फेमस है, क्योंकि यहाँ ट्रेकिंग के जरिए ऊंचे पहाड़ों की चोटी पर पहुँचा जाता है। मेक्लोडगंज पर कुछ टूरिस्ट स्पॉट्स ऐसे हैं, जहाँ से बादल भी नीचे दिखाई देते हैं। वहीं सर्दियों के मौसम में पहाड़ों पर जमी बर्फ पर्यटकों को दीवाना बना देती है, हालांकि इस जगह पर बारिश कभी भी हो जाती है। इसलिए अगर आप मेक्लोडगंज घूमने का प्लान कर रहे हैं, तो अपने साथ एक छाता या रेनकोट जरूर रख लें।

नैनीताल

उत्तराखंड की गोद में बसा नैनीताल शहर अपने खूबसूरत नजारों और नैनी झील के लिए काफी प्रसिद्ध है। यही वजह है कि यह शहर लंबे समय से पर्यटकों का फेवरेट टूरिस्ट प्लेस बना हुआ है। यहाँ घूमने के साथ-साथ स्वादिष्ट भोजन और पहाड़ी ऊनी कपड़ों की शॉपिंग भी कर सकते हैं। नैनीताल में सर्दियों के मौसम में पहाड़ों पर बिखरी हुई सफेद बर्फ का खूबसूरत नजारा देखने को मिलता है, जबकि नैनी झील में नाव चलाने का अपना एक अलग आनंद है। नैनीताल में ज्यादातर लोग स्नो व्यू पॉइंट पर फोटो खिंचवाना औक रोपवे की सवारी करना पसंद करते हैं।

डलहौजी 

डलहौजी एक ऐसा पर्यटन स्थल है, जहाँ पर आप एक साथ 5 अलग-अलग हिल स्टेशन घूमने का लुफ्त उठा सकते हैं। डलहौजी से जोत और खज्जर जैसी जगहें काफी पास है, जिसे भारत का मिनी स्विटजरलैंड भी कहा जाता है। सर्दियों के मौसम में डलहौजी समेत जोत और खज्जर में पर्यटकों का तांता लगा रहता है, जहाँ मीलों तक फैली बर्फ की मोटी चादर पर्यटकों के ट्रिप में चार चांद लगा देती है। ऐसे में अगर आप पहाड़ों में घूमने का प्लान कर रहे हैं, तो डलहौजी एक अच्छा विकल्प साबित हो सकता है।

नारकंडा 

नारकंडा हिमाचल प्रदेश की पहाड़ियों पर बसा एक छोटा-सा गाँव है, जो अपनी खूबसूरती की वजह से पर्यटकों के बीच काफी मशहूर हो चुका है। शिमला से नारकंडा की दूरी महज 60 किलोमीटर है, जहाँ आपको बर्फ से ढके पहाड़ों का खूबसूरत नजारा देखने को मिलेगा। आप चाहे तो शिमला के साथ-साथ नारकंडा का ट्रिप भी प्लान कर सकते हैं। नारकंडा जाने का सबसे बेहतरीन समय दिसम्बर, जनवरी और फरवरी का महीना होता है, क्योंकि इस वक्त यहाँ चारों तरफ बर्फ ही बर्फ दिखाई देती है। पर्यटक नारकंडा में स्कीइंग का लुफ्त उठाते हैं, जबकि यहाँ हाटू पीक की यात्रा भी काफी ज्यादा फेमस है।

चोपता

चोपता उत्तराखंड में बसा एक छोटा-सा पहाड़ी गाँव है, जो केदारनाथ वाइल्ड लाइफ सेचुरी के अंतर्गत आता है । नई दिल्ली से चोपता की दूरी 408 किलोमीटर है, जहाँ तक पहुँचने के लिए पब्लिक ट्रांसपोर्ट या अपनी गाड़ी का इस्तेमाल किया जा सकता है। सर्दी के मौसम में चोपता में जबरदस्त बर्फबारी होती है, जिसकी वजह से यहाँ के खूबसूरत नजारे देखने के लिए पर्यटकों की भीड़ इकट्ठा हो जाती है । दूर-दूर तक बर्फ से ढके पहाड़ पर्यटकों को खूबसूरत माउंटेन व्यू देते हैं, जबकि यहाँ आइस गेम्स भी काफी ज्यादा मशहूर हैं ।

READ ALSO-छोटे शहरों से निकले ये 5 खिलाड़ी जिन्होंने 2021 में बनाई अपनी विशेष पहचान

Lohri 2022 : आज मनाया जाएगा पंजाबियों का बड़ा त्‍यौहार, जानें लोहड़ी का शुभ मुहूर्त एवं पूजा विधि

इन 10 सेलिब्रिटीज ने साल 2021 में रचाई शादी, लिस्ट में बड़ी-बड़ी हस्तियां हैं शामिल

अनुराग बघेल

एडिटर: अनुराग बघेल

मेरा नाम अनुराग बघेल है। मैं बिगत कई सालों से प्रिन्ट मीडिया और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया से जुड़ा हूँ। पत्रकारिकता मेरा पैशन रहा है। फिलहाल मैं हिन्दुस्तान 18 हिन्दी में रिपोर्टर ओर कंटेंट राइटर के रूप में कार्यरत हूं।

Next Post

बजरंगी भाईजान' में मुन्नी का किरदार निभाने वाली हर्षाली मल्होत्रा को 'भारत रत्न डॉक्टर अंबेडकर अवॉर्ड' से किया सम्मानित

Thu Jan 13 , 2022
बजरंगी भाईजान’ में मुन्नी का किरदार निभाने वाली हर्षाली मल्होत्रा […]
error: Content is protected !!