क्या आप भी हैं अपने बालों में होते डैंड्रफ से परेशान, आयुर्वेद में मिल गया हैं इसका अचूक उपाय

पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें..

हमारे शरीर में तरह तरह की तकलीफे होती रहती हैं। उसमे से एक समस्या बालो में डेंड्रफ होना भी हैं। जिसके वजह से हमें बालो से रिलेटेड बहुत सारी समस्या होती हैं। बालों में डेंड्रफ होने के वजह से हम तरह तरह के शम्पू , दवा इत्यादि काम करते हैं। लेकिन फिर भी हमें इससे निजात नहीं मिलता हैं। परन्तु इसका सबसे आसान और जड़ से खत्म करने का उपाय आयुर्वेद में बताया गया हैं। यह समस्या जितनी छोटी दिखती है, उतनी छोटी है नहीं। क्योंकि अगर समय रहते इसे दूर ना किया जाए तो यह आपको कंधों और पीठ पर ऐक्ने या कान में खुजली की समस्या दे सकती है। आप इस प्रॉब्लम के लिए हजारों रुपए खर्च करते हैं फिर भी आपको इसका पर्मानेंट सलूशन नहीं मिलता। लेकिन आयुर्वेद में इसका सस्ता और आसान-सा उपचार उपलब्ध है। आज यहां हम आपके लिए यही आयुर्वेदिक विधि लेकर आए हैं।

बालों में डैंड्रफ होता क्यों हैं

सिर में तेल के रहने से सिर की त्वचा चिपचिपी हो जाती हैं। जिससे बालों में गंदगी जमा हो जाती है, और ये गंदगी ही डेंड्रफ को बुलावा देती है। इस गंदगी की वजह से बाल भी टूटने लगते हैं। इतना ही नहीं सही खानपान न होने के कारण भी बाल ऑयली हो जाते हैं।जिसके कारण सिर में रूसी की समस्या हो जाती है।

ये ग़लतफ़हमी में लोग रहते हैं

कहा जाता है, कि ड्रैंड्रफ का कोई इलाज नहीं है। लेकिन आयुर्वेद में ऐसी एक या दो नहीं बल्कि कई चीज़ें हैं, जिनकी मदद से इस परेशानी से पूरी तरह छुटकारा पाया जा सकता है। ऐसा ही एक हेयर मास्क बनाने के लिए आपको इन चीजों की आवश्यकता होगी।

इस आयुर्वेदिक विधि से करें डैंड्रफ का सफाया, ना खुजली होगी ना बाल झड़ेंगे

2 चम्मच दही
1 चम्मच नारियल का तेल
नीम की पत्तियां
आधा नींबू
1 चम्मच सुहागे की खील (टंकन भस्म)
सुहागे की खील या टंकन भस्म या किसी भी तरह की भस्म आपको आयुर्वेदिक मेडिकल स्टोर पर आराम से मिल जाएगी।

इन वजह से भी होती हैं, बालों में डेंड्रफ की समस्या

  1. स्कैल्प पर जमी गंदगी
  2. स्कैल्प का ड्राय रहना
  3. कोई दूसरा फंगल इंफेक्शन
  4. बालों में तेल ना लगाना
  5. समय पर शैंपू ना करना
  6. पोषण की कमी
  7. बालों की कंडीशनिंग ना करना
  8. दही-मेहंदी जैसे हेयर मास्क ना लगाना
  9. डैंड्रफ की वजह से सिर में तेज खुजली होती है और कई बार ये कंधों के साथ शरीर के दूसरे हिस्सों पर भी सफेद परत की तरह दिखने लगता है, जो कई बार शर्मिंदगी की वजह बन जाती है।

