क्यों मनाते हैं विश्व पर्यावरण दिवस? हम सुधरे नहीं तो धरती पर खत्म हो जाएगी मानव जाति- जयप्रकाश दूबे जेपीभैया

पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें..

श्री जयप्रकाश दूबे  उर्फ जेपीभैया
संस्थापक एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष, किसान मजदूर सेना
सामाजिक चिंतक एवं वरिष्ठ समाज सेवी

आज विश्व पर्यावरण दिवस है। पूरी दुनिया में आज पर्यावरण को बचाने के लिए, ग्लोबल वार्मिंग को कम करने के लिए पर्यावरण दिवस मनाया जा रहा है। लेकिन चिंता की बात यह है कि जब से हम पर्यावरण दिवस मनाना शुरू किया है तब से सिर्फ 1 दिन ही पर्यावरण के विषय में सोचते हैं 5 जून को। उसके बाद तो हम साल के 364 दिन इस पृथ्वी को मिटाने के लिए लगे हुए हैं। आजकल की भाग दौड़ में भाग रहे प्रत्येक देश के बीच धरती पर हर दिन प्रदूषण काफी तेजी से बढ़ता जा रहा है। लोग स्वयं भी इस दौड़ में मशीन बन चुके हैं। इस जीवनशैली के दुष्परिणाम समय-समय पर हमें देखने को मिलते हैं। पर्यावरण में अचानक प्रदूषण का स्तर बढ़ने से तापमान में भी तेजी देखी जा रही है तो कहीं कहीं पर प्रदूषण के बढ़े हुए स्तर के कारण लंबे समय से बारिश भी नहीं हो पाती। ऐसे में लोगों को पर्यावरण के प्रति जागरुक करने के लिए हर साल विश्व पर्यावरण दिवस मनाया जाता है लेकिन हम जागने वालों में से नहीं हैं।

दुनियाभर में 5 जून के दिन हर साल विश्व पर्यावरण दिवस मनाया जाता है। इस दिन कई कार्यक्रम का आयोजन कर लोगों को पर्यावरण और प्रदूषण से हो रहे नुकसान के प्रति जागरुक किया जाता है। प्रदूषण का बढ़ता स्तर पर्यावरण के साथ ही इंसानों के लिए खतरा बनता जा रहा है। इसके कारण कई जीव-जन्तू विलुप्त हो रहे हैं। वहीं इंसान कई प्रकार की गंभीर बिमारियों का शिकार भी हो रहे हैं।

विश्व पर्यावरण दिवस का इतिहास

विश्व पर्यावरण दिवस की शुरुआत साल 1972 में संयुक्त राष्ट्र संघ की और से की गई थी। पर्यावरण दिवस की शुरुआत स्वीडन की राजधानी स्टॉकहोम से हुई थी। इसी दिन यहां पर दुनिया का पहला पर्यावरण सम्मेलन का आयोजन किया गया था जिसमें भारत की ओर से तात्कालिन प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गांधी जी ने भाग लिया था।

इस सम्मेलन के दौरान ही संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (UNEP) की भी नींव पड़ी थी। जिसके चलते हर साल विश्व पर्यावरण दिवस आयोजन का संकल्प लिया गया। जिससे लोगों को हर साल पर्यावरण में हो रहे बदलाव से अवगत कराया जा सके और पर्यावरण में संतुलन बनाए रखने के लिए लोगों को समय-समय पर जागरुक किया जा सके।

विश्व पर्यावरण दिवस की थीम

विश्व पर्यावरण दिवस मनाए जाने से पहले हर साल के लिए एक थीम का चयन किया जाता है। विश्व पर्यावरण दिवस 2021 की थीम ‘पारिस्थितिकी तंत्र की बहाली (Ecosystem Restoration)’ है। जंगलों को नया जीवन देकर, पेड़-पौधे लगाकर, बारिश के पानी को संरक्षित करके और तालाबों के निर्माण करने से हम पारिस्थितिकी तंत्र को फिर से रिस्टोर कर सकते हैं।

एक और जहां पर्यावरण को बचाने की बात हो रही है वहीं दूसरी ओर मनुष्य अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए जंगलों की कटान बहुत तेजी से कर रहा है। जिसमें सरकारें व स्थानीय प्रशासन भी सम्मिलित होते हैं। चिंता की बात यह है कि आज देश के तमाम सारे नेताओं ने बुद्धिजीवियों ने पर्यावरण संरक्षण के नाम पर सोशल मीडिया पर तस्वीरें पोस्ट की होंगी। लेकिन ये ऐसे लोग हैं जो बिना एयर कंडीशन के नहीं रह सकते। जबकि एयर कंडीशन से क्लोरोफ्लोरोकार्बन नामक गैस निकलती है जिससे ओजोन लेयर पतली होती जा रही है। जो कि आने वाले समय में पूरे मानव सभ्यता को नष्ट कर देगी।

सरकारी जंगल काटे जा रहे हैं, लकड़ी की अवैध तस्करी आये दिन खबरों में रहती है। पेड़ लगाने के नाम पर करोड़ों रुपए का फंड जिलेवार निकाल लिया जाता है। लेकिन वृक्षारोपण सिर्फ कागजों में और कैमरे की मेमोरी तक सिमट कर रह जाता है। असली पेड़ कहीं नहीं लगते। हम केवल सही होने का ढोंग कर रहे हैं, दिखावा कर रहे हैं। जिस दिन हम सच में सही हो गए उस दिन हमें किसी भी उत्सव को मनाने के लिए, किसी भी सद्कर्म को करने के लिए किसी एक दिन विशेष का चयन नहीं करना पड़ेगा। प्रत्येक दिन हमारे जीवन में विशेष होगा। मैं आवाहन करता हूं कि हम जीवन मे अधिक से अधिक पेड़ लगाएं। हम अपने धरती को बचाने के लिए पर्यावरण के नियमों का पालन नहीं करते हैं। लेकिन आज से हम इस विषय को लेकर गम्भीर हो जाएं तो बहुत सारी मुश्किलों से दुनिया को बचाया जा सकता है।

पर्यावरण दिवस पर मेरी ट्वीट

हिन्दुतान 18 न्यूज़ रूम

एडिटर: हिन्दुतान 18 न्यूज़ रूम

यह हिन्दुतान-18.कॉम का न्यूज़ डेस्क है। बेहतरीन खबरें, सूचनाएं, सटीक जानकारियां उपलब्ध करवाने के लिए हमारे कर्मचारियों/ रिपोर्ट्स/ डेवेलोपर्स/ रिसचर्स/ कंटेंट क्रिएटर्स द्वारा अथक परिश्रम किया जाता है।

Next Post

Tips for get natural beaty in hinid

Sat Jun 5 , 2021
पढ़ना नहीं चाहते? तो इसे सुनें.. चेहरा अगर साफ और चमकदार होता है तो आप खुश रहते हैं. चेहरे पर ग्‍लो पाने के लिए प्राकृतिक तरीकों को कई लोग आजमाते रहे हैं, ज्यादाततर लोग […]
health tips for natural heal
error: Content is protected !!