जानें, क्यों की थी हसनैन ने परिवार के 14 लोगों की हत्या?

ठाणे। अपने ही परिवार के 14 सदस्यों की नृशंस हत्या के आरोपी हसनैन वारेकर पर 67 लाख रुपये का कर्ज था, जो उसने अपने संबंधियों से लिया था। इस हत्याकांड के जांचकर्ताओं ने आज यह जानकारी दी।

ठाणे पुलिस के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के अनुसार, हसनैन ने अलग अलग मौकों पर कारोबार करने के बहाने अपने करीबी रिश्तेदारों से करीब 67 लाख रूपये का कर्ज लिया था। उन्होंने बताया कि हसनैन शेयर के कारोबार से भी जुड़ा था और पुलिस यह पता लगा रही है कि क्या उसे शेयर कारोबार में गहरा नुकसान हुआ था। ठाणे में अपने ही परिवार के 14 सदस्यों की नृशंस हत्या के आरोपी हसनैन वारेकर पर 67 लाख रुपये का कर्ज था, जो उसने अपने संबंधियों से लिया था।

पुलिस उस फर्मासिस्ट का पता लगाने के लिए प्रयासरत है जहां से ये दवाएं ली गईं। इन दवाओं को बतौर नुस्खा लिखने वाले डॉक्टर की तलाश भी जारी है। यह भी पता लगाया जा रहा है कि कहीं हसनैन ‘स्प्लिट पर्सनैलिटी’ की समस्या से ग्रस्त तो नहीं था जिसके चलते उसने अपने परिवार को मौत के घाट उतारा।

इससे पहले, जांच दल के सदस्य एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि वह अब तक के सभी संकेतों को मिला कर मानसिक स्वास्थ्य विशेषज्ञों एवं अपराध विशेषज्ञों की राय लेने और यह पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि हसनैन ने ऐसा कदम क्यों उठाया। पिछले कुछ दिनों में पुलिस के दल ने हसनैन के रिश्तेदारों, मित्रों और परदेसी बाबा दरगाह की देखरेख करने वालों के बयान दर्ज किए हैं जहां हसनैन अक्सर जाता था।

पुलिस यह भी पता लगा रही है कि क्या हसनैन किसी तांत्रिक के चक्कर में था या काले जादू से प्रेरित था। जिन लोगों की हत्या की गई, उनमें हसनैन के अभिभावक, पत्नी, बहनें और बच्चे शामिल थे। हसनैन का परिवार ठाणे के बाहरी इलाके में कासरवाड़ावली में रहता था। 28 फरवरी की रात घर पर उसने सबको नशीला पदार्थ खिला दिया और छुरे से उनके गले काट डाले। बाद में उसने फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली। इस हत्याकांड में हसैनन की 22 वर्षीय बहन सुबिया को छोड़ कर परिवार के शेष सभी सदस्यों की मौत हो गई।

पुलिस के अनुसार, कॉमर्स में स्नातक हसनैन नवी मुंबई स्थित एक सीए फर्म में आयकर संबंधी दस्तावेज तैयार करता था और उसके पास कोई स्थायी नौकरी नहीं थी।

Hindi Desk
Author: Hindi Desk

Posted Under Uncategorized