डैंड्रफ हटेगा लंबाई बढ़ेगी

दही बालों के लिए बहुत ही अच्छा कंडीशनर होता है। दही में मौजूद फैटी एसिड्स स्कैल्प की ड्रायनेस दूर करते हैं, जिससे डेंड्रफ को खत्म करने में मदद मिलती है। बेहतर रहेगा कि आप घर पर बना दही लगाए। दही खट्टा नहीं है तो इसमं कुछ नींबू के रस की बूंदें मिला लें। नींबू में मौजूद विटामिन-सी स्कैल्प के पीएच को बैलेंस करता है। साथ ही नींबू खुजली पैदा करने वाले बैक्टीरिया को भी खत्म करने का काम करता है। नींबू के बाद इस दही में नारियल का तेल डालें। नारियल के तेल में ऐंटी-फंगल गुण होते हैं, जिसकी वजह से ये डैंड्रफ के लिए रामबाण माना जाता है। अब इस दही के अंदर नीम के कुछ पत्ते पीसकर मिला लें। आप चाहें तो नीम का तेल भी डाल सकती हैं। नीम का तेल भी आपको आयुर्वेदिक मेडिकल स्टोर पर आराम से मिल जाएगा। इसे डालना न भूले। अब इसमें आपको डालनी है 1 चम्मच टंकण भस्म। ये ड्रैंड्रफ के लिए स्पेशल आयुर्वेदिक मेडिसिन का काम करती है। इसे सुहागा यानी बोरेक्स से बनाया जाता है। इन सभी इंग्रीडिऐंट्स को अच्छी तरह मिलाकर हेयर मास्क तैयार करें। और अचे मिक्स करने के बाद बालों में मसाज करते हुए लगाए। इस हेयर मास्क को मसाज करते हुए बालों की जड़ों में लगाना है। स्कैल्प से बालों की टिप्स तक इस पेस्ट को अच्छी तरह लगाए और फिर 30 मिनट के लिए इसे सिर में लगा रहने दें। मसाज करते हुए इस मास्क को लगाने से इसका अर्क बालों की जड़ों में और सिर की त्वचा में जल्दी समा जाएगा। इससे ना केवल डैंड्रफ की समस्या दूर होगी बल्कि बालों की लंबाई भी बढ़ेगी। इस आयुर्वेदिक रेमेडी से आप पहली बार में ही फर्क अनुभव करेंगी। अगर आपकी डैंड्रफ की समस्या काफी पुरानी है। तो इस हेयर मास्क को हफ्ते में 2 लगाए और कम से कम 2 महीने के लिए लगाए। इसके बाद आप भूल जाएंगी कि डैंड्रफ क्या होता है!

हेयर केयर के क्विक टिप्स

शैंपू करने के बाद बालों को तौलिया से रगड़कर ना पोछें। बल्कि शैंपू के बाद 3 से 4 मिनट के लिए सिर पर तौलिया लपेटें फिर हल्के हाथों से बालों को पोंछते हुए तौलिया हटा दें।

बाल धोने के बाद उन्हें अच्छी तरह खुली हवा में सूखनें दें। गीले बालों में लेटें नहीं न ही सिर को गंदे तकिए पर रखें। गीले बालों में लेटने से बालों की जड़ें कमजोर होती हैं और आपको सिर दर्द की समस्या भी हो सकती है।

तकिया अगर साफ ना हो और आप गीले बालों में इस पर सिर रखकर लेट जाएंगी तो बालों में इंफेक्शन की समस्या हो सकती है।

इसलिए हर हफ्ते अपने तकिए का कवर और बेड की चादर जरूर बदलें। यदि संभव हो तो हर 3 से 4 दिन में इन्हें बदलने का काम करें। ताकि बेड की हाइजीन मेंटेन रहे। क्युकी इसका प्रभाव हमारे बालों पर बहुत ही पड़ता हैं। इसलिए इन सब बातो का ध्यान रखे।

तो हम आप के लिए लेके आये हैं आप के बालों की समस्या का समाधान जिसका इस्तेमाल कर के आप समस्याओ से बहार निकल सकते हैं।

ALSO VISIT :

जानिए शरीर में गुड कोलेस्ट्रॉल बनाने के अचूक उपाय

कोरोना वैक्सीन लगवा कर लौट रही महिला की रास्ते में ही मौत

क्या आप भी हैं, परेशान स्किन एलर्जी की समस्या से, तो अपनाये ये घरेलु उपचार और पाये हमेंशा के लिए छुटकारा

दीप माला गुप्ता

एडिटर: दीप माला गुप्ता

दीप माला गुप्ता रिपोर्टर, एंकर एवं वीडियो न्यूज़ एडिटर हैं। इन्होने जर्नलिजम में डिप्लोमा किया है। आप hindustan18.com के लिए रिपोर्टिंग एवं स्क्रिप्ट लिखने का कार्य करती हैं।

Next Post

हद से ज्‍यादा पानी पीना क्या शरीर के लिए हैं ? फ़ायदेकारक

Tue Jul 6 , 2021
पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें.. आपने अक्सर यह सलाह सुनी होगी की जितना हो सके उतना पानी पियो। लेकिन क्या आप जानते हैं कि अधिक पानी पीने से ओवरहाइड्रेशन हो जाता है। जिसके […]
error: Content is protected !